Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Ind vs Eng: ऋषभ पंत ने अपनी कामयाबी का श्रेय इन दो लोगों को दिया...

Ind vs Eng: ऋषभ पंत ने अपनी कामयाबी का श्रेय इन दो लोगों को दिया...

ऋषभ पंत ने नॉटिंघम में अपने टेस्‍ट करियर का आगाज किया (फाइल फोटो)

खास बातें

  • राहुल द्रविड़ और तारक सिन्‍हा ने हर कदम पर मदद की
  • इंग्‍लैंड में भारत ए के लिए खेलने के मुझे मिला फायदा
  • नॉटिंघम टेस्‍ट में पंत ने अपने करियर का आगाज किया
नॉटिंघम:

युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत ने अपने पहले टेस्‍ट में शानदार प्रदर्शन किया. ऋषभ को नॉटिंघम टेस्‍ट के लिए दिनेश कार्तिक के स्‍थान पर भारतीय टीम में स्‍थान दिया गया था. अपने पहले टेस्‍ट में वे हालांकि बल्‍ले से तो बहुत ज्‍यादा योगदान नहीं दे सके लेकिन विकेट के पीछे शानदार प्रदर्शन करते हुए सात कैच लपके. भारतीय टीम ने इस टेस्‍ट में इंग्‍लैंड को 203 रन के अंतर से पराजित किया. टीम इंडिया की इस जीत के बावजूद इंग्‍लैंड टीम पांच टेस्‍ट की सीरीज में 2-1 से आगे है, ऐसे में अगले दो टेस्‍ट बेहद रोमांचक होने की संभावना है. ऋषभ पंत का कहना है कि भारत ए टीम के साथ इंग्लैंड दौरे से उन्हें टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण के साथ तेज और उछालभरी गेंदबाजी का सामना करके अच्छे प्रदर्शन में मदद मिली. पंत ने अपनी कामयाबी का श्रेय भारत ए के कोच राहुल द्रविड़ और अपने बचपन के कोच तारक सिन्हा को दिया.

टेस्ट करियर आगाज के साथ ही ऋषभ पंत ने बनाए 'ये रिकॉर्ड'

20 वर्ष के पंत ने ट्रेंटब्रिज में अपने पहले टेस्ट में पहली पारी में 24 रन बनाये और फिर सात कैच भी लपके. उन्होंने कहा,‘इंग्लैंड में विकेटकीपिंग करना हमेशा कठिन होता है क्योंकि गेंद विकेट के पीछे स्विंग होते हुए आती है. मैं पिछले ढाई महीने से इंग्लैंड में भारत ए के लिये खेल रहा हूं जिससे काफी फायदा मिला है.’ उन्होंने कहा,‘मैं नेट पर अभ्यास कर रहा हूं कि तेज गेंदों से कैसे निपटना है और इसका फायदा मिल रहा है.’ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण पर उन्होंने कहा,‘यह बेहतरीन मौका है. मैं आईपीएल और घरेलू क्रिकेट में इन सभी के साथ खेल चुका हूं लेकिन देश के खिलाफ खेलने का अहसास ही अलग है. टेस्ट क्रिकेट खेलना मेरा सपना था.’

कौन है विश्व कप विजेता टीम का वह भारतीय क्रिकेटर, जो सटोरिए के संपर्क में था

वीडियो: मैडम तुसाद म्‍यूजियम में विराट कोहली

रुड़की से आकर दिल्ली में क्रिकेट खेलने वाले पंत ने अपनी कामयाबी का श्रेय भारत ए के कोच राहुल द्रविड़ और अपने बचपन के कोच तारक सिन्हा को दिया. उन्होंने कहा,‘मैने शून्य से शुरूआत की थी लेकिन जब आप कड़ी मेहनत के साथ अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते हैं तो उसे हासिल कर लेते हैं. मैं राहुल द्रविड़ सर का शुक्रगुजार हूं और अपने बचपन के कोच तारक सिन्हा का भी.उन्होंने मेरी जीवन में हर कदम पर मदद की है.’ (इनपुट: एजेंसी)