इसलिए बीसीसीआई ने दिए ईशांत शर्मा और रविचंद्रन अश्विन को रणजी ट्रॉफी मैचों से हटने के निर्देश

ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच दूसरा टेस्ट 14 और तीसरा बॉक्सिंग डे (26 दिसंबर) और चौथा और आखिरी टेस्ट मैच 3 जनवरी से खेला जाएगा

इसलिए बीसीसीआई ने दिए ईशांत शर्मा और रविचंद्रन अश्विन को रणजी ट्रॉफी मैचों से हटने के निर्देश

ईशांत शर्मा और आर. अश्विन

खास बातें

  • दोनों ने खेले अपनी-अपनी टीमों के लिए रणजी मैच
  • ईशांत ने हिमाचल प्रदेश के खिलाफ लिए थे चार विकेट
  • मोहम्मद शमी से भी 15 ओवर से ज्यादा गेंदबाजी न कराने को कहा
नई दिल्ली:

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई, BCCI) ने ईशांत शर्मा (Ishant Sharma is instructed to skip Ranji Trophy matches) और रविचंद्रन अश्विन से रणजी ट्रॉफी के अगले राउंड के मैचों से हटने को कहा है. याद दिला दें कि टीम इंडिया एक दिन बाद ही 21 नवंबर से ऑस्ट्रेलिया दौरे में टी-20 सीरीज से अपने अभियान की शुरुआत कर रही है. इसके बाद टेस्ट सीरीज खेली जाएगी. भारतीय टीम (India first test starts from 6th December) अपना पहला टेस्ट मैच छह दिसंबर से खेलेगी. पिछले कुछ महीनों में भारत को दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में बड़े मौके मिलने के बावजूद हार का सामना करना पड़ा था. इसके खासतौर पर इंग्लैंड दौरे के प्रदर्शन के बाद टीम इंडिया को तीखी आलोचना का सामना करना पड़ा था. 

आर. अश्विन और ईशांत शर्मा दोनों ही भारतीय टेस्ट टीम का हिस्सा हैं. और यह दोनों ही पहले टेस्ट से पहले पर्याप्त मैच प्रैक्टिस हासिल करने के लिए अपनी-अपनी टीमों के लिए रणजी ट्रॉफी मैच खेल रहे हैं. जहां ईशांत दिल्ली टीम का हिस्सा हैं, तो अश्विन तमिलनाडु के लिए रणजी ट्रॉफी खेलते हैं. लेकिन बीसीसीआई ने अब इन दोनों को ही अगले राउंड के मैचों से हटने के निर्देश दिए हैं. बोर्ड का यह निर्देश क्रिकेटप्रेमियों को थोड़ा अजीब लग रहा है, लेकिन ऐसे निर्देश देने के पीछे बोर्ड के अपने तर्क हैं. 
 
यह भी पढ़ें:  Women's World T20: सेमीफाइनल में इंग्‍लैंड से मुकाबला करेगी भारतीय महिला टीम

ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच दूसरा टेस्ट 14 और तीसरा बॉक्सिंग डे (26 दिसंबर) और चौथा और आखिरी टेस्ट मैच 3 जनवरी से खेला जाएगा. इंग्लैंड में हार के लिए सनी गावस्कर ने खिलाड़ियों के पास पर्याप्त मैच अभ्यास न होने के कारण हार की बात कही थी. ऐसे में भारतीय खिलाड़ी कम से कम अपने घर पर प्रथण श्रेणी मैचों के जरिए कुछ लय हासिल करना चाहते हैं. पर बीसीसीआई ने ऑस्ट्रेलिया के लंबे दौरे को देखते हुए वर्कलोड संतुलित करने के लिए लिया है. बोर्ड के अधिकारी नहीं चाहते कि खिलाड़ियों का प्रदर्शन बहुत ज्यादा खेलने के चलते ऑस्ट्रेलिया में प्रभावित हो. अश्विन और ईशांत दोनों के ही अनुभव की ऑस्ट्रेलिया में बहुत ही ज्यादा जरुरत पड़ेगी. यही वजह है कि बोर्ड ने इन्हें खेल के बोझ से बचाने के लिए रणजी मैचों से हटने के लिए कहा है. 

Newsbeep

VIDEO: जानिए कि धोनी के टी-20 टीम से बाहर होने पर क्रिकेट पंडितों ने क्या कहा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा कि ईशांत को ऑस्ट्रेलिया में बहुत ज्यादा गेंदबाजी करनी है. ईशांत ने दिल्ली के लिए हिमाचल प्रदेश के खिलाफ खेले पहले रणजी ट्रॉफी मुकाबले में चार विकेट चटकाए थे. बीसीसीआई ने इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए भारतीय टेस्ट टीम के सदस्य तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी से भी टीमों को एक पारी में पंद्रह ओवर से ज्यादा गेंदबाजी न कराने के निर्देश दिए हैं.