NDTV Khabar

इसलिए बिहार को रणजी ट्रॉफी में खिलाने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया निर्देश

बिहार क्रिकेट पर पिछले कई सालों से लगा ग्रहण हट गया है. सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को बिहार की टीम को रणजी ट्रॉफी का हिस्सा बनाने को कहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इसलिए बिहार को रणजी ट्रॉफी में खिलाने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया निर्देश

खास बातें

  1. बिहार क्रिकेट में लौटी बहार
  2. बिहार टीम को रणजी ट्रॉफी में खिलाया जाए-सुप्रीम कोर्ट
  3. सर्वोच्च न्यायालय का बीसीसीआई को निर्देश
नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को बिहार क्रिकेट एसोसिएशन को रणजी ट्रॉफी और अन्य मैच खेलने की इजाजत देने को कहा है. कोर्ट ने कहा है कि ये अंतरिम आदेश क्रिकेट की भलाई के लिए किया गया है. हालांकि इस फैसले के बाद बिहार की टीम अगले साल से ही रणजी टूर्नामेंट का हिस्सा बन पाएगी. और अच्छी  बात यह है कि सुप्रीम कोर्ट के इस निर्देश के बाद राज्य के खिलाड़ियों के लिए फिर से भारतीय टीम के लिए दावेदारी पेश करने का रास्ता जरूर खुल गया है. 


सीजेआई दीपक मिश्रा ने कहा, 'बिहार सत्तर के दशक से क्रिकेट खेल रहा है. उन्होंने कहा, 'झारखंड और बिहार क्रिकेट को लेकर जो विवाद चल रहा है, उसे बाद में सुलझाया जाएगा. पहले बिहार के खिलाड़ियों और टीम को खेलने दिया जाए'. दीपक मिश्रा ने यह भी कहा कि हम यह भी साफ कर दें कि यह अंतरिम आदेश दाखिल याचिकाओं पर नहीं बल्कि क्रिकेट और खिलाड़ियों के हित के लिए दिया गया है.  

यह भी पढ़ें : IND vs SA: पहला टेस्‍ट कल से, तेज गेंदबाजों का कांबिनेशन चुनने को लेकर दुविधा में भारतीय टीम मैनेजमेंट

टिप्पणियां
हालांकि बीसीसीआई के वकीलों ने अपनी बात जोर से कहते हुए कहा कि बिहार और झारखंड विवाद में हैं. और बिहार को रणजी ट्रॉफी में खेलने की इजाजत देना सही नहीं होगा. लेकिन दीपक मिश्रा ने कहा कि इन  दोनों से जुड़े जितने भी विवाद हैं, उन्हें बाद में हम देखेंगे. पहले बिहार को रणजी ट्रॉफी खेलने दी जाए. बिहार के युवा क्रिकेटरों को हक नहीं मारा जा सकता. 

VIDEO : दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले विराट कोहली ने कई गंभीर सवालों के जवाब दिए. 

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद अब बिहार के क्रिकेटरों का वह सपना पूरा हो गया, जो पिछले करीब दशक भर से लंबित पड़ा था. अब बिहार की टीम अगले रणजी ट्रॉफी सेशन में हिस्सा ले सकेगी. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement