Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

कमेंटेटर मामले में गावस्कर और साथियों को देना होगा शपथपत्र

पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर और बीसीसीआई के कमेंटेटर पैनल में शामिल अन्य को शपथपत्र देना होगा कि उनके लोढ़ा पैनल की सिफारिशों के अनुरूप किसी तरह का हितों का टकराव नहीं है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कमेंटेटर मामले में गावस्कर और साथियों को देना होगा शपथपत्र

बीसीसीआई ने सुनील गावस्कर, संजय मांजरेकर, मुरली कार्तिक और हर्ष भोगले के नामों को कमेंटेटरों के लिए सहमति दी है

नई दिल्ली:

पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर और बीसीसीआई के कमेंटेटर पैनल में शामिल अन्य को शपथपत्र देना होगा कि उनके लोढ़ा पैनल की सिफारिशों के अनुरूप किसी तरह का हितों का टकराव नहीं है.

बीसीसीआई अपने सूचीबद्ध कमेंटेटरों के लिये चार नामों पर सहमत है. ये हैं सुनील गावस्कर, संजय मांजरेकर, मुरली कार्तिक और हर्ष भोगले. इनमें से भोगले की 2016 में विश्व टी20 के पहले से बीसीसीआई से ठन गयी थी और इस तरह से वह एक साल से अधिक समय बाद वापसी करेंगे.

यह भी पढ़ें: अपने वेतन में इजाफा चाहते हैं भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के चयनकर्ता

बीसीसीआई ने आधिकारिक तौर पर इन चारों के नाम की घोषणा नहीं की क्योंकि सीओए सदस्य डायना एडुल्जी ने कहा कि हितों के टकराव से जुड़े सभी मसलों पर भी गौर किया जा रहा है
.
यह भी पढ़ें: हितों के टकराव का मामला : टीम इंडिया के क्रिकेटरों को छोड़नी पड़ेगी सरकारी नौकरी?


उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘हमने नामों पर चर्चा की लेकिन इन पर अंतिम फैसला नहीं किया गया. हमें हितों के टकराव के नियम को अच्छी तरह से समझने की जरूरत है. हम अब भी नहीं जानते कि किसके क्या हित हैं.’

लेकिन एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सभी नामों पर सहमति बन गयी है लेकिन चारों सूचीबद्ध कमेंटेटरों को शपथपत्र पर हस्ताक्षर करने होंगे. उन्हें यह घोषित करना होगा कि उनका खिलाड़ियों के प्रबंधन से जुड़ी किसी फर्म से कोई रिश्ता नहीं है.

टिप्पणियां

VIDEO: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड अपने रुख पर अडिग बीसीसीआई एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा कि बीसीसीआई किसी तरह का जोखिम नहीं उठाना चाहता है. लोढ़ा सुधारों में स्पष्ट लिखा है कि बीसीसीआई से जुड़े किसी भी व्यक्ति का किसी भी तरह का हितों का टकराव नहीं होना चाहिए.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... धर्म साबित करने के लिए 'रुद्राक्ष' दिखाया, जान बचाने के लिए गिड़गिड़ाया - अब ऐसी हो गई है दिल्ली

Advertisement