NDTV Khabar

IND vs NZ: टीम इंड‍िया के न्‍यूजीलैंड दौरे को 'इसल‍िए' चुनौतीपूर्ण मान रहे Rohit Sharma

Rohit Sharma: भारत आईसीसी प्रतियोगिताओं में पिछले छह साल में खिताब जीतने में विफल रहा है लेकिन रोहित (Rohit Sharma) का मानना है कि युवा खिलाड़ी जब एक साथ पर्याप्त समय तक खेल लेंगे तो चीजें बेहतर होंगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs NZ: टीम इंड‍िया के न्‍यूजीलैंड दौरे को 'इसल‍िए' चुनौतीपूर्ण मान रहे Rohit Sharma

Rohit Sharma टीम इंड‍िया के आगामी न्‍यूजीलैंड दौरे को चुनौती से भरा मान रहे हैं

खास बातें

  1. कहा, नई गेंद के बॉलर्स का सामना करना आसान नहीं होगा
  2. क्र‍िकेट खेलने के ल‍िहाज से मुश्‍क‍िल जगह है न्‍यूजीलैंड
  3. गेंद वहां अधिक स्विंग और सीम ले सकती है
नई द‍िल्‍ली:

Rohit Sharma: स्टार बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) आगामी न्‍यूजीलैंड दौरे (New Zealand Tour)को अपने और भारतीय टीम के ल‍िए चुनौतीपूर्ण मान रहे हैं. रोह‍ित के अनुसार, मेजबान टीम का बेहतरीन गेंदबाजी आक्रमण न्यूजीलैंड को क्रिकेट खेलने के लिए सबसे मुश्किल जगहों में से एक बनाता है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह अगले महीने होने वाले दौरे की चुनौती के लिए तैयार हैं. सलामी बल्लेबाज के रूप में अपनी पहली टेस्ट सीरीज में रोहित ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक दोहरे शतक सहित तीन शतक जड़े और फरवरी में वेलिंगटन और क्राइस्टचर्च में होने वाले दो टेस्ट में उन्हें नील वैगनर, मैट हेनरी, ट्रेंट बोल्ट और टिम साउदी जैसे तेज गेंदबाजों का सामना करना होगा.

हार्द‍िक पंड्या की सगाई पर कुलदीप यादव ने दी बधाई तो चहल ने कहा, 'अब तेरी बारी'


 रोहित (Rohit Sharma) ने कहा, ‘न्यूजीलैंड क्रिकेट खेलने के लिए आसान देशों में से एक नहीं है. पिछली बार हमें टेस्ट सीरीज में हार (0-1) का सामना करना पड़ा था लेकिन हमने कड़ी टक्कर दी थी. हालांक‍ि हमारा मौजूदा गेंदबाजी आक्रमण तब की तुलना में बिलकुल अलग है. ' उन्होंने कहा, ‘निजी तौर पर इस बात में कोई शक नहीं कि यह चुनौती होगी, नई गेंद के गेंदबाजों का सामना करना और उन गेंदबाजों के खिलाफ खेलना जो बीच के ओवरों में आएंगे.''ह‍िटमैन' के नाम से लोकप्र‍िय रोहित इस बात से वाक‍िफ हैं कि भारत के बाहर गेंद अधिक स्विंग और सीम ले सकती है लेकिन पिछले साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज अच्छा बदलाव रही जहां उपमहाद्वीप की सामान्य पिचों से अलग तरह की पिचें थीं.

इस सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘किसी भी हालात में नई गेंद का सामना करना आसान नहीं होता. बेशक भारत के बाहर यह और अधिक मुश्किल है. लेकिन हम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्ट खेले और मैंने भारत में कभी गेंद को इतना स्विंग होते हुए नहीं देखा जितना गेंद पुणे (दूसरे टेस्ट में) में स्विंग हो रही थी.'उन्होंने कहा, ‘उन्होंने (दक्षिण अफ्रीका ने) जो शुरुआती ओवर फेंके, उस समय पिच में नमी थी और इसलिए उन्हें काफी मदद मिली. रांची में (जहां रोहित ने दोहरा शतक जड़ा) भी हमने काफी जल्दी तीन विकेट गंवा दिए थे.'रोहित ने कहा, ‘लेकिन मुझे पता है कि क्या उम्मीद की जा सकती है क्योंकि पिछली बार (2014 सीरीज में) मैं वहां था. आसान हालात नहीं होंगे लेकिन मैं इस चुनौती के लिए तैयार हूं.'

भारत आईसीसी प्रतियोगिताओं में पिछले छह साल में खिताब जीतने में विफल रहा है लेकिन रोहित (Rohit Sharma) का मानना है कि युवा खिलाड़ी जब एक साथ पर्याप्त समय तक खेल लेंगे तो चीजें बेहतर होंगी. 33 साल के इस क्रिकेटर ने कहा, ‘चीजें अब बदल रही हैं. श्रेयस (अय्यर) चौथे नंबर पर खेल रहा है और काफी अच्छा कर रहा है. ऋषभ (पंत) ने भी वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे इंटरनेशनल मैचों में अच्छा किया. शिवम (दुबे) भी अच्छा प्रदर्शन करने लगा है. इसलिए मुझे भरोसा है कि हमारे युवा खिलाड़ी जिम्मेदारी लेंगे.'

टिप्पणियां

उन्होंने कहा, ‘समस्या यह है कि लोकेश राहुल, ऋषभ, श्रेयस और शिवम ने टीम के रूप में काफी मैच एक साथ नहीं खेले हैं. अब ऐसा होगा और ऐसा होने के बाद उनका आत्मविश्वास बढ़ेगा.'रोहित को साथ ही यकीन है कि चौथे नंबर पर अपनी जगह लगभग पक्की करने के बाद अय्यर अब और अधिक स्वच्छंद होकर खेल पाएंगे. उन्होंने कहा, ‘श्रेयस को पता है कि अब आने वाले वर्षों में उसे चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करनी है. वह अब सुरक्षित महसूस कर रहा है और अपनी योजनाओं को अच्छी तरह से लागू कर पाएगा. लोकेश राहुल अच्छा खेल रहा है और अच्छी मानसिकता के साथ आगे बढ़ेगा. हमें तब तक इंतजार करना होगा जब तक कि वे एक साथ पर्याप्त मैच नहीं खेल लेते.'

वीडियो: 15 साल की लड़की ने तोड़ा तेंदुलकर का रिकॉर्ड



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... CM अमरिंदर ने CAA को लेकर अकाली दल को दी NDA छोड़ने की चुनौती, तो SAD ने ऐसे किया पलटवार

Advertisement