वर्ष 2016 में टीम इंडिया को मिले ये पांच सितारे जिन पर आगे भी रहेंगी निगाहें..

वर्ष 2016 में टीम इंडिया को मिले ये पांच सितारे जिन पर आगे भी रहेंगी निगाहें..

खास बातें

  • 2016 में भारतीय टीम में कई युवा खिलाड़ियों को मौका दिया गया
  • करुण नायर और जयंत यादव ने बल्लेबाजी में अपनी छाप छोड़ी
  • हार्दिक पांड्या ऑलराउंडर के तौर पर उभरे, बैट और बॉलिंग से किया कमाल
नई दिल्ली:

2016 में भारतीय टीम में कई युवा खिलाड़ियों को मौका दिया गया. उनमें से कई ने अपने मौके को बेहतर तरीके से भुनाकर फैन्स का दिल जीत लिया. फिर चाहे वह टेस्ट मैच हो या वनडे या फिर धूमधड़ाका वाला टी-20. इन सभी फॉर्मेट में कुछ ऐसे सितारे टीम इंडिया को मिल गए हैं जिन्होंने सीमित समय में अपने प्रदर्शन से सबको प्रभावित किया है. मजेदार तथ्य यह भी है कि इनमें से अधिकांश में अपने करियर का आगाज इसी साल किया है. एक नज़र इन युवा सितारों पर डाल लेते हैं:
 
1. करुण नायर : राजस्थान के जोधपुर में जन्मे करुण नायर के लिए यह साल बेहद खास रहा. उन्होंने जुलाई 2016 में जिम्बांबे के खिलाफ वनडे में पदार्पण किया. उन्होंने अपने पदार्पण मैच में 39 रन बनाए थे. उनका चयन घरेलू मैचों में बेहतर प्रदर्शन के इनाम के रूप में किया गया था. अक्टूबर 2016 में उन्हें कर्नाटक का कप्तान नियुक्त किया गया. नवंबर में   26 नवंबर 2016 को मोहाला में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू किया. लेकिन पहले मैच में वह प्रभावित नहीं कर पाए और पहली पारी में महज 4 रन रन पर आउट हो गए.

दूसरे मैच में मुंबई भी भी कमाल नहीं दिखा सके. तीसरा मैच चेन्नई में 16 दिसंबर को खेला गया. इस मैच में करुण नायर ने उम्दा प्रदर्शन करते हुए तिहरा शतक (नाबाद 303 रन) जड़ दिया. इस तिहरे शतक के साथ ही वे सहवाग के बाद दूसरा तिहरा शतक लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए.
 
2. जयंत यादव :  इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भविष्य की उम्मीदें जगाने वाला एक और सितारा जयंत यादव के रूप में मिला. जयंत यादव ने विशाखापट्टनम टेस्ट में अपने करियर का आगाज किया और गेंद व बल्ले और से कमाल दिखाया. जयंत ने पहले मैच की पहली पारी में 35 रन बनाए थे. एक विकेट भी लिया था. दूसरी पारी में उन्होंने नाबाद 27 रन बनाए. साथ ही 3 विकेट भी अपने नाम किए. जयंत ने अब तक कुल 3 मैचों की 4 पारियो में 73 की औसत के साथ 221 रन बनाए हैं. इसमें एक शतक और एक ही अर्धशतक शामिल है.

वहीं गेंदबाजी में उन्होंने 9 विकेट झटके हैं. जयंत ने वनडे में अपने करियर का आगाज भी विशाखापट्टनम के मैदान पर ही इसी साल अक्टूबर में न्यूजीलैंड के खिलाफ किया था. अपने पहले वनडे में उन्हें बल्लेबाजी में तो कुछ खास करने का मौका नहीं मिला लेकिन गेंदबाजी में उन्होंने 4 ओवर में 8 रन देते हुए एक विकेट लिया था.  

3. हार्दिक पंड्या : हार्दिक पंड्या ने भी टी20 और वनडे दोनों फॉर्मेट में अपने करियर का आगाज  2016 में किया. टी-20 में अपने बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत वनडे में भी जगह बनाई. पंड्या ने 26 जनवरी 2016 को एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना पहला टी-20 मैच खेला था. इस मैच में बल्लेबाजी में तो उन्हें मौका नहीं मिला लेकिन गेंदबाजी में उन्होंने 3 ओवर में 37 रन देकर 2 विकेट झटके थे. भारत इस मैच को 37 रन से जीतने में कामयाब रहा था.

वनडे की बात करे तो हार्दिक ने 16 अक्टूबर 2016 को न्यूजीलैंड के खिलाफ धर्मशाला में अपने करियर का आगाज किया. पहले ही मैच में पंड्या ने जबर्दस्त गेंदबाजी करते हुए 7 ओवर में 31 रन देकर 3 विकेट झटके थे. हालांकि उस मैच में पंड्या को बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला. लेकिन पंड्या के तीन विकेटों की बदौलत भारत मैच जीतने में कामयाब रहा और पहले ही मैच में पंड्या को मैन ऑफ द मैच के खिताब प्रदान किया दिया गया था. उम्मीद है कि नए साल में भी पांड्या अपनी प्रदर्शन को जारी रखेंगे.

4 . लोकेश राहुल : लोकेश राहुल ने भी अपने वनडे करियर का आगाज जिम्बाब्वे के खिलाफ 11 जून, 2016 में किया.  पहले ही मुकाबले में राहुल ने 115 गेंदों में 86.95 की औसत नाबाद 100 रनों की पारी खेली थी. अपनी शतकीय पारी में लोकेश ने 7 चौके और 1 छक्का भी लगाया था. राहुल की दमदार पारी की मदद से भारत ने जिम्बाब्वे को 9 विकेट से रौंद दिया था. राहुल को पहले ही मैच में मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला.

राहुल ने अब तक 3 वनडे मैचों में 196 की औसत के साथ 196 रन बनाए हैं. जिसमें एक शतक और एक अर्धशतक शामिल है. राहुल ने जिम्बांबे के दौरे में ही अपने टी-20 करियर का आगाज किया लेकिन वह बिना कोई खाता खोले शून्य पर आउट हो गए थे. हालांकि बाद में लोकेश ने तीसरे टी-20 मैच में शतक जड़ा. बाद में उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 110 रनों की नाबाद पारी भी खेलकर अपने प्रदर्शन को चमकदार बनाया.

5. जसप्रीत बुमराह :  अपने अजीबो-गरीब एक्शन से यॉर्कर गेंदबाज के मशहूर जसप्रीत बुमराह ने बहुत ही कम समय में भारतीय टीम में अपनी जगह पुख्ता कर ली है. बुमराह ने अपने पहले ही मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार गेंदबाजी करते हुए भारत की जीत में बेहद ही अहम भूमिका निभाई थी. बुमराह ने पहले मैच में 3.3 ओवर की गेंदबाजी में 23 रन देकर 3 विकेट झटके थे. वहीं बुमराह के नाम अब तक 21 मैचों में 28 विकेट हैं. 

इनके अलावा, संजू सैमसन, मनीष पांडे केदार जाधव, ऋषभ पंत और श्रेयस अय्यर जैसे युवा खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर क्रिकेट प्रेमियों की नजरें रहेगी.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com