NDTV Khabar

'कुछ यूं' बीसीसीआई को सांप सूंघ गया कोहली की विराट सैलरी मांग पर!

भारतीय कप्तान विराट कोहली, कोच रवि शास्त्री और महेंद्र सिंह धोनी की कुछ दिन पहले ही टीम इंडिया व बाकी घरेलू खिलाड़ियों को ज्यादा वेतन दिए जाने की मांग पर बीसीसीआई को सांप सूंघता सा गया दिखाई पड़ रहा है!

6 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
'कुछ यूं' बीसीसीआई को सांप सूंघ गया कोहली की विराट सैलरी मांग पर!

बीसीसीआई का लोगो

खास बातें

  1. क्या बीसीसीआई खिलाड़ियों को ज्यादा वेतन देगा?
  2. क्या विनोद राय को सही जानकारी देगा बोर्ड?
  3. बीसीसीआई की नीयत व इरादों पर उठे सवाल
नई दिल्ली: भारतीय कप्तान विराट कोहली, कोच रवि शास्त्री और महेंद्र सिंह धोनी की कुछ दिन पहले ही टीम इंडिया व बाकी घरेलू खिलाड़ियों को ज्यादा वेतन दिए जाने की मांग पर बीसीसीआई को सांप सूंघता सा गया दिखाई पड़ रहा है! बीसीसीआई के रवैये के कारण खिलाड़ियों के अनुबंध राशि में इजाफे को लेकर होने वाली दूसरी बैठक स्थगित हो गई है. यह स्थगन बीसीसीआई की नीयत और इरादों पर सवाल खड़ा करने के लिए काफी है. बता दें कि इस मुद्दे पर दूसरी बैठक छह दिसम्बर तक आयोजित होनी थी. लेकिन ऐसा नहीं हो सका. कारण यह रहा कि बीसीसीआई के अधिकारी इस बाबत विनोद राय द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब नहीं दे सके.   

वैसे मीटिंग के स्थगित होने का एक कारण सूत्र यह भी बता रहे हैं कि बोर्ड के अधिकारियों ने पिछली बैठक में राय को सही जानकारी नहीं दी थी. बोर्ड के द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़े तथ्यों से मेल नहीं खा रहे थे. बता दें कि प्रशासकीय कमेटी के चेयरमैन विनोद राय ने पहली बैठक के बाद बीसीसीाई के कर्मचारियों को खिलाड़ियों को किए जाने वाले 'वेतन भुगतान की सही व्यवस्था व ढांचे' से उन्हें अवगत कराने के निर्देश दिए थे. कप्तान विराट कोहली और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की मांग के बाद विनोद राय ने बीसीसीआई को ये निर्देश दिए थे.

यह भी पढ़ें : इटली में होगी विराट-अनुष्का की शादी, रिश्तेदारों ने भी बुक कराए टिकट!

दरअअसल कोहली और धोनी दोनों ने यह जानने की इच्छा जाहिर की थी कि सीरीज के प्रायोजकों और टीम इंडिया के लोगो स्पॉन्सरों से मिलने वाले पैसे को बीसीसीआई कैसे खर्च करता है. साथ ही, ये दोनों यह भी जानना चाहते थे कि उनके वार्षिक अनुबंध के आधार पर बीसीसीसीआई क्या भुगतान करता है. इसके अलावा ये दोनों ही दिग्गज यह भी जानना चाहते थे कि क्या खिलाड़ियों को उनका पूरा हिस्सा मिलता भी है, या क्या प्रायोजकों से मिलने वाली राशि राज्यों एसोसिएशनों को बोर्ड देता भी है? पहली मीटिंग में भी धोनी और कोहली को बीसीसीआई के भुगतान की पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी नहीं दी गई थी.


यह भी पढ़ें : IPL के इस सीजन में जोंटी रोड्स नहीं यह खिलाड़ी होगा मुंबई इंडिया का फील्डिंग कोच

सूत्रों की मानें, तो बीसीसीआई ने खिलाड़ियों को यह ही बताया हुआ है कि बोर्ड अपनी एसोसिएशनों को पैसा नहीं देता और वह अपनी सारी कमाई खिलाड़ियों के बीच ही बांटता है. लेकिन खिलाड़ियों को बोर्ड की इस बात पर शक है और टीम मैनेजमेंट इस मुद्दे पर स्थिति स्पष्ट करना चाहता है. वहीं कोच रवि शास्त्री भी चाहते हैं कि कोच को भी ज्यादा वेतन मिले. 

VIDEO: दक्षिण अफ्रीका दौरे में खास बात बोल रहे हैं अजय रात्रा

कुल मिलाकर प्रशासकीय कमेटी के चेयरमैन विनोद राय को वेतन भुगतान ढांचे से अवगत कराने के मामले में बीसीसीआई घिरता हुआ और बैकफुट पर आता दिखाई पड़ रहा है. अब देखने की बात यह होगी कि इस मुद्दे पर अगली बैठक कितनी जल्द होती है और बीसीसीआई इस बहुत ही अहम मुद्दे पर रवैया अख्तियार करता है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement