NDTV Khabar

'रावलपिंडी एक्‍सप्रेस' शोएब अख्‍तर ने बताया, मैं इस बल्‍लेबाज को अपनी गेंदों से चोटिल करना चाहता था

रावलपिंडी एक्‍सप्रेस के नाम से लोकप्रिय पाकिस्‍तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्‍तर अपनी गति से बल्‍लेबाजों को आतंकित करने की क्षमता रखते थे.

813 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
'रावलपिंडी एक्‍सप्रेस' शोएब अख्‍तर ने बताया, मैं इस बल्‍लेबाज को अपनी गेंदों से चोटिल करना चाहता था

शोएब अख्‍तर अपनी गति से बल्‍लेबाजों को आतंकित करने की क्षमता रखते थे (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. दुनिया के सबसे तेज गेंदबाजों में शुमार थे शोएब
  2. कई बार उनकी गेंदों से बल्‍लेबाज चोटग्रस्‍त हुए
  3. कहा-हेडन को अपनी गेंद से हिट करना चाहता था
रावलपिंडी एक्‍सप्रेस के नाम से लोकप्रिय पाकिस्‍तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्‍तर अपनी गति से बल्‍लेबाजों को आतंकित करने की क्षमता रखते थे. शोएब को दुनिया के सबसे तेज गेंदबाजों में शुमार किया जाता था. अपनी तेज गेंदों के अलावा वे अपने बाउंसर और यॉर्कर से भी बल्‍लेबाजों की कठिन परीक्षा लेते थे. मैदान में उनकी गेंदों का सामना करते हुए बल्‍लेबाज चोटग्रस्‍त भी हो चुके हैं. शोएब ने हाल ही में एक ट्वीट करके बताया कि अपने करियर के दौरान उन्‍होंने अपनी गेंदों से 19 बल्‍लेबाजों को चोटिल करके मैदान से बाहर जाने को मजबूर कर दिया.

हालांकि शोएब ने अपने फैंस को यह भी कहा कि बल्‍लेबाजों को अपनी गेंदों पर चोटिल करके उन्‍हें कभी मजा नहीं आया. लेकिन एक बल्‍लेबाज ऐसा था जिसे मैं बुरी तरह से गेंद से 'हिट' करना चाहता था.
 
शोएब अख्‍तर ने ट्वीट करके कहा कि अपने खेलने के दिनों में ऑस्‍ट्रेलिया के मैथ्‍यू हेडन को मैं चोटिल करना चाहता था. टेस्‍ट और अभ्‍यास मैचों के दौरान मैंने ऐसा किया. हालांकि अब हम अच्‍छे दोस्‍त हैं. मैं अब तक जिन उदार लोगों से मिला हूं, हेडन उनमें से एक हैं. क्रिकेट करियर को अलविदा कहने के बाद शोएब के अभी भी भारतीय टीम के कई क्रिकेटरों के साथ दोस्‍ताना रिश्‍ते हैं. कमेंट्री करते हुए और ट्विटर पर इन दोनों पूर्व खिलाड़ि‍यों को अक्‍सर ही मौजमस्‍ती करते हुए देखा जाता है.
   
सहवाग भी इस बात को स्‍वीकार कर चुके हैं कि शोएब जब अपने सर्वश्रेष्‍ठ दौर में थे तब उनका सामना करना आसान नहीं होता था. टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी ने हाल ही में जब खेलने के लिहाज से सबसे मुश्किल गेंदबाज के बारे में पूछा गया था तो उन्‍होंने शो एब अख्‍तर का ही नाम लिया था.

यह भी पढ़ें
शोएब अख्तर का खुलासा, 1996 के दौरान मैच फिक्सिंग अपने चरम पर था

धोनी ने कहा था, मेरे जैसे सीमित तकनीक वाले बल्‍लेबाज के लिए वैसे तो किसी भी तेज गेंदबाज को खेलना मुश्किल होता है लेकिन यदि किसी एक गेंदबाज को चुनना हो तो मैं निश्चित रूप से शोएब अख्‍तर का ही नाम लूंगा. वे बेहद तेज थे और यॉर्कर के साथ-साथ घातक बाउंसर भी फेंकते थे.

धोनी ने कहा था कि शोएब का सामना करना मेरे लिए हमेशा से ही मुश्किल रहा. गेंदबाज के तौर पर कई बार यह कल्‍पना कर पाना मुश्किल होता था कि वे किसी तरह की गेंद फेंकेंगे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement