NDTV Khabar

खुश हूं, धोनी अब पुणे सुपरजाइंटस के कप्‍तान नहीं हैं, अब मेरी टीम किंग्‍स इलेवन, पुणे को हरा पाएगी : सहवाग

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
खुश हूं, धोनी अब पुणे सुपरजाइंटस के कप्‍तान नहीं हैं, अब मेरी टीम किंग्‍स इलेवन, पुणे को हरा पाएगी : सहवाग

सहवाग का मानना है कि टीम इंडिया अब विदेशों में भी सीरीज जीत सकती है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. टेस्‍ट सीरीज में भारत के 3-0 या 3-1 से जीतने की उम्‍मीद जताई
  2. कहा-टीम इंडिया अब विदेश में भी सीरीज जीतने में सक्षम है
  3. अश्विन फिट रहे तो टेस्‍ट में सबसे ज्‍यादा विकेट ले सकते हैं
पुणे:

टीम इंडिया के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग जिस तरह की धमाकेदार बल्‍लेबाजी करते थे, उसी अंदाज में वे अपने विचार व्‍यक्‍त करते हैं. भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच शुरू हो रही टेस्‍ट सीरीज को लेकर उन्‍होंने अनुमान लगाया है कि विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली टीम इंडिया 3-0 या 3-1 के अंतर से कंगारू टीम को हराने में कामयाब रहेगी. बल्‍लेबाजी और गेंदबाजी में भारतीय टीम के संतुलन और टीम के हालिया प्रदर्शन के आधार पर उन्‍होंने यह भविष्‍यवाणी की है. आईपीएल में महेंद्र सिंह धोनी को राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के कप्तान पद से हटाने के फैसले के बारे में उन्होंने कहा कि यह दुखद फैसला था. सहवाग ने कहा, ‘मुझे खुशी है कि वह अब कप्तान नहीं हैं क्योंकि अब मेरी टीम किंग्स इलेवन पंजाब पुणे की टीम को हरा सकती है. अगर इस पर गंभीरता से बात करूं तो यह फ्रेंचाइजी का फैसला है लेकिन वह भारत के सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में से एक हैं.’

टिप्पणियां

सहवाग ने कहा, ‘कप्‍तान विराट कोहली अब काफी परिपक्‍व हो गए हैं. वे विश्वस्तरीय खिलाड़ी है और मुझे लगता है कि जब वह संन्यास लेंगे, तब तक किसी एक प्रारूप के सभी रिकॉर्ड तोड़ देंगे.’यहां ‘स्पोरटेल’ महोत्सव के दौरान अपनी यह राय जताते हुए वीरू ने कहा, ‘टीम इंडिया संतुलित है. उसके पास कुशल तेज गेंदबाज और स्पिनर हैं और इसके साथ ही बेहतरीन बल्लेबाज हैं जिससे यह सर्वश्रेष्ठ भारतीय टीम बन गई है. सहवाग ने कहा कि यह टीम विदेशों में भी टेस्ट सीरीज जीतने की क्षमता रखती है.’ लेकिन अपनी इस राय के साथ उन्‍होंने टीम इंडिया को आगाज भी किया कि बाजी पलटने में देर नहीं लगती और टीम को अपनी क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन करना होगा.


दिल्‍ली के इस पूर्व बल्‍लेबाज ने कहा, ‘यह टीम बेहतरीन क्रिकेट खेल रही है. उसने नौ टेस्ट मैचों में से आठ में जीत दर्ज की और यह बड़ी उपलब्धि है लेकिन पासा पलटने में देर नहीं लगती है और मेरे हिसाब से इस सीरीज में एक टेस्ट ऐसा होगा जिसमें या तो गेंदबाज नहीं चलेंगे या फिर बल्लेबाज. ’उन्होंने भारतीय कप्तान विराट कोहली की भी तारीफ की और उन्हें वर्तमान समय में तीनों प्रारूपों का सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर करार दिया. उन्होंने कहा कि ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के पास भी टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाला गेंदबाज बनने का मौका रहेगा लेकिन इसके लिये उन्हें अपनी फिटनेस बनाए रखनी होगी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement