NDTV Khabar

सचिन तेंदुलकर ने किया खुलासा, 'पहली बार कब आया था उनके मन में संन्‍यास का विचार'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सचिन तेंदुलकर ने किया खुलासा, 'पहली बार कब आया था उनके मन में संन्‍यास का विचार'

सचिन ने इस पोस्ट में क्रिकेट के अलावा अपने दूसरों प्रोजेक्ट की बात की

खास बातें

  1. तेंदुलकर बतौर 'इन्फ्लुेंसर' LinkedIn में शामिल हुए हैं
  2. उन्होंने अपनी दूसरी पारी से जुड़े अनुभव साझा किए हैं
  3. इस पोस्ट में उन्होंने अपने नए प्रोजेक्ट के बारे में बात की है
मुंबई: गुरुवार को ट्विटर पर तमाम राजनीतिक और गैर राजनीतिक मुद्दों के साथ साथ सचिन तेंदुलकर का नाम भी ट्रेंड कर रहा था. वजह - सचिन की एक दिल को छू देने वाली पोस्ट जिसे उन्होंने साझा करते हुए क्रिकेट के बाद की अपनी दूसरी पारी के बारे में लिखा है. क्रिकेट के महानतम खिलाड़ी समझ जाने वालों में से एक सचिन ने हाल ही में प्रोफेशनल नेटवर्किंग साइट लिंक्डइन को बतौर 'इन्फ्लुन्सर' जॉइन किया है. बताया जा रहा है कि ऐसा करने वाले वह दुनिया के पहले क्रिकेटर हैं. लिंक्डइन वेबसाइट के लिए सचिन का शामिल होना बेहद अहम माना जा रहा है और उन्होंने अपनी पोस्ट में क्रिकेट से दूसरे प्रोजेक्ट की तरफ अपने रुख़ की बात की है. वह लिखते हैं 'तो जब कोई खिलाड़ी खेल नहीं रहा होता है तो क्या करता है? काफी कुछ..मैंने तो रास्ते ढूंढ निकाले हैं..'

महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने खुलासा किया कि उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का पहला विचार उनके दिमाग में अक्टूबर 2013 में चैम्पियंस लीग टी-20 मैच के दौरान आया था जो उनके अलविदा कहने के फैसले से एक महीने पहले ही था. तेंदुलकर हाल में पेशेवर नेटवर्किंग साइट ‘लिंक्डइन’ से ‘इंफ्लुएंसर’ के तौर पर जुड़े और उन्होंने ‘माई सेंकेड इनिंग्स’ शीषर्क के लेख में आज उन्होंने लिखा, ‘अक्टूबर 2013 के दौरान दिल्ली में चैम्पियंस लीग मैच के दौरान ऐसा हुआ था.’ उन्होंने खेल के बाद अपनी जिंदगी के बारे में बताते हुए कहा, ‘‘मेरी सुबह जिम वर्कआउट के साथ शुरू होती है जो मैं पिछले 24 साल से कर रहा हूं. लेकिन उस दिन अक्टूबर की सुबह कुछ बदल गया. मैंने महसूस किया कि मुझे खुद को उठाने के लिये जोर लगाना पड़ा. मैं जानता था कि जिम ट्रेनिंग मेरे क्रिकेट का अहम हिस्सा है जो पिछले 24 साल से मेरी जिंदगी का हिस्सा रही है. फिर भी यह अनिच्छा थी. क्यों?’’ तेंदुलकर ने लिखा, ‘‘क्या ये संकेत थे..संकेत थे कि मुझे रुक जाना चाहिए? संकेत था कि जो खेल मेरे लिये इतना अहम रहा है, वह मेरी रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा नहीं होगा?’’ गौरतलब है कि सचिन ने 2013 में क्रिकेट के हर फॉर्म से रिटायरमेंट ले लिया था.

इसके बाद सचिन ने उन सब बातों का ज़िक्र किया जो कि वह अब क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद कर रहे हैं. वह आगे लिखते हैं 'मेरी पहली पारी सपनों को पूरा करने की थी, दूसरी पारी संतुष्टि के लिए है. जिस गेम ने मुझे बनाया, मैं उसके, समाज और वंचित लोगों के लिए कुछ करना चाहता हूं.' वर्तमान में सचिन ने आंध्रप्रदेश के एक गांव पुट्टमराजू कंडरिगा को गोद लिया है, इसके अलावा वह अविकसित इलाकों में बिजली पहुंचाने से जुड़े एक प्रोजेक्ट से जुड़े हुए हैं, प्रधानमंत्री मोदी के 'स्वच्छ भारत मिशन' और क्रिकेट को नए इलाकों तक पहुंचाने के काम में भी जुटे हुए हैं.

टिप्पणियां
सचिन ने लिखा कि उन्होंने लिंक्डइन इसलिए जॉइन किया क्योंकि वह ज्यादा से ज्यादा पेशेवर लोगों के साथ अपने अनुभव बांटना चाहते हैं ताकि उन्हें अपने रोज़ के प्रदर्शन को बेहतर करने के लिए एक अलग नज़रिया मिल सके.

(इनपुट भाषा से...)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement