NDTV Khabar

तेलंगाना की इस खिलाड़ी ने लगभग छोड़ दिया था क्रिकेट, फिर अमेरिकी टीम में मिल गई जगह और अब...

जहां पुरुष क्रिकेटरों की उपलब्धियों का खूब बखान किया जाता है, वहीं भारतीय महिला क्रिकेटरों की उपलब्धियों की चर्चा दबकर रह जाती है.

11 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
तेलंगाना की इस खिलाड़ी ने लगभग छोड़ दिया था क्रिकेट, फिर अमेरिकी टीम में मिल गई जगह और अब...

सिंधुजा रेड्डी हैदराबाद के लिए क्रिकेट खेल चुकी हैं...

खास बातें

  1. तेलंगाना की सिंधुजा रेड्डी अब अमेरिका में बस गई हैं
  2. वह हैदराबाद की अंडर-19 टीम की कैप्टन भी रह चुकी हैं
  3. वह टी-20 वर्ल्ड कप क्वालिफायर में अमेरिकी टीम का हिस्सा होंगी
हैदराबाद: जहां भारत की पुरुष क्रिकेट टीम विराट कोहली के नेतृत्व में विंडीज की धरती पर धमाल मचा रही है, वहीं मिताली राज के नेतृत्व में महिला क्रिकेट टीम वर्ल्ड कप खेल रही है. वैसे जहां पुरुष क्रिकेटरों की उपलब्धियों का खूब बखान किया जाता है, वहीं भारतीय महिला क्रिकेटरों की उपलब्धियों की चर्चा दबकर रह जाती है. मिताली राज को ही लीजिए महिला क्रिकेट में वह 'सचिन तेंदुलकर' से कम नहीं हैं. रिकॉर्डों में वह कई पुरुष खिलाड़ियों को भी मात दे चुकी हैं, लेकिन उनकी चर्चा न के बराबर होती है. वैसे देश में कई ऐसे क्रिकेटर हैं, जो मौके की तलाश में ही रह जाते हैं और वह दिन नहीं आता. तेलंगाना की एक महिला क्रिकेटर के साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ, लेकिन उनकी किस्मत अमेरिका जाकर पलटी और अब उनके पास कुछ कर दिखाने का मौका आ गया है...

तेलंगाना की रहने वाली क्रिकेटर सिंधुजा रेड्डी को अमेरिका की राष्ट्रीय महिला क्रिकेट टीम में जगह मिल गई है. रेड्डी अब अगस्त में स्कॉटलैंड के खिलाफ होने वाले टी-20 विश्व कप क्वालिफायर में अमेरिकी टीम से खेलेंगी. इस अमेरिकी टीम में हाल ही में खेल की संचालन संस्था आईसीसी से मान्यता मिली है. अब उन्हें उम्मीद है कि वह 2020 में होने वाले विश्व कप में अमेरिकी टीम का हिस्सा होंगी.

तेलंगाना में नालगोंडा के अमंगल गांव की रहने वाली विकेटकीपर-बल्लेबाज रेड्डी हैदराबाद के लिए खेल चुकी हैं. वह हैदराबाद की अंडर-19 टीम की कप्तान भी रह चुकी हैं. हालांकि उनको राष्ट्रीय टीम से खेलने का मौका नहीं मिला.

शादी के बाद पहुंची अमेरिका...
सिंधुजा रेड्डी ने अपनी स्कूली शिक्षा हैदराबाद से ही पूरी की है. अमेरिका जाने से पहले उन्होंने बीटेक और एमबीए की पढ़ाई पूरी की. इसके बाद उनकी शादी सिद्धार्थ रेड्डी से हुई और वह अमेरिकी जा बसीं. रेड्डी ने तो क्रिकेट लगभग छोड़ ही दिया था, लेकिन थोड़े प्रयास से उनको यह मौका मिल गया.

अमेरिकी टीम में चुने जाने पर रेड्डी के माता-पिता बेहद खुश हैं. उनके पिता स्पर्धर रेड्डी कहते हैं कि बचपन से ही उनका रुझान क्रिकेट की ओर रहा और उन्होंने अपनी स्कूल टीम के लिए क्रिकेट खेली है. उनकी मां लक्ष्मी रेड्डी ने कहा कि शादी के बाद भी उन्होंने अपना संघर्ष जारी रखा और इस मुकाम तक पहुंची.

तेलंगाना सरकार के सूचना विभाग की विज्ञप्ति के अनुसार सिंधुजा अमेरिका की महिला क्रिकेट टीम की विकेटकीपर बल्लेबाज होंगी. अब देखना होगा कि रेड्डी वर्ल्ड कप तक पहुंच पाती हैं या नहीं.
(इनपुट एजेंसी से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement