ऋद्धिमान साहा ने दोहरा शतक जमाकर शेष भारत को ईरानी ट्रॉफी दिलाई, टेस्‍ट टीम में दावा किया मजबूत

ऋद्धिमान साहा ने दोहरा शतक जमाकर शेष भारत को ईरानी ट्रॉफी दिलाई, टेस्‍ट टीम में दावा किया मजबूत

साहा ने अपने दोहरे शतक के दौरान छह छक्‍के लगाए (फाइल फोटो)

खास बातें

  • ईरानी ट्रॉफी के मुकाबले में छह विकेट से जीता शेष भारत
  • 203 रन बना नाबाद रहे साहा, पुजारा ने बनाए नाबाद 116 रन
  • जीत के लिए शेष भारत को मिला था 379 रनों का लक्ष्‍य
मुंबई:

टीम इंडिया के टेस्ट स्क्वाड में विकेटकीपर की जगह के लिए पार्थिव पटेल से मिल रही चुनौती के बीच विकेटकीपर बल्‍लेबाज ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) ने दोहरा शतक जमाकर अपनी स्थिति बेहद मजबूत कर ली है. साहा के नाबाद 203 रन (272 गेंदें, 26 चौके और छह छक्‍के) और चेतेश्‍वर पुजारा के नाबाद शतक (116 रन, 16 चौके) की मदद से शेष भारत ने रणजी ट्रॉफी चैंपियन गुजरात को आज यहां 6 विकेट से हराकर ईरानी ट्रॉफी अपने नाम पर कर ली. जीत के लिए जरूरी 379 रनों का लक्ष्‍य शेष भारत की टीम ने महज चार विकेट खोकर हासिल कर लिया. इस जीत में साहा के बेहतरीन पारी का प्रमुख योगदान रहा. उन्‍होंने दोहरा शतक लगाकर चयनकर्ताओं के सामने अपने फर्स्‍ट च्‍वॉइस टेस्‍ट विकेटकीपर का दावा बेहद मजबूती के साथ पेश किया.

गौरतलब है कि साहा के चोटग्रस्‍त होने के कारण इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में पार्थिव पटेल ने भी बल्‍ले से शानदार प्रदर्शन किया था. पार्थिव के इस प्रदर्शन के बाद इस बात की चर्चाएं शुरू हो गई थीं कि साहा और पार्थिव में से किसी टेस्‍ट टीम में विकेटकीपर चुना जाए. साहा को उनकी बेहतरीन पारी के लिए मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया.

 
cheteshwar pujara colombo hundred 650
चेतेश्‍वर पुजारा ने भी ईरानी ट्रॉफी मुकाबले में नाबाद शतक जमाया
 
मैच के पांचवें दिन आज शेष भारत की टीम ने दूसरी पारी में, चार विकेट पर 266 रन से आगे खेलना शुरू किया और बिना कोई और विकेट खोए विजयी लक्ष्‍य तक पहुंच गई. चौथे दिन के नाबाद बल्‍लेबाज साहा और चेतेश्‍वर पुजारा के समक्ष गुजरात के गेंदबाज कोई परेशानी खड़ी नहीं कर पाए. मैच के चौथे दिन पुजारा 83 और साहा 123 रन बनाकर नाबाद थे.
Newsbeep

63 रन पर गिर गए थे  शेष भारत के 4 विकेट
शेष भारत की टीम जब 379 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी, तो पहली पारी में उसके हाल को देखने के बाद हर कोई सोच रहा था कि वह मैच गंवा देगी. शुरुआत में ऐसा लगा भी जब  63 रन पर उसके 4 मुख्य बल्लेबाज लौट गए. इसके बाद कप्तान चेतेश्वर पुजारा और ऋद्धिमान साहा ने पारी संभाली और टीम को जीत तक पहुंचा दिया चौथे दिन का खेल खत्म होने तक पुजारा 83 और साहा 123 रन पर नाबाद थे और इन दोनों के बीच 203 रन की अटूट साझेदारी हो चुकी थी. मैच के चौथे दिन मुश्किल लक्ष्य के सामने शेष भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही और ओपनर अखिल हेरवादकर (20) और अभिनव मुकुंद (19) दोनों जल्दी लौट गए. इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई में पांचवें टेस्ट मैच में तिहरा शतक जड़कर सुर्खियां बटोरने वाले करुण नायर भी निराश कर गए. उन्होंने 7 रन बनाए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


तिहरा शतक लगा चुके करुण नायर लगातार हो रहे फेल
हेरवादकर ने करण पटेल पर लांग ऑन पर छक्का जड़ा, लेकिन इसी ओवर में ऑफ स्टंप से बाहर जा रही गेंद पर ड्राइव करने के प्रयास में गली में कैच दे बैठे. बाएं हाथ के स्पिनर हार्दिक पटेल ने मुकुंद को शार्ट लेग पर ध्रुव रावल के हाथों कैच कराने के बाद अगले ओवर में नायर का लेग स्टंप उखाड़ा. नायर तिहरा शतक लगाने के बाद अगली 4 पारियों में 50 रन तक नहीं पहुंच पाए हैं. उनका स्थान लेने के लिए उतरे मनोज तिवारी (सात) भी आते ही पैवेलियन लौट गए. उन्होंने मोहित थडानी की गेंद पर विकेटकीपर पार्थिव पटेल को कैच दिया. इससे पहले, गुजरात ने चौथे दिन सुबह अपनी दूसरी पारी आठ विकेट पर 227 रन से आगे बढ़ाई, लेकिन उसने 19 रन के अंदर बाकी बचे दोनों विकेट गंवा दिए और इस तरह से उसकी पारी 246 रन पर सिमट गई थी.