IND vs WI: करुण नायर के मामले में यह बोले भारतीय टीम के कप्‍तान विराट कोहली...

IND vs WI: करुण नायर के मामले में यह बोले भारतीय टीम के कप्‍तान विराट कोहली...

विराट ने कहा, करुण नायर को बाहर किए जाने के मुद्दे पर टिप्‍पणी करना उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं है (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कहा-नायर के मुद्दे पर टिप्‍पणी करना मेरे अधिकार क्षेत्र में नहीं
  • चयनकर्ता इस मामले में पहले ही इस बारे में बात कर चुके हैं
  • लोग सोचते हैं सब फैसले एक स्‍थान से हो रहे जबकि ऐसा नहीं है
राजकोट:

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि करुण नायर को टेस्ट टीम से विवादास्पद तरीके से बाहर करने पर टिप्पणी करना उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं है. आम धारणा के विपरीत विराट ने स्पष्ट किया कि सभी फैसले एक स्थान से नहीं किये जा रहे हैं. गौरतलब है कि मध्‍यक्रम के बल्‍लेबाज नायर इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों के लिए भारतीय टीम का हिस्‍सा होने के बावजूद प्‍लेइंग 11 में जगह नहीं बना सके थे. अब वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज से उन्हें बाहर कर दिया गया है, जिससे नया विवाद पैदा हो गया है.

वर्ल्‍डकप 2019: वसीम अकरम और वकार यूनुस ने इस टीम को बताया खिताब का मजबूत दावेदार..

हनुमा विहारी को इंग्लैंड दौरे के लिए शुरुआती टीम में शामिल नहीं किया गया था लेकिन उन्हें ओवल में पांचवें और अंतिम टेस्ट मैच में पदार्पण का मौका दिया गया. कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘चयनकर्ता पहले ही इस बारे में बात कर चुके है और इस पर बात करना मेरे अधिकार में नहीं है. चयनकर्ता अपनी भूमिका निभा रहे हैं.’ उन्होंने कहा,‘अगर किसी व्यक्ति ने पहले ही इस बारे में बात कर ली है तो यहां फिर से इस बात को नहीं उठाया जाना चाहिए था. मुख्य चयनकर्ता ने पहले ही खिलाड़ी से बात कर ली है. मुझे नहीं लगता कि मुझे इस पर टिप्पणी करनी चाहिए.’

 

IND vs WI:अजिंक्‍य रहाणे ने बल्‍लेबाजी को लेकर पृथ्‍वी शॉ को दी यह सलाह...

वीडियो: मैडम तुसाद म्‍यूजियम में विराट कोहली

टीम इंडिया के कप्‍तान ने कहा, ‘चयन करना मेरा काम नहीं है. एक टीम के रूप में हम वह कर रहे हैं जो हमें करना चाहिए. हर किसी को अपनी संबंधित भूमिका के बारे में पता होना चाहिए.’विराट कोहली ने कहा कि सभी अपनी भूमिकाओं को अच्छी तरह से समझते हैं. उन्होंने इस धारणा को भी नकार दिया कि कप्तान और टीम प्रबंधन के बाकी सदस्यों की चयन मामलों में अहम भूमिका होती है. उन्होंने कहा, ‘लोगों को यह भी अहसास होना चाहिए कि हर मामले में संयुक्त निर्णय नहीं होते हैं. यह अभी भ्रम बना हुआ जहां लोग सब चीजों का घालमेल कर रहे हैं और सोच रहे हैं कि सभी फैसले एक स्थान से किये जा रहे हैं जो कि सच नहीं है.’ मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने स्पष्ट किया था कि नायर को हटाने से पहले उनसे लंबी बातचीत की गई थी. चयन समिति के पूर्व प्रमुख दिलीप वेंगसरकर और ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने कर्नाटक के इस बल्लेबाज को बाहर करने की आलोचना की थी. (इनपुट: एजेंसी)

 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com