NDTV Khabar

मोहाली टेस्ट में जडेजा को टीम में रखकर 5 गेंदबाजों के साथ उतरें : गावस्कर

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मोहाली टेस्ट में जडेजा को टीम में रखकर 5 गेंदबाजों के साथ उतरें : गावस्कर

सुनील गावस्कर (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने बुधवार को कहा कि वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ गुरुवार से शुरू होने वाले पहले क्रिकेट टेस्ट मैच में चार विशेषज्ञ गेंदबाजों और आलराउंडर रविंद्र जडेजा को रखने के पक्ष में हैं। गावस्कर ने कहा, 'जडेजा अपनी बांए हाथ की स्पिन गेंदबाजी से विकेट हासिल कर सकता है जैसा कि वह पहले भी करता रहा है। इसके अलावा वह बल्ले से भी योगदान दे सकता है। वह नंबर सात स्थान के लिए आदर्श बल्लेबाज है।'

गावस्कर से पूछा गया कि क्या भारत को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच गेंदबाजों के साथ उतरना चाहिए, उन्होंने कहा, 'पांच गेंदबाज होने से आपके पास अधिक विकल्प होते हैं लेकिन अक्सर पांचवें गेंदबाज को गेंदबाजी के अधिक मौके नहीं मिलते। श्रीलंका में हरभजन सिंह को उतने अधिक ओवर नहीं मिले जितने कि उन्हें मिलने चाहिए थे।'

उन्होंने कहा, 'यहां जडेजा काफी उपयोगी हो सकते हैं क्योंकि वह गेंदबाजी के अलावा बल्लेबाजी भी कर सकता है। गेंदबाज के रूप में वह भारतीय पिचों में विकेट ले सकता है। बल्लेबाज के रूप में वह क्रीज पर टिककर रन बना सकता है।' गावस्कर ने कहा कि वह जडेजा को सातवें नंबर के लिए आदर्श उम्मीदवार के रूप में अंतिम एकादश में रखेंगे।

उन्होंने कहा, 'जडेजा को अंतिम 11 में रखो, क्योंकि वह अच्छी गेंदबाजी कर सकता है जैसा कि उन्होंने दो साल पहले मोहाली में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क के खिलाफ की थी।' गावस्कर ने कहा, 'सीमित ओवरों के मैचों में वह थोड़ा महंगा साबित होता है लेकिन टेस्ट मैचों में वह सातवें नंबर का आदर्श खिलाड़ी है। इसके अलावा वह बहुत अच्छा फील्डर भी है और खेल के हर विभाग में योगदान दे सकता है।'

गावस्कर ने इसके साथ ही कहा कि यदि भारत को मैच जीतने हैं तो ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को अहम भूमिका निभानी होगी। उन्होंने एनडीटीवी से कहा, 'यदि भारत को जीत दर्ज करनी है तो आर. अश्विन की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। वह टीम में पांच विकेट लेने वाला गेंदबाज है। आप अन्य गेंदबाजों को पांच विकेट लेने वाला नहीं कह सकते हो। जब इशांत शर्मा की वापसी होगी तो भारत के पास पांच विकेट लेने वाले दो गेंदबाज हो जाएंगे।'

टिप्पणियां
गावस्कर ने कहा, 'यदि भारत बड़ा स्कोर बनाता है तो अश्विन अधिक आत्मविश्वास के साथ गेंदबाजी करेगा। इससे भारत के पास जीत के अधिक मौके होंगे।' इस पूर्व कप्तान ने भारतीय खिलाड़ियों को आक्रामक क्रिकेट भूलकर केवल अपना नैसर्गिक खेल खेलने की सलाह दी। उन्होंने कहा, 'आक्रामक सही शब्द नहीं है। मैं इसको प्रतिस्पर्धी क्रिकेट कहना पसंद करुंगा। भारतीय संदर्भ में मुझे आक्रामक क्रिकेट ऐसा लग रहा है जैसे विरोधी खिलाड़ियों से भिड़ना, उन पर छींटाकशी करना।'

गावस्कर ने कहा, 'मैं भारतीय खिलाड़ियों को इस आक्रामक क्रिकेट को भूलने और केवल अपना नैसर्गिक खेल खेलने की सलाह दूंगा। दक्षिण अफ्रीका नंबर एक टीम है और उसकी टीम संतुलित है। वनडे और टी20 मैच जीतकर उसने लय भी हासिल कर रखी है।'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement