Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

बल्‍लेबाज अब ले सकेंगे राहत की सांस, तेज गेंदबाज शॉन टैट ने क्रिकेट से संन्‍यास लिया..

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बल्‍लेबाज अब ले सकेंगे राहत की सांस, तेज गेंदबाज शॉन टैट ने क्रिकेट से संन्‍यास लिया..

अपनी तेज गति के कारण शॉन टैट बल्‍लेबाजों को आतंकित करने की क्षमता रखते थे (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 140 किमी प्रति घंटा से अधिक की गति से गेंद फेंकते थे टैट
  2. तीन टेस्‍ट, 35 वनडे में ऑस्‍ट्रेलिया का प्रतिनिधित्‍व किया
  3. चोटों के कारण प्रभावित रहा शॉन टैट का करियर
मेलबर्न:

अपने अजीबोगरीब एक्‍शन और गति के कारण चर्चा का केंद्र रहे ऑस्‍ट्रेलिया के तेज गेंदबाज शॉन टैट ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्‍यास लेने की घोषणा की है. टैट को बेहद तेज गति के गेंदबाजों में शुमार किया जाता था लेकिन लगातार चोटों के कारण वे कभी ऑस्‍ट्रेलियाई टीम के नियमित सदस्‍य नहीं रह पाए. 34 साल के टैट लगातार 140 किमी प्रति घंटा से अधिक की गति से गेंद फेंकने में सक्षम थे. उनके संन्‍यास लेने से बल्‍लेबाजों ने जरूर राहत की सांस ली होगी. दक्षिणी ऑस्‍ट्रेलिया के एडिलेड में 1983 में जन्‍मे टैट ने तीन टेस्‍ट, 35 वनडे और 21 टी20 मैचों में ऑस्‍ट्रेलियाई टीम का प्रतिनिधित्‍व किया.   

टिप्पणियां

दुनिया के तेज गेंदबाजों में से एक टैट ने ऑस्ट्रेलिया के अंतिम मैच जनवरी 2016 में खेला था. उन्होंने कहा कि अब उन्हें महसूस होने लगा है कि उम्र का असर उनके शरीर पर हो रहा है. इस 34 वर्षीय खिलाड़ी ने हाल में ओवरसीज सिटीजन आफ इंडिया कार्ड भी हासिल किया है. उन्होंने क्रिकेट डाट काम डाट एयू से कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो मैं दो साल और खेलना चाहता था, भले ही यह ब्रिटेन में हो या यहां.’ उन्होंने कहा, ‘मैं जानता था कि उम्र बढ़ने के साथ युवा खिलाड़ियों के साथ प्रतिस्पर्धा करना हमेशा ही मुश्किल होगा. मैं 34 साल का हूं और मुझे लगता है कि जब आप जितना चाहते हो, मैदान पर उतना योगदान नहीं दे पा रहे हो तो समझो संन्यास लेने का समय आ गया है.’


उन्होंने कहा कि बिग बैश में साधारण प्रदर्शन के बाद उन्होंने संन्यास लेने का फैसला किया. टैट ने कहा, ‘मैं नहीं जानता था कि यह इतना मुश्किल होगा जितना इस साल हुआ. कोहनी की चोट के कारण नहीं खेल पाना और टीम से बाहर रहना..तो स्पष्ट है कि क्रिकेट खेलना जारी रखने का कोई मतलब नहीं है. एक साल और खेलना अच्छा होता, लेकिन और सर्जरी कराकर 35 साल की उम्र में खेलने का कोई मतलब नहीं है. ’ (एजेंसी से भी इनपुट)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Bhojpuri Video Song: पवन सिंह के रोमांटिक गाने का यूट्यूब पर तहलका, 1 करोड़ से ज्यादा बार देखा गया Video

Advertisement