पाकिस्‍तान सुपर लीग में फिक्सिंग के आरोपों से शोएब अख्‍तर नाराज लेकिन आईसीसी या पीसीबी से नहीं चाहते जांच

पाकिस्‍तान सुपर लीग में फिक्सिंग के आरोपों से शोएब अख्‍तर नाराज लेकिन आईसीसी या पीसीबी से नहीं चाहते जांच

शोएब अख्‍तर चाहते हैं कि आरोपों की जांच पाक सरकार की स्‍वतंत्र एजेंसी करे (फाइल फोटो)

खास बातें

  • शोएब चाहते हैं कि सरकार की स्‍वतंत्र एजेंसी से कराई जाए जांच
  • कहा-आरोप साबित होने पर दोषियों को कड़ी सजा दी जाए
  • PSL में कथित भ्रष्‍टाचार पर शरजील, खालिद किए गए हैं निलंबित

पाकिस्‍तान सुपर लीग (पीएसएल) में स्‍पॉट फिक्सिंग के कथित मामले ने पाकिस्‍तानी क्रिकेट को फिर शर्मसार किया है. गौरतलब है कि पीएसएल में कथित भ्रष्‍टाचार को लेकर शरजील खान (Sharjeel Khan) और खालिद लतीफ (Khalid Latif) को निलंबित किया जा चुका है जबकि इसी देश के तीन अन्‍य क्रिकेटरों मोहम्मद इरफान, जुल्‍फ‍िकार बाबर और शाहजेब हसन से पूछताछ की गई है. मुल्‍क की क्रिकेट में फिक्सिंग के मामले फिर सामने आने से पाकिस्‍तानी तेज गेंदबाज शोएब अख्‍तर (Shoaib Akhtar) बेहद नाराज हैं. 'रावलपिंडी एक्‍सप्रेस' के नाम से लोकप्रिय रहे इस पूर्व पाकिस्‍तानी बॉलर ने कहा है कि मैच फिक्सिंग स्‍कैंडलों को राष्‍ट्रीय त्रासदी के तौर पर लिया जाना चाहिए. अपने ट्वीट में उन्‍होंने लिखा कि ऐसे मामलों की जांच सरकार की स्‍वतंत्र एजेंसी से कराई जानी चाहिए न कि इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) या पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की ओर से.



इससे पहले एक अन्‍य ट्वीट में शोएब ने लिखा, 'मेरे पसंदीदा खेल और देश की छवि PSL की घटना से प्रभावित नहीं होना चाहिए. हम पहले ही मैदान पर अपनी काफी छवि खराब कर चुके हैं.'
 
-------------------------------------------------------------------------------------------------
यह भी पढ़ें (फिर बाहर निकला फिक्सिंग का 'जिन्‍न', इन पाक क्रिकेटर्स पर लग चुका है 'दाग')
------------------------------------------------------------------------------------------------
शोएब ने यह भी कहा था कि  PSLमें मैच फिक्सिंग के आरोप धक्‍का पहुंचाने वाले हैं, लेकिन ईमानदारी से कहूं तो मुझे पहले से ही इसका अहसास था. यदि आरोप सिद्ध होते हैं तो दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए. वैसे भी क्रिकेट खिलाड़ि‍यों पर फिक्सिंग के आरोप लगना कोई नई बात नहीं है. पाकिस्‍तानी खिलाड़ि‍यों पर इससे पहले भी कई बार आरोप लगते रहे हैं.
Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com