सुनील गावस्कर ने मौजूदा हालात पर छात्रों को दी यह नसीहत

संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ सबसे पहले जामिया मिलिया विश्व विद्यालय में विरोध देखने को मिला, जबकि जवाहर लाल नेहरू विश्व विद्यालय (जेएनयू) में नकाबपोश लोगों ने हिंसा फैलाई. 

सुनील गावस्कर ने मौजूदा हालात पर छात्रों को दी यह नसीहत

सुनील गावस्कर की फाइल फोटो

नई दिल्ली:

महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने शनिवार को भरोसा जताया कि भारत देश भर में छात्रों के विरोध प्रदर्शन से बने मौजूदा ‘मुश्किल' हालात से उबर जाएगा जैसे अतीत में वह कई संकट की स्थितियों से निपटने में सफल रहा है. पिछले कुछ हफ्तों में देश भर में छात्रों का विरोध प्रदर्शन देखने को मिला है. संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ सबसे पहले जामिया मिलिया विश्व विद्यालय में विरोध देखने को मिला, जबकि जवाहर लाल नेहरू विश्व विद्यालय (जेएनयू) में नकाबपोश लोगों ने हिंसा फैलाई. और इसी हालात पर अपने समय के दिग्गज बल्लेबाज ने छात्रों को नसीहत दी है. हालिया समय में सीएए और फिर अब ताजा मामले में जेएनयू मुद्दे पर छात्र बड़ी संख्या में सड़कों पर उतरे हैं और अभी भी उनका विरोध थमा नहीं है. 

यह भी पढ़ें: सुनील गावस्कर ने रणजी ट्रॉफी को लेकर सौरव गांगुली को दिया बड़ा संदेश, लेकिन...

गावस्कर ने 26वें लाल बहादुर शास्त्री स्मृति व्याख्यान के दौरान कहा, ‘देश मुश्किल में है. हमारे कुछ युवा सड़कों पर उतरे हुए हैं, जबकि उन्हें अपनी कक्षाओं में होना चाहिए. सड़कों पर उतरने के लिए उनमें से कुछ को अस्पताल जाना पड़ा.' 

यह भी पढ़ेंशॉर्दूल ठाकुर ने मैन ऑफ द मैच बनने के बाद जतायी यह इच्छा

गावस्कर हालांकि उस भारत में विश्वास रखते हैं जहां के लोग संकेट के इस समय से उबर जाएंगे. उन्होंने कहा, ‘इनमें से अधिकतर कक्षाओं में हैं, अपना भविष्य बनाने और भारत को आगे ले जाने का प्रयास कर रहे हैं. 

Newsbeep

VIDEO: पिंक बॉल बनने की पूरी कहानी, स्पेशल स्टोरी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एक देश के रूप में हम तभी आगे बढ़ सकते हैं जब हम सभी एकजुट हों. जब हम सभी सामान्य भारतीय होंगे. खेल ने हमें यही सिखाया है.'