NDTV Khabar

शेन वॉर्न ने बताया, भारत के खिलाफ इस कारण नहीं मिल पाए ज्‍यादा विकेट, सचिन के बारे में कही यह बात..

शेन वॉर्न को विश्‍व क्रिकेट के सर्वश्रेष्‍ठ स्पिन गेंदबाजों में शुमार किया जाता है. दुनिया के नामी बल्‍लेबाज भी उनकी फिरकी के आगे चकमा खाकर विकेट गंवा बैठते थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शेन वॉर्न ने बताया, भारत के खिलाफ इस कारण नहीं मिल पाए ज्‍यादा विकेट, सचिन के बारे में कही यह बात..

ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर शेन वॉर्न ने टेस्‍ट में 708 और वनडे में 293 विकेट हासिल किए (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कहा-भारत के दो दौरों के पहले कंधे और उंगली की सर्जरी हुई थी
  2. उस समय टीम इंडिया में सचिन, सहवाग, लक्ष्‍मण, द्रविड़ जैसे दिग्‍गज थे
  3. लारा और सचिन दोनों को बताया सर्वश्रेष्‍ठ,बोले-एक को चुनना कठिन
ऑस्‍ट्रेलिया के शेन वॉर्न को विश्‍व क्रिकेट के सर्वश्रेष्‍ठ स्पिन गेंदबाजों में शुमार किया जाता है. दुनिया के नामी बल्‍लेबाज भी उनकी फिरकी के आगे चकमा खाकर विकेट गंवा बैठते थे. लेग स्पिन गेंदबाजी में इसी महारत के कारण ऑस्‍ट्रेलिया के इस पूर्व क्रिकेटर ने टेस्‍ट में 708 और वनडे में 293 विकेट हासिल किए लेकिन एक महत्‍वपूर्ण तथ्‍य यह भी है कि वे भारत के खिलाफ गेंदबाजी करते हुए ज्‍यादा सफल नहीं हो पाए. NDTV के साथ विशेष बातचीत में 49 वर्षीय वॉर्न ने भारतीय टीम के खिलाफ उनकी इस नाकामी का कारण बताया. उन्‍होंने कहा-यह कोई बहाना नहीं है. भारत में अपने दो दौरों के पहले मेरे कंधे और अंगुली के ऑपरेशन हुआ था. इसके अलावा उस समय की भारतीय टीम ने सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली, वीवीएस लक्ष्‍मण और वीरेंद्र सहवाग जैसे बल्‍लेबाज भी थे. भारत में इन्‍हें गेंदबाजी करना बेहद मुश्किल रहा. मैंने अपनी ओर से सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन देने की कोशिश की लेकिन वे बेहतरीन साबित हुए. 

शेन वॉर्न ने की स्‍टीव वॉ की आलोचना, कहा-वे स्‍वार्थी थे, हर बात पर टोकते थे...

गौरतलब है कि वॉर्न इस समय अपनी किताब ‘नो स्पिन ’ को लेकर चर्चा में हैं. इस पुस्‍तक में उन्‍होंने अपनी जिंदगी, क्रिकेट करियर और मशहूर क्रिकेटरों को लेकर अहम खुलासे किए हैं.वॉर्न के ही दौर में भारत के सचिन तेंदुलकर और वेस्‍टइंडीज के ब्रायन लारा ने भी क्रिकेट खेला. इन दोनों दिग्‍गज बल्‍लेबाजों के बारे में उन्‍होंने कहा, दोनों ही अपने समय के सर्वश्रेष्‍ठ बल्‍लेबाज थे और इसमें से किसी एक चुनना बेहद मुश्किल है. उन्‍होंने कहा कि यदि मैं किसी टेस्‍ट सीरीज के अंतिम दिन शतक बनाने के लिए चुनता तो मैं लारा को बैटिंग के लिए भेजता लेकिन ऐसे समय जब जान पर बन आई हो तब मैं सचिन को बल्‍लेबाजी के लिए भेजता. समय गुजरने के साथ वॉर्न और सचिन तेंदुलकर अच्‍छे दोस्‍त बन गए. वॉर्न ने बताया कि हमारी पहली मुलाकात मेरे पहले टेस्‍ट मैच के दौरान हुई थी. इस मैच में रवि शास्‍त्री (भारतीय टीम के मौजूदा कोच) ने दोहरा शतक बनाया था, सचिन ने भी इस मैच में शतक बनाया था.

शेन वॉर्न ने पूर्व कोच जॉन बुकनन के बारे में किया 'बड़ा खुलासा'
 
वीडियो: जब सचिन तेंदुलकर ने सड़क पर खेला क्रिकेट


टिप्पणियां
शेन ने इस दौरान क्रिकेट करियर के दौरान मिले घूस के प्रस्‍ताव और नाकाम शादी जैसे मुद्दों पर भी बात की. अपनी पुस्‍तक में उन्‍होंने खुलासा किया था कि पाकिस्‍तान के बल्‍लेबाज सलीम मलिक ने वर्ष 1994-95 की सीरीज के कराची टेस्‍ट में उन्‍हें धनराशि का प्रस्‍ताव किया था. वॉर्न ने बातचीत में बताया, 'सलीम मलिक ने मुझे दो लाख यूएस डॉलर का प्रस्‍ताव दिया. उसने कहा कि यदि मैंने (वॉर्न ने) ऑफ स्‍टंप के बाहर गेंदबाजी की और मैच ड्रॉ रहा तो यह राशि आधे घंटे में तुम्‍हारे होटल के रूम में पहुंच जाएगी.' वॉर्न ने उस घटना के बारे में भी बात की जब श्रीलंका में उन्‍हें एक सटोरिये ने धनराशि ऑफर की थी.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement