NDTV Khabar

IND VS SL: अब 'कुछ ऐसे' दिल्ली के प्रदूषण जैसे हालात से निपटेगी आईसीसी!

पिछले दिनों दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर टेस्ट में प्रदूषण को लेकर श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने आईसीसी से शिकायत की. अब प्रदूषण से निपटने के लिए आईसीसी ने शुक्रवार को नए तरीके का ऐलान कर दिया है.

30 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND VS SL: अब 'कुछ ऐसे' दिल्ली के प्रदूषण जैसे हालात से निपटेगी आईसीसी!

खास बातें

  1. दिल्ली टेस्ट मैच के हालात की जांच करेगी आईसीसी
  2. चिकित्सीय पैनल लेगा दिल्ली के बारे में फैसला
  3. क्या 'दाग' से बच पाएगा दिल्ली टेस्ट?
नई दिल्ली: पिछले दिनों दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच का आयोजन सही था या गलत, इस बात का फैसला अब 'खास लोग' करेंगे. वहीं अगले साल फरवरी में इस विवाद के बारे में भी विस्तार से चर्चा की जाएगी. इस बात का ऐलान शुक्रवार को इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने किया. साथ ही, आईसीसी ने भविष्य में प्रदूषण से निपटने के लिए नई पहल की है, जिसके बाद दिल्ली जैसे शहरों के लिए इंटरनेशनल मैचों का आयोजन मिलना मुश्किल हो जाएगा 

आईसीसी ने जारी बयान में, हमने इस बात पर ध्यान दिया है कि दिल्ली में टेस्ट मैच किन हालात में खेला गया. साथ ही, हमने पहले से ही अपनी चिकित्सीय कमेटी को यह मुद्दा भेज दिया है, जिससे भविष्य में इस तरह के मुद्दे से निपटने के लिए दिशा-निर्देश और मानक तय किए जा सकें. अब यह तो आप जानते ही हैं कि कोटला टेस्ट मैच में श्रीलंकाई खिलाड़ी कैसे प्रदूषण से निपटने के लिए चेहरे पर मास्क पहनते दिखाई पड़े थे. यह एक ऐसी 'तस्वीर' थी, जो पहले कभी क्रिकेट इतिहास में मैदान पर तो नहीं ही देखी गई थी.

यह भी पढ़ें: IND VS SL: 'यह खास शर्त' पूरी होगी, तभी टीम इंडिया श्रीलंका के खिलाफ वनडे में बन पाएगी नंबर-1

जब इस तरह के हालात पैदा हुए, तो मैच रेफरी से लेकर अंपायर भी भ्रमित और नर्वस दिखाई पड़े क्योंकि मौसम, बारिश को लेकर तो आईसीसी की किताब में नियम हैं, लेकिन प्रदूषण पर स्थिति साफ नहीं है.  दिल्ली टेस्ट के दौरान श्रीलंकाई खिलाड़ियों को मैदान पर उल्टी करते हुए देखा गया, तो कुछ खिलाड़ियों ने सीने में दर्द और जी मिचलाने की शिकायत की थी.बहरहाल अब यह मुद्दा आईसीसी की चिकित्सीय टीम के पाले में है. और चिकित्सीय कमेटी पैतृक संस्था के आला अधिकारियों को इंटरनेशलन क्रिकेट को प्रभावित करने वाले किसी भी चिकित्सीय मुद्दे पर अपनी सिफारिशें दे सकती है.
 
साथ ही, यह कमेटी आईसीसी टूर्नामेंट आयोजित कराने वाले देशों के लिए चिकित्सीय योजनाएं भी बना बना सकती है. वैसे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड पहले से ही इस बात का ऐलान कर चुका है कि भविष्य में नवंबर और दिसम्बर के महीने के दौरान दिल्ली को अंतरराष्ट्रीय मैचों की मेजबानी से वंचित किया जा सकता है. 


VIDEO: दिल्ली ड्रॉ टेस्ट रहने के पीछे की वजह बता रहे हैं हर्षा भोगले  कुल मिलाकर अब इसका ज्यादा मतलब नहीं है कि दिल्ली में मैच ज्यादा प्रदूषण में हुआ था, या कम प्रदूषण में. बीसीसीआई ने इस बाबत पहले से ही ऐलान कर दिया है. हां यह देखने वाली बात जरूर होगी कि प्रदूषण से भविष्य में निपटने के लिए आईसीसी क्या मानक तय करती है और ये मानक कब से लागू होते हैं. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement