NDTV Khabar

Sreesanth का बड़ा खुलासा, यहां सिर्फ 13 ही नहीं, बल्कि 20-21 खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 'ऐसा' किया और वे...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Sreesanth का बड़ा खुलासा,  यहां सिर्फ 13 ही नहीं, बल्कि 20-21 खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 'ऐसा' किया और वे...

Sreesanth पर लगा सात साल का प्रतिबंध अगले साल खत्म हो रहा है

खास बातें

  1. श्रीसंत पर साल 2013 में लगा था आजीवन प्रतिबंध
  2. बीसीसीआई लोकपाल ने घटा कर सात साल किया
  3. अगले साल खत्म हो रहा है श्रीसंत का प्रतिबंध
नई दिल्ली:

हिंदुस्तान के ही नहीं, बल्कि दुनिया भर के करोड़ों क्रिकेटप्रेमी साल 2007 में दक्षिण अफ्रीका में खेले गए टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल को नहीं भूलेंगे. और इसमें भी जोगिंदर शर्मा की गेंद, श्रीसंत (Sreesanth) का कैच और इसके बाद का तूफानी जश्न!! इस ऐतिहासिक तस्वीर के एक नायक श्रीसंत (Sreesanth) को लोग साल 2013 में आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के कारण लगे आजीवन प्रतिबंध के लिए भी याद करते हैं. इस घटना के बाद उनकी जिंदगी पूरी तरह से बदल गई. उन्हें जेल में रहना और अवसाद से गुजरना पड़ा, मानसिक तौर पर पीड़ा झेलनी पड़ी.

अगले साल श्रीसंत का आजीवन प्रतिबंध खत्म होने जा रहा है, तो वह नई शुरुआत करने जा रहे हैं. हाल ही में श्रीसंत ने अपने अनुभव को एक अखबार के साथ साझा किया. श्रीसंत बताया कि जेल में बिताया गया उनका समय कितना ज्यादा डरावना रहा. श्रीसंत ने खुलासा करते हुए यह भी बताया कि उनके साथ हुई पूछताछ में पुलिस ने वास्तव में 20-21 ऐसे खिलाड़ियों के वीडियो और फोटो दिखाए, जो मैच फिक्सिंग में शामिल थे और मैं बहुत ही हैरान था.


यह भी पढ़ेंयह भारतीय टीम South Africa के खिलाफ पहले टेस्ट में मैदान पर उतरेगी

श्रीसंत ने खुलासा करते हुए बताया कि उनके साथ जेल में एक कैदी हत्या और बलात्कार का आरोपी था. और वह उन्हें बहुत ही ज्यादा गालियां दिया करता था. इस शख्स का दर दूसरा शब्द गाली ही होता था और वह उससे बहुत ही ज्यादा डर गए थे. उन्होंने कहा कि मैंने जल्द ही महसूस किया कि इसको लेकर कुछ करना होगा. मैंने उससे बात करना शुरू कर दिया. कुछ दिन बाद उसने कहा," तेरे में दम नहीं है. तू डरपोक है. तू मेरे साथ रहा कर. यहां तुझे परेशान करने के लिए बहुत लोग हैं". 

यह भी पढ़ें: कुछ ऐसे Imam-Ul-Haq का दर्द छलका पक्षपात और भाई-भतीजावाद के आरोपों पर

श्रीसंत ने मैच फिक्सिंग के मुद्दे पर अखबार से बातचीत में कहा कि जिन खिलाड़ियों ने फिक्सिंग की, वे अभी भी चेहरों पर मुस्कान के साथ क्रिकेट खेल रहे हैं. मैं सिर्फ यह कहना चाहता हूं कि मैं तुम्हारे जैसा नहीं हैं. मैं बहुत ही आसानी से सबूतों (जैसे पुलिस ने मुझे दिखाए) के साथ इन खिलाड़ियों के नाम ले सकता हूं, लेकिन मैं ऐसा नहीं करूंगा. मैं ऐसा नहीं हूं. मुझे अपना जीवन पटरी पर लाने में सात साल लगे हैं.  इनमें से कुछ खिलाड़ी समूचे विश्व में अभी भी खेल रहे हैं, या संन्यास ले चुके हैं. मैं नहीं सोचता कि वे सब वह सबकुछ झेल पाएंगे, जिससे मैं गुजरा हूं. ये सभी खिलाड़ी आरोपी हैं और मैं उन्हें घसीटना नहीं चाहता. 

VIDEO: धोनी के संन्यास पर युवा क्रिकेटरों के विचार सुन लीजिए. 

टिप्पणियां

श्रीसंत ने कहा कि पूछताछ के दौरान पुलिस ने मुझे कुछ और खिलाड़ियों के फोटो और वीडियो दिखाए, जि पर मैच फिक्सिंग में शामिल होने का शक था. ठीक वैसे ही, जो जस्टिस मुद्गल कमेटी द्वारा सील बंदल लिफाफे में दिए गए 13 नाम दिए गए. लेकिन वास्तव में यहां 20-21 ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने आईपीएल में फिक्सिंग की.  और मैं हैरान था और अपने आप से कह रहा था कि नहीं ऐसा नहीं हो सकता. यह खिलाड़ी ऐसा नहीं कर सकता.


 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement