Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

साल का शहंशाह : पारी 'विराट' से शुरू और खत्म भी 'विराट पारी' से

विराट कोहली के करियर में यह पहली बार हुआ जब वे एक साल में टेस्ट और एक दिवसीय क्रिकेट मैच में 1000 से भी ज्यादा रन बनाने में कामयाब हुए

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
साल का शहंशाह : पारी 'विराट' से शुरू और खत्म भी 'विराट पारी' से

साल 2017 विराट कोहली के क्रिकेट करियर का सबसे शानदार साल रहा.

खास बातें

  1. 15 जनवरी 2017 को इंग्लैंड के खिलाफ शानदार 122 रन की पारी
  2. 9 फरवरी 2017 को पहले टेस्ट में बांग्लादेश के खिलाफ 204 रन
  3. 2 दिसंबर 2017 को श्रीलंका के खिलाफ 243 रन की शानदार पारी
नई दिल्ली:

20 जून 2011 को विराट कोहली ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना टेस्ट करियर का पहला मैच खेला था. कोहली के साथ-साथ सुरेश रैना और अभिनव मुकुंद ने भी इस मैच के जरिए अपना टेस्ट करियर शुरू किया था. वेस्टइंडीज के सबीना पार्क, किंग्स्टन में खेले गए इस टेस्ट मैच में कोहली ने पहली पारी में सिर्फ चार और दूसरी पारी में 15 रन बनाए थे. वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे और तीसरे टेस्ट में भी कोहली फ्लॉप रहे थे. इस सीरीज में कोहली कुल मिलाकर सिर्फ 76 रन बना पाए थे.

इस खराब प्रदर्शन के बाद कोहली के टेस्ट करियर को लेकर सवाल उठाए जा रहे थे लेकिन एक दिवसीय मैचों में शानदार प्रदर्शन की वजह से कप्तान से लेकर टीम मैनेजमेंट तक को कोहली पर भरोसा था. सब यही उम्मीद कर रहे थे एक दिवसीय मैचों की तरह कोहली एक दिन टेस्ट क्रिकेट में भी शानदार प्रदर्शन करेंगे. साल 2011 में कोहली ने पांच टेस्ट मैच खेलते हुए 9 पारियों में सिर्फ 202 रन बनाए थे.अगर एक दिवसीय को शामिल किया जाए तो 2011 में कोहली सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में पहले स्थान पर थे.

वर्ष 2015 कोहली के क्रिकेट करियर का सबसे खराब साल
सन 2012 में टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में कोहली पन्द्रहवें  स्थान पर भी जगह नहीं बना पाए थे, लेकिन 2012 में एक दिवसीय मैचों में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में तीसरे स्थान पर थे. 2013 में टेस्ट मैचों में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में कोहली बीसवें स्थान तक चले गए जबकि एक दिवसीय मैचों में तीसरे स्थान पर थे. अगर टेस्ट मैच की बात की जाए तो 2014 भी कोहली के लिए कुछ खास नहीं रहा. 2014 में टेस्ट मैचों में कोहली सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में बारहवें स्थान पर थे लेकिन पहले की तरह एक दिवसीय मैचों में अच्छा प्रदर्शन करते हुए सबसे ज्यादा रन बनाने में तीसरे स्थान पर थे. 2011 से लेकर 2014 के बीच कोहली टेस्ट मैचों में ज्यादा रन जरूर नहीं बना पाए थे लेकिन एक दिवसीय मैचों में अच्छा प्रदर्शन करते रहे थे. साल 2015 भी कोहली के लिए कुछ खास नहीं रहा. अगर टेस्ट मैचों की बात की जाए तो 6 जनवरी 2015 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक ठोककर कोहली ने नए साल में अच्छे फॉर्म में होने का संकेत दे दिया था लेकिन आगे कोहली का बल्ला कुछ खास कमाल नहीं कर पाया. इस साल एक दिवसीय मैचों में भी कोहली फ्लॉप  रहे. 2015 में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में कोहली टेस्ट मैच में पन्द्रहवें स्थान पर थे जबकि एक दिवसीय मैचों में पहले 30 स्थानों पर भी कोहली का नाम नहीं था.


साल 2016 में कोहली ने किया कमाल
वर्ष 2016 कोहली के लिए काफी अच्छा रहा. इस साल कोहली टेस्ट मैचों में शानदार प्रदर्शन करने के साथ-साथ एक दिवसीय मैचों में भी अच्छा खेले. इस साल कोहली ने टेस्ट मैचों में तीन दोहरे शतक लगाए. 21 जुलाई 2016 को वेस्टइंडीज के खिलाफ कोहली ने शानदार 200 रन की पारी खेली थी. 8 अक्टूबर 2016 को इंदौर में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ कोहली ने 211 रन की पारी खेली थी. 8 दिसंबर 2016 को कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ मुंबई में 235 रन की शानदार पारी खेली.  साल 2016 में कोहली ने 12 टेस्ट मैच खेलते हुए 18 पारियों में करीब 76 के औसत से 1215 रन बनाए थे और इस साल सबसे ज्यादा रन बनाने में चौथे स्थान पर थे. सन 2016 में कोहली ने एक दिवसीय मैचों में भी अच्छा प्रदर्शन किया. इस साल कोहली ने दस मैच खेलते हुए करीब 92 के औसत से 739 रन बनाए थे जिसमें तीन शतक और चार अर्धशतक शामिल थे. इस साल एक दिवसीय मैचों में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में कोहली सातवें स्थान पर थे.

साल 2017 में “विराट” पारी  
वर्ष 2017 विराट कोहली के करियर का सबसे शानदार साल रहा. चाहे एक दिवसीय मैच हो या टेस्ट, कोहली के बल्ले से काफी रन निकले. साल के अपने पहले एक दिवसीय मैच में कोहली ने शतक ठोका और साल के पहले टेस्ट मैच में उन्होंने दोहरा शतक मारा.  सिर्फ इतना ही नहीं साल के अपने आखिरी एक दिवसीय मैच में भी कोहली के बल्ले से शतक आया. साल के अपने आखिरी टेस्ट मैच में भी कोहली ने दोहरा शतक मारा. 15 जनवरी 2017 को कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ शानदार 122 रन की पारी खेलकर अच्छे फॉर्म में होने का संकेत दिया था. इस साल के अपने आखिरी एक दिवसीय मैच में भी कोहली ने 29 अक्टूबर को कानपुर के मैदान पर 113 रन की पारी खेली थी. अगर टेस्ट मैच की बात की जाए तो 9 फरवरी 2017 को बांग्लादेश के खिलाफ साल का अपना पहला  मैच खेलते हुए कोहली ने शानदार 204 बनाए थे जबकि साल के आखिरी मैच में यानी 2 दिसंबर 2017 को दिल्ली के फ़िरोज़शाह कोटला मैदान पर कोहली ने श्रीलंका के खिलाफ 243 रन की शानदार पारी खेली.

टिप्पणियां

VIDEO : विराट के बारे में क्या कहते हैं गावस्कर..


विराट कोहली के करियर में यह पहली बार हुआ है जब वे एक साल में टेस्ट और एक दिवसीय मैच में 1000 से भी ज्यादा रन बनाने में कामयाब हुए हैं. इस साल विराट कोहली ने 26 एक दिवसीय मैच खेलते हुए 77 के औसत से 1460 रन बनाए हैं जिसमें छह शतक और सात अर्धशतक शामिल हैं. इस साल एक दिवसीय मैचों में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में कोहली पहले स्थान पर हैं. अगर टेस्ट मैच की बात की जाए तो इस साल कोहली ने 10 मैच खेलते हुए करीब 76 के औसत से 1059 रन बनाए हैं जिसमें तीन दोहरे शतक, दो शतक और एक अर्धशतक शामिल है. इस साल टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में कोहली चौथे स्थान पर हैं. ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीवन स्मिथ पहले स्थान पर हैं जबकि भारत के चेतेश्वर पुजारा दूसरे स्थान पर हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दिल्ली में हिंसा पर जीशान अय्यूब ने किया ट्वीट, बोले- वो पागल हो चुके हैं...वो मर चुके हैं...

Advertisement