इसलिए बुमराह हमेशा विराट के आभारी रहेंगे, जैसा मैं सदगोपन रमेश के प्रति हूं, हरभजन ने कहा

इसलिए बुमराह हमेशा विराट के आभारी रहेंगे, जैसा मैं सदगोपन रमेश के प्रति हूं, हरभजन ने कहा

हरभजन सिंह की फाइल फोटो

खास बातें

  • हर तरफ बुमराह की चर्चा !
  • हैट्रिक लेने वाले बुमराह सिर्फ तीसरे गेंदबाज
  • दूसरे टेस्ट के दूसरे दिन चटकाए छह विकेट
नई दिल्ली:

हरभजन सिंह का मानना ​​है कि जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) हमेशा विराट कोहली के ऋणी रहेंगे जिनकी बदौलत उन्हें हैट्रिक मिली जैसे वह 18 साल पहले अविश्वसनीय कैच के लिए सदगोपन रमेश के आभारी हैं.  टेस्ट क्रिकेट में भारत के लिये पहली हैट्रिक बनाने वाले हरभजन ने बुमराह (Jasprit Bumrah) के प्रदर्शन की तारीफ की जो यह उपलब्धि हासिल करने वाले तीसरे (इरफान पठान दूसरे) गेंदबाज बने. वर्ष 2001 में हरभजन ने ताकतवर आस्ट्रेलिया (रिकी पोंटिंग, एडम गिलक्रिस्ट और शेन वार्न) के खलाफ हैट्रिक ली थी. शनिवार को बुमराह (Jasprit Bumrah Hat Trick) ने लगातार तीन गेंदों में डेरेन ब्रावो, समारा ब्रुक्स और रोस्टन चेज के विकेट लिए. 

यह भी पढ़ें: टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक लेकर इतिहास रचने वाले तीसरे भारतीय गेंदबाज बने जसप्रीत बुमराह

हरभजन ने कहा, ‘‘इस हैट्रिक का श्रेय बुमराह के साथ विराट को भी जाता है. गेंदबाज को नहीं लगा था कि बल्लेबाज आउट है लेकिन कप्तान को अंदर से लग रहा था कि वह आउट है. अगर विराट डीआरएस नहीं लेते तो क्या होता? कप्तान का यह फैसला बेहतरीन था जिसकी वजह से वह शानदार प्रयास कर सका.'हरभजन को अब भी लगता है कि रमेश के शानदार प्रयास के बिना वह यह इतिहास नहीं बना सकते थे. उन्होंने कहा, ‘मुझे याद है जब मैंने दादा (सौरव गांगुली) के साथ चर्चा करने के बाद गेंदबाजी की. सच कहूं तो रमेश उस टीम में इतना फुर्तीला नहीं था. फिर भी फॉरवर्ड शार्ट लेग पर उन्होंने शानदार कैच लपका तो मैंने उन्हें कहा था, ‘दोस्त मेरी हैट्रिक तुम्हारी बदौलत मिली'

यह भी पढ़ें: इस वजह से हनुमा विहारी ने दिवंगत पिता को समर्पित किया पहला टेस्ट शतक

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 711 विकेट चटकाने वाले हरभजन ने कहा, ‘इसलिये मेरा मानना है कि कुछ चीजें एक साथ होती हैं तो ऐसा ही कुछ होता है. तब यह रमेश का शानदार कैच था और अब यह विराट का फैसला रहा.' हरभजन ने कहा कि राहुल द्रविड़ ने जिस तरह इस हैट्रिक का लुत्फ उठाया तो वह हैरान रह गए थे. उन्होंने कहा, ‘मैंने राहुल को इतना उत्साहित कभी नहीं देखा था, वह खुशी से उछल रहा था. शायद, उसे भी नहीं लगा था कि रमेश इस तरह का कैच लपक सकता था. वह मानते हैं कि भारतीय क्रिकेट भाग्यशाली है कि उसके पास बुमराह जैसा गेंदबाज है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: धोनी के संन्यास पर युवा क्रिकेटरों के विचार सुन लीजिए. 

उन्होंने कहा, ‘भारतीय क्रिकेट भाग्यशाली है कि उसके पास बुमराह जैसा मैच विजेता है. हैट्रिक से उसकी महानता बढ़ेगी. बिना इसके भी वह शानदार गेंदबाज है। पिछले मैच में सात ओवर में पांच विकेट और इस मैच में नौ ओवर में छह विकेट. आप इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं कर सकते. वह नायाब हीरा है'