कुछ ऐसे Gautam Gambhir छह साल की पाकिस्तानी बच्ची के लिए बजरंगी भाईजान बन गए!

कुछ ऐसे Gautam Gambhir छह साल की पाकिस्तानी बच्ची के लिए बजरंगी भाईजान बन गए!

Gautam Gambhir की फाइल फोटो

खास बातें

  • यह है भारत का गंभीर जिगरा !
  • गौतम की गंभीर अदा का जवाब नहीं!
  • प्रधानमंत्री और विदेशमंत्री का आभार व्यक्त किया
नई दिल्ली:

एक ऐसे समय जब भारत-पाकिस्तान के बीच रिश्ते सबसे न्यूनतम स्तर पर चल रहे हैं, ऐसे समय गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने शनिवार को दिखाया कि क्यों वह मैदान के बाहर जो 'शॉट' लगाते हैं, वह एकदम जुदा होता है! दरअसल बीजेपी सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) हाल ही में छह साल की पाकिस्तानी बच्ची के लिए बजरंगी भाईजान बन गए!! गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने इस छह साल की बच्ची ओमैमा अली (Omaima Ali) को वीसा दिलाने में मदद की, जिसको हार्ट सर्जरी की दरकार थी. गंभीर (Gautam Gambhir) ने मदद का हाथ बढ़ाते हुए यह सुनिश्चित किया कि ओमैमा अली को भारत आने के लिए वीसा मिल जाए

यह भी पढ़ें:  इसलिए Shahbaz Nadeem को तीसरे टेस्ट की इलेवन में शामिल किया गया

वैसे भारत का हमेशा से ही यह रवैया रहा है कि पाकिस्तान के साथ तनावपूर्ण संबंधों को उसने कभी  भी उन आम पाकिस्तानी लोगों के बीच नहीं आने दिया, जिन्हें चिकित्सीय मदद की दरकार थी. और गंभीर ने इसी शानदार अध्याय में एक और पन्ना जोड़ते हुए दिखाया कि यही भारत की सोच और संस्कृति है. गंभीर ने इस पाकिस्तानी बच्ची और उसके परिवार के लिए वीसा का इंतजाम करने की जिम्मेदारी पूरी तरह अपने ऊपर ले ली. गंभीर ने इस बच्ची की मदद के लिए विदेश मंत्री जयशंकर प्रसाद को पत्र लिखा. बच्ची के माता-पिता उसकी हार्ट सर्जरी के लिए भारत लाना चाहते थे. और जयशंकर प्रसाद ने भी गंभीर के पत्र का तुरंत जवाब देते हुए जरूरी कदम उठाए. उन्होंने इस्लामाबाद स्थित भारतीय दूतावास को बच्ची और उसके माता-पिता को वीसा जारी करने का निर्देश दिया. कार्यवाही पूरी होने के बाद गंभीर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इस घटना का जिक्र किया. 

यह भी पढ़ें:  Rohit Sharma ने बल्लेबाजों को दिया नया चैलेंज, ऐतिहासिक Record

अब यह तो आप जानते ही हैं कि गंभीर पाकिस्तान के कड़े आलोचक हैं और पड़ोसी देश को नियमित अंतराल पर नसीहतें देते रहते हैं. बहरहाल, गंभीर ने कहा कि उन्हें केवल पाकिस्तानी सरकार और उसके देश में उभर रहे आतंकी संगठनों से समस्या है. उन्होंने कहा कि मैंने बच्ची की मदद को लेकर विदेश मंत्रालय से अनुरोध किया. मैं उनका आभारी हूं कि उन्होंने मेरे अनुरोध को स्वीकार करते हुए वीसा प्रदान किया. मैं प्रधानमंत्री और गृहमंत्री का भी शुक्रिया अदा करता हूं. उम्मीद है कि बच्ची का यहां अच्छी तरह इलाज हो सकता है. 

VIDEO: दूसरे टेस्ट से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान विराट कोहली.

गंभीर ने कहा कि मैंने हमेशा से कहा कि मुझे पाकिस्तान सरकार, आईएसआई और उसके देश में स्थित आतंकी संगठनों से समस्या है, लेकिन अगर कोई छह साल की बच्ची का भारत में इलाज होता है, तो इससे बेहतर और क्या बात हो सकती है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com