NDTV Khabar

इस कारण सौरव गांगुली ने जस्टिस लोढ़ा की सिफारिशों को लेकर बीसीसीआई के सामने हाथ खड़े किए

बोर्ड की 13 राज्य एसोसिएशनों ने हलफनामा दाखिल कर यह सूचना दे दी है कि वे सिफारिशों को लागू करने को राजी हैं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इस कारण सौरव गांगुली ने जस्टिस लोढ़ा की सिफारिशों को लेकर बीसीसीआई के सामने हाथ खड़े किए

सौरव गांगुली

खास बातें

  1. सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन भी मानने को राजी नहीं
  2. कैब के पास मीटिंग के लिए समय नहीं!
  3. 13 राज्य सिफारिशें जस की तस लागू करने को राजी
कोलकाता: क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित जस्टिस लोढ़ा कमेटी द्वारा बीसीसीआई में सुधार के लिए लागू की जाने वाली सिफारिशों के अमल को लेकर हाथ खड़े कर दिए हैं. इस बाबत सौरव गांगुली ने पत्र लिखकर बोर्ड को सूचित कर दिया है. कुछ ऐसा ही जवाब सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष मधुकर वोरा ने भी दिया है. 
  बता दें कि कुछ दिन पहले ही बीसीसीआई के सचिव अमिताभ चौधरी ने हाल ही में सभी राज्य एसोसिएशनों को मेल लिखकर बोर्ड के संविधान में बदलाव को लेकर यह जानकारी मांगी थी कि अब तक उन्होंने इस बारे में क्या कदम उठाए हैं. चौधरी ने इन एसोसिएशनों को यह जानकारी दी थी कि 13 एसोसिएशनों ने हलफनामा दाखिल कर जस्टिस लोढ़ा कमेटी की सभी सिफारिशों को जस का तस मान मान लिया है. 

यह भी पढ़ें: बुरे हाल के बाद इंग्लैंड दौरे के लिए बीसीसीआई ने उठाया 'बड़ा कदम', राहुल द्रविड़ ऐसे करेंगे मदद

लेकिन सौरव गांगुली की मानें, तो उन्हें इन सिफारिशों को लागू करवाने में मुश्किलें आ रही हैं. बता दें कि बीसीसीआई से जुड़ी ज्यादातर राज्य क्रिकेट एसोसिएशन जस्टिस लोढ़ा की इन सिफारिशों में बड़े स्तर पर बदलाव चाहती हैं. यही कारण है कि इन एसोसिएशनों ने इन सिफारिशों को लागू करने के लिए हलफनामा दायर नहीं किया है. लेकिन सौरव गांगुली की मानें, तो उनकी एसोसिएशन को इन्हें न स्वीकार करने का कारण अलग है. 

VIDEO :  सेंचुरियन में शतक बनाने के विराट कोहली
सौरव गांगुली ने कहा है कि हम सुप्रीम कोर्ट में यह शपथपत्र दायर करेंगे कि हमें इन सिफारिशों को लागू करने में व्यावहारिक मुश्किलें आ रही हैं. हमने इस बारे में पहली एजीएम में ही फैसला ले लिया था. वहीं, 13  राज्यों द्वारा सिफारिशें स्वीकार करने के मेल पर हमें दूसरी एजीएम में फैसला लेना था. लेकिन समय के अभाव के कारण मीटिंग का आयोजन नहीं हो सका.

टिप्पणियां



 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement