NDTV Khabar

रंगना हेराथ ने रचा इतिहास, मुथैया मुरलीधरन और डेल स्टेन के अनूठे क्लब में हुए शामिल

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रंगना हेराथ ने रचा इतिहास, मुथैया मुरलीधरन और डेल स्टेन के अनूठे क्लब में हुए शामिल

रंगना हेराथ एंजेलो मैथ्यूज की जगह कार्यवाहक कप्तान बनाए गए हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. रंगना हेराथ ने जिम्बाब्वे के 89 रन देकर 5 विकेट चटकाए
  2. सभी टेस्ट टीमों के खिलाफ ले चुके हैं पारी में 5 या अधिक विकेट
  3. मुथैया मुरलीधरन ने 67 बार पारी में 5 या अधिक विकेट लिए हैं
नई दिल्ली:

जिम्बाब्वे के खिलाफ हरारे में जारी दो टेस्ट मैचों की सीरीज के अंतिम मैच में श्रीलंका ने बढ़त हासिल कर ली है. तीसरे दिन जिम्बाब्वे को जल्दी आउट करने के बावजूद श्रीलंका ने उसे फॉलाऑन नहीं खिलाया और बल्लेबाजी करने उतर गई. टीम के कार्यवाहक कप्तान रंगना हेराथ ने न केवल जिंबाब्वे के खिलाफ टेस्ट सीरीज में सबसे उम्रदराज एशियाई कप्तान बनने खास रिकॉर्ड अपने नाम किया, बल्कि गेंदबाजी में 5 विकेट झटकते हुए खुद को एक ऐसे क्लब में शामिल कर लिया, जिसमें उनसे पहले दो ही गेंदबाज थे. आइए जानते हैं कि हेराथ ने कौन-सा रिकॉर्ड अपने नाम किया...

कप्तान रंगना हेराथ ने 89 रन देकर जिम्बाब्वे के 5 विकेट चटकाए. हेराथ ने जिंबाब्वे के खिलाफ अपना बेस्ट किया और पहली बार उसके खिलाफ 5 विकेट लिए. इसके साथ ही हेराथ एक खास क्लब में शामिल हो गए. अब वह क्रिकेट इतिहास के ऐसे तीसरे गेंदबाज बन गए हैं, जिसने सभी विरोधी 9 टेस्ट देशों के खिलाफ कम-से-कम एक बार 5 या ज्यादा विकेट लिया है.
 

मुरलीधरन के नाम टेस्ट में 800 विकेट हैं और उन्होंने 67 बार पारी में 5 विकेट लिए थे (फोटो: AFP)

रंगना हेराथ के अलावा क्रिकेट इतिहास में केवल दो गेंदबाज ही यह कमाल कर पाए हैं. उनसे पहले श्रीलंका के ही महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन और दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने यह कारनामा किया था. गैरतलब है कि डेल स्टेल गंबीर रूप से चोटिल हो जाने के बाद हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज से बाहर हो गए हैं, जबकि मुरलीधरन क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं.
 
डेल स्टेन ने 26 बार पारी में 5 या अधिक विकेट लिए हैं (फाइल फोटो)
टिप्पणियां

अब बात हरारे टेस्ट की. इस मैच में श्रीलंका ने पहली पारी में 504 रन बनाए थे. इसके बाद श्रीलंका ने कप्तान रंगना हेराथ की अगुवाई में जिंबाब्वे को तीसरे दिन 272 पर ही समेट दिया. इस प्रकार श्रीलंका को पहली पारी में 232 रनों की बढ़त मिली.


श्रीलंका के पास जिम्बाब्वे को फॉलोऑन खिलाने का मौका था, लेकिन उसने बल्लेबाजी का फैसला किया. हालांकि जिम्बाब्वे तेज गेंदबाज कार्ल मुम्बा की शानदार गेंदबाजी की बदौलत उसके 84 रन पर ही 4 विकेट चटका दिए. मुम्बा ने 3 विकेट हासिल किए. श्रीलंका ने तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक दूसरी पारी में 4 विकेट पर 102 रन बनाए. उसके पास अब 334 रन की बढ़त हो गई है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement