NDTV Khabar

वर्ल्ड कप : चाहे ब्लाइंड हो या सामान्य क्रिकेट, टीम इंडिया ने पाकिस्तान को हर जगह है धोया...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वर्ल्ड कप : चाहे ब्लाइंड हो या सामान्य क्रिकेट, टीम इंडिया ने पाकिस्तान को हर जगह है धोया...

टीम इंडिया ने टी-20 वर्ल्ड कप से लेकर वनडे वर्ल्ड कप में हमेशा पाकिस्तान को हराया है...

खास बातें

  1. ब्लाइंड वर्ल्ड कप 2012-13 में भी पाकिस्तान को हराया
  2. टी-20 वर्ल्ड कप हो, या वनडे वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से नहीं हारा भारत
  3. 2003 वर्ल्ड कप ने सचिन ने की थी वकार युनूस की धुनाई
नई दिल्ली:

भारतीय टीम फिर ब्‍लाइंड टी20 वर्ल्‍डकप चैंपियन बन गई है. भारतीय टीम ने रविवार को यहां फाइनल मुकाबले में चिरपरिचित प्रतिद्वंद्वी पाकिस्‍तान को 9 विकेट से धो दिया. पाकिस्‍तानी टीम ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए भारत को जीत के लिए 198 रन रन लक्ष्‍य दिया, जिसे टीम ने महज एक विकेट खोकर हासिल कर लिया. भारत की ओर से ओपनर बल्लेबाज प्रकाश जयरमैया ने नाबाद 99 रन और अजय कुमार ने 43 रन की पारी खेली. केतन पटेल ने भी महत्वपूर्ण 26 रनों का योगदान दिया. क्रिकेट के दो सबसे बड़े चिर प्रतिद्वंद्वी भारत-पाकिस्तान के बीच कई मुकाबले हुए हैं. सबसे दिलचस्प बात यह है कि चाहे टी-20 फॉरमैट का वर्ल्ड कप हो, या एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों का वर्ल्ड कप, पाकिस्तान कभी भी टीम इंडिया को हरा नहीं पाया है, भले ही मैच किसी भी स्तर पर खेला गया हो. केवल ब्लाइंड वर्ल्प कप के 50 ओवर के संस्करण में केवल एक बार ऐसा मौका आया जब पाकिस्तान को भारत पर जीत मिली. तीसरे ब्लाइंड वर्ल्ड कप 2006 में भारत को हार का सामना करना पड़ा था.

दोनों टीमें अब तक कुल छह बार एक-दूसरे से वनडे वर्ल्ड कप में भिड़ी हैं. भारत और पाकिस्तान वर्ल्ड कप में 2015, 2011, 2003, 1999, 1996, 1992 में एक दूसरे के सामने आए लेकिन शिकस्त पाक को मिली.


ब्लाइंड वर्ल्ड कप 2012-13 में भी पाकिस्तान को हराया
भारतीय टीम ने वर्ष 2012 में भी ब्‍लाइंड टी20 वर्ल्‍डकप में पाकिस्तान को धूल चटाई थी. तब टीम ने 29 रन से जीत हासिल की थी. मैच के हीरो रहे थे केतन पटेल जिन्होंने महज 43 गेंदों 98 रनों की तूफानी पारी खेली थी. भारतीय टीम ने पाकिस्तान के सामने 259 रनों का लक्ष्य रखा था. जवाब में पाकिस्तान की पूरी टीम 229 रनों पर सिमट गई थी.
 
2003 वर्ल्ड कप, सचिन ने की थी वकार युनूस की धुनाई
सेंचुरियन में 2003 वर्ल्ड कप के एक लीग मैच में पाकिस्तान ने सईद अनवर के शतक के बदौलत 273 का स्कोर खड़ा किया था. बाद में टीम इंडिया की ओर से मास्टर ब्लास्टर बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने शोएब अख्तर और वकार युनूस की जमकर खबर ली. सचिन ने 98 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली. भारत ने 4 ओवर बाकी रहते हुए लक्ष्य हासिल कर लिया.  

टिप्पणियां

2011 वर्ल्ड कप का सेमीफाइल
2011 का वर्ल्ड कप का सेमीफाइनल भारत और पाकिस्तान के प्रशंसकों के लिए फाइनल से कम नहीं थी. मोहाली में खेले गए इस हाई वोल्टेज मुकाबले में टीम इंडिया ने पहले खेलते हुए 260 रन बनाए थे. भारतीय गेंदबाजों ने पाक टीम को 231 पर ऑल आउट कर मैच जीत लिया था. जहीर, नेहरा, मुनाफ, हरभजन और युवराज ने 2-2 विकेट लिए थे, जबकि सचिन 85 रनों की जुझारू पारी खेली थी.

वर्ष 1999 में सुपर सिक्स में दी मात
वर्ष 1999 के वर्ल्ड कप के दौरान सुपर सिक्स दौर में दोनों टीमें एक दूसरे के सामने आई थीं, जिसमें 'मैन ऑफ द मैच' रहे वेंकटेश प्रसाद की घातक गेंदबाजी की मदद से भारत ने 47 रन से पाक को हराया था. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए राहुल द्रविड़ के 61 और मोहम्मद अज़हरुद्दीन के 59 रनों के अलावा सचिन तेंदुलकर के 45 रनों की मदद से छह विकेट के नुकसान पर 227 रन का स्कोर खड़ा किया. जवाब में पाकिस्तान 45.3 ओवर में कुल 180 रन के कुल योग पर ऑल आउट हो गया.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement