टीम इंडिया की 'दीवार' चेतेश्वर पुजारा ने बनाया एक खास रिकॉर्ड, गौतम गंभीर को छोड़ा पीछे

टीम इंडिया की 'दीवार' चेतेश्वर पुजारा ने बनाया एक खास रिकॉर्ड, गौतम गंभीर को छोड़ा पीछे

मौजूदा सीज़न में चेतेश्वर पुजारा ने 65.8 की औसत से 1316 रन बनाकर गंभीर को पीछे छोड़ दिया...

खास बातें

  • धर्मशाला टेस्ट में पुजारा टेस्ट करियर का 15वां अर्द्धशतक बनाकर आउट हुए
  • एक सीज़न में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले भारतीय खिलाड़ी बने पुजारा
  • एक सीज़न में सबसे ज़्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड रिकी पॉन्टिंग के नाम
नई दिल्ली:

टीम इंडिया के भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा धर्मशाला टेस्ट में अपने टेस्ट करियर का 15वां अर्द्धशतक बनाकर आउट हुए लेकिन इससे पहले वो अपने नाम एक ख़ास रिकॉर्ड कर गए. एक सीज़न में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले भारतीय खिलाड़ी के रूप में पुजारा ने गौतम गंभीर को पीछे छोड़ा. गंभीर ने 8 साल पहले यानी 2008-09 सीज़न में गंभीर ने 1269 रन बनाए थे लेकिन मौजूदा सीज़न में पुजारा ने 65.8 की औसत से 1316 रन बनाकर गंभीर को पीछे छोड़ दिया. एक सीज़न में सबसे ज़्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के रिकी पॉन्टिंग के नाम है. पॉन्टिंग ने 2005-06 सीज़न में 78.05 की औसत से 1483 रन बनाए थे. पुजारा इस मामले में पॉन्टिंग से 168 रन पीछे हैं. उधर, भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच धर्मशाला में खेला जा रहा चार टेस्ट मैचों की सीरीज का अंतिम मैच अब रोमांचक हो गया है.

ऑस्ट्रेलिया के साथ सीरीज़ शुरू होने से पहले माना जा रहा था कि विराट कोहली इस रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं लेकिन सीरीज़ में अब तक विराट का बल्ला नहीं चला है. पुजारा ने विराट से आगे निकलते हुए गंभीर का रिकॉर्ड तोड़ा और इस दौरान धर्मशाला टेस्ट में 57 रन बनाकर आउट हुए. नेथन लायन ने पुजारा का विकेट लिया.

2016-17 का सीज़न पुजारा के लिए बेहतरीन रहा है. न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ पुजारा ने 74 से ज़्यादा की औसत से 373 रन बटोरे थे. इसमें 3 अर्द्धशतक और 1 शतक शामिल रहा. वहीं इंग्लैंड के ख़िलाफ़ भी पुजारा को खूब सफलता मिली. 50 से ज़्यादा की औसत से सौराष्ट के इस खिलाड़ी ने 401 रन बनाए. इंग्लिश टीम पर भारत की जीत में पुजारा की बल्लेबाज़ी का विशेष रोल रहा. बांग्लादेश के ख़िलाफ़ वो शतक से चूक गए लेकिन उन्होंने 83 रन की पारी खेली.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पुजारा की शानदार फ़ॉर्म का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ पिछली दो पारियों में उन्होंने एक दोहरा शतक और एक अर्द्धशतक बनाए हैं. इतना ही नहीं गेंदों का सामना करने के मामले में भी वो आगे ही रहे हैं. हालांकि की पुजारा की सफलता रातों रात नहीं आई है. ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ पहली तीन पारियों में पुजारा ने 6, 31 और 17 रन बनाए-लेकिन अगली 3 पारियां उनकी शानदार रहीं. पुजारा ने 92, 202 और 57 रन बनाए हैं.