फॉर्म में लौटने से खुश हुआ 'गब्बर', कहा- दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इसका लाभ मिलेगा

फॉर्म में लौटने से खुश हुआ 'गब्बर', कहा- दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इसका लाभ मिलेगा

शिखर धवन (फाइल फोटो)

बेंगलुरु:

भारत-ए के कप्तान शिखर धवन ने मंगलवार को कहा कि बांग्लादेश-ए के खिलाफ तीन दिवसीय अनधिकृत टेस्ट मैच ने उन्हें अपनी फिटनेस का आकलन करने का आदर्श मंच दिया और वह चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए इस मैच में शतक जड़कर बेहद खुश हैं।

फिटनेस परखने का मिला मौका
भारत-ए की पहली पारी में 150 रन बनाने वाले धवन ने अपनी टीम की पारी और 36 रन से जीत के बाद पत्रकारों से कहा, 'इस मैच से मुझे अपनी फिटनेस का आकलन करने का अच्छा मौका मिला। एक महीने तक बाहर रहने के बाद मैंने जिस तरह से वापसी की उससे मैं खुश हूं। मुझे खुशी है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज से पहले मैं शतक जड़ने में सफल रहा। मेरा हाथ अब अच्छा है और उम्मीद है कि आगे भी ऐसा ही रहेगा।'

श्रीलंका सीरीज के दौरान फ्रैक्चर हुआ था हाथ
श्रीलंका के खिलाफ गॉल में खेले गए पहले टेस्ट मैच के दौरान धवन के हाथ में फ्रैक्चर हो गया था और उन्हें बाकी सीरीज से बाहर बैठना पड़ा था। उन्होंने कहा कि वह अब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दो अक्टूबर को धर्मशाला में होने वाले पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में पारी की शुरुआत करने के लिए तैयार हैं।

आजमाए नए शॉट्स
उन्होंने कहा, 'मैंने टेस्ट जैसे प्रारूप में शुरुआत की लेकिन सौभाग्य से मैंने कुछ बाउंड्री जमायी। अर्धशतक पूरा करने के बाद मैंने आक्रामक रवैया अपनाया और कुछ शॉट का अभ्यास किया जो दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी-20 मैच खेलते समय उपयोगी साबित हो सकते हैं।'

द. अफ्रीका से होगी कड़ी सीरीज
दक्षिण अफ्रीकी चुनौती के बारे में धवन ने कहा कि यह कड़ी सीरीज होगी लेकिन अगर भारत घरेलू परिस्थितियों का फायदा उठाने में सफल रहता है तो वह इसमें जीत दर्ज कर सकता है। उन्होंने कहा, 'यह कड़ी और मनोरंजक सीरीज होगी। यदि दो मजबूत टीमें आपस में खेलती हैं तो मुकाबला अच्छा होता है। हम घरेलू सरजमीं पर खेल रहे हैं और हम अधिक फायदे में रहेंगे। उम्मीद है कि हम अपनी टीम को मिलने वाले फायदे से सीरीज को जीतने में सफल रहेंगे।'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कप्तानी करने में अच्छा लगा
अपनी कप्तानी के बारे में धवन ने कहा कि भारत के युवा खिलाड़ियों की अगुवाई करना अच्छा अनुभव रहा। उन्होंने कहा, 'युवा टीम की अगुवाई करना बहुत अच्छा अनुभव रहा। यह देखकर अच्छा लगा कि लड़के इतने फिट और मजबूत हैं। करूण नायर और विजय शंकर ने जिस तरह से बल्लेबाजी की और लंबे शॉट खेले वह देखकर अच्छा लगा।'

धवन ने कहा, 'निश्चित रूप से हमारे गेंदबाजों ने सपाट विकेट पर अहम भूमिका निभाई। जयंत यादव ने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की। उनके अलावा अन्य सभी खिलाड़ियों ने भी उपयोगी योगदान दिया।'