Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

IND vs WI:अजिंक्‍य रहाणे ने बल्‍लेबाजी को लेकर पृथ्‍वी शॉ को दी यह सलाह...

IND vs WI:अजिंक्‍य रहाणे ने बल्‍लेबाजी को लेकर पृथ्‍वी शॉ को दी यह सलाह...

रहाणे का मानना है कि इंडीज के खिलाफ सीरीज में पृथ्‍वी शॉ को आक्रामक अंदाज में ही बैटिंग करना चाहिए (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कहा, शॉ को आक्रामक अंदाज में ही बैटिंग करनी चाहिए
  • ठीक वैसे ही जैसे मुंबई की ओर से खेलते हुए करते हैं
  • पहले टेस्‍ट में करियर का आगाज कर सकते हैं पृथ्‍वी शॉ
राजकोट:

भारतीय टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने युवा ओपनर पृथ्‍वी शॉ को वेस्‍टइंडीज के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में बल्‍लेबाजी को लेकर अहम सलाह दी है. सीरीज के लिए शॉ को ओपनर के तौर पर चुना गया है और इस बात की पूरी संभावना है कि वे राजकोट में गुरुवार को होने वाले पहले टेस्‍ट में अपने टेस्‍ट करियर का आगाज करेंगे. रहाणे का मानना है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के जरिये टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण की दहलीज पर खड़े पृथ्वी शॉ को अपनी बल्लेबाजी की आक्रामक शैली को ही जारी रखना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि मैं चाहता हूं कि पृथ्‍वी शॉ को उसी तरह खेलना चाहिए जिस तरह कि वह मुंबई और भारत 'ए' के लिए खेलते रहे हैं.’

पाकिस्‍तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार यूनुस ने विराट कोहली की तारीफ में कही यह बड़ी बात...

उन्होंने कहा,‘मुझे शॉ के लिये खुशी है. मैंने उसे कैरियर की शुरुआत से देखा है. हम साथ में अभ्यास करते थे. वह आक्रामक सलामी बल्लेबाज है और भारत 'ए' के लिए अच्छा खेलने का उसे इनाम मिला है.’रहाणे ने हालांकि यह खुलासा नहीं किया कि पृथ्वी और मयंक अग्रवाल में से कौन राजकोट में चार अक्‍टूबर से शुरू हो रहे पहले टेस्ट में केएल राहुल के साथ पारी का आगाज करेगा. रहाणे ने कहा,‘मुझे नहीं पता कि टीम संयोजन क्या होगा लेकिन कोई दबाव नहीं है. हर किसी को खुलकर खेलने का मौका है. मैं उसे शुभकामना देता हूं और मुझे यकीन है कि वह अच्छा खेलेगा. मैं चाहता हूं कि वह उसी तरह खेले जैसे मुंबई और भारत 'ए' के लिये खेलता है.’

वीडियो: पुजारा बोले, धोनी और कोहली में यह बात है कॉमन

इंग्लैंड दौरे की नाकामी के बाद रहाणे ने विजय हजारे ट्रॉफी में बड़ौदा, कर्नाटक और रेलवे पर मुंबई को जीत दिलाई. उन्होंने कहा कि वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज से पहले उन्हें अच्छा मैच अभ्यास मिल गया है. उन्होंने कहा,‘इंग्लैंड से आने के बाद मेरा लक्ष्य मुंबई के लिये अच्छा प्रदर्शन करना था ताकि वेस्टइंडीज के खिलाफ श्रृंखला से पहले अच्छा अभ्यास मिल सके.’उन्होंने कहा,‘मेरा हमेशा से मानना रहा है कि घरेलू मैच हो या अंतरराष्ट्रीय या फिर अभ्यास मैच, सभी के अलग तरह के दबाव होते हैं और इससे मुझे तैयारी में मदद मिली. मेरा आत्मविश्वास बढ़ा है और मैं आगे भी लय कायम रखना चाहता हूं.’(इनपुट: एजेंसी)