NDTV Khabar

Ranji Trophy: श्रीलंका के ख‍िलाफ टी20 सीरीज के पहले Shikhar Dhawan ने द‍िखाया फॉर्म, जमाया शतक..

Shikhar Dhawan: हैदराबाद के ख‍िलाफ रणजी मैच के पहले द‍िन धवन ने नाबाद 137 रन की जबर्दस्‍त पारी खेली और उन आलोचकों को करारा जवाब द‍िया जो उनकी बैट‍िंग पर सवाल‍िया न‍िशान लगा रहे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Ranji Trophy: श्रीलंका के ख‍िलाफ टी20 सीरीज के पहले Shikhar Dhawan ने द‍िखाया फॉर्म, जमाया शतक..

Shikhar Dhawan ने हैदराबाद के ख‍िलाफ मैच में शतकीय पारी खेली

खास बातें

  1. हैदराबाद के ख‍िलाफ खेली शानदार पारी
  2. शतक से अपने आलोचकों को द‍िया करारा जवाब
  3. खराब फॉर्म से वापसी के द‍िए संकेत
नई द‍िल्‍ली:

Ranji Trophy: हैदराबाद के ख‍िलाफ रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) मुकाबले में श‍िखर धवन का बल्‍ला जमकर चला. मैच के पहले द‍िन धवन (Shikhar Dhawan) ने नाबाद 137 रन की जबर्दस्‍त पारी खेली और उन आलोचकों को करारा जवाब द‍िया जो उनकी बैट‍िंग पर सवाल‍िया न‍िशान लगा रहे थे. अरुण जेटली स्‍टेड‍ियम में शतकीय पारी के दौरान दिल्ली के कप्तान शिखर धवन ने बिना जल्दबाजी के, शरीर के पास से हैदराबाद के गेंदबाजों के ख‍िलाफ दर्शनीय शॉट्स लगाए. दिन का खेल खत्म होने तक 198 गेंदों पर 137 रन बनाकर नाबाद लौटे. खास बात यह है क‍ि धवन की यह पारी तब आई जब हैदराबाद के गेंदबाज एक छोर से लगातार अंतराल पर विकेट ले रहे थे और दिल्ली के बल्लेबाजों को अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में तब्दील होने नहीं दे रहे थे. बुधवार को पहले दिन का खेल खत्म होने के समय दिल्ली का स्‍कोर छह विकेट खोकर 269 रन था. यह शतकीय पारी श्रीलंका के ख‍िलाफ टी20 और ऑस्‍ट्रेल‍िया के ख‍िलाफ वनडे सीरीज में 'गब्‍बर' के नाम से लोकप्र‍िय धवन के मनोबल को बढ़ाने का काम करेगी

ICC ने प्रशंसकों से पूछा-दशक का सर्वश्रेष्ठ कप्तान कौन, ज्‍यादातर ने द‍िया यह जवाब...


पहले द‍िन के खेल की समाप्‍त‍ि के बाद धवन  (Shikhar Dhawan) ने कहा, "पस्थितियां चुनौतीपूर्ण थीं क्योंकि सुबह गेंद हिल रही थी. धूप नहीं थी इसलिए विकेट में नमी थी. अब कम है लेकिन फिर भी नमी है. उम्मीद है जब हमें नई गेंद मिले तो हम कुछ फायदा उठा पाएं." बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, "जब बाएं हाथ के स्पिनर (मेहदी हसन) आए तब मैंने अपने खेल में बदलाव किया. मैं उन पर बड़े शॉट्स खेलना चाह रहा था लेकिन पूरी परिस्थति को देखकर मैंने अपनी इच्छाओं पर काबू किया क्योंकि मेरे बाद ज्यादा बल्लेबाजी बची नहीं थी. अनुभव होने के कारण आपको अनुमान हो जाता है कि किस विकेट पर किस तरह के शॉट्स खेलने हैं. मैंने अपने शरीर से दूर से ज्यादा गेंदे नहीं खेलीं. ज्यादा ड्राइव भी नहीं मारी."

टिप्पणियां

उन्होंने कहा, "जब मैं 20-21 साल का था तब मैं उस तरह के शॉट खेलता था, लेकिन अब अनुभव है इसलिए अब मैं विकेट देखता हूं और मुझे पता होता कि इस पर किस तरह के शॉट खेलने हैं." अन्य बल्लेबाजों की विफलता पर धवन ने कहा, "उनको अच्छी गेंदें मिलीं और ऑफ स्टम्प के बाहर की गेंद पर आउट हुए. जाहिर सी बात है कि सुबह परिस्थतियां मुश्किल थीं क्योंकि उस समय गेंद ज्यादा सीम कर रही थी और ज्यादा स्विंग भी ले रही थी. लेकिन मैं फिर भी उनकी तारीफ करूंगा जिन्होंने 25 का आंकड़ा पार किया क्योंकि वे अच्छा योगदान देकर गए."

वीडियो: 15 साल की लड़की ने तोड़ा तेंदुलकर का रिकॉर्ड



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Bigg Boss 13 में सिद्धार्थ शुक्ला पर भड़कीं शहनाज गिल, कॉलर पकड़कर करने लगीं पिटाई- देखें Video

Advertisement