सुरेश रैना के कारण चेन्नई सुपर किंग्स को सारी समस्याएं पैदा हुईं, इरफान पठान ने कहा

CSK vs SRH: रैना के बाद हरभजन के भी आईपीएल से नाम वापस लेने ने टीम का भला नहीं किया. इन दोनों ही बल्लेबाजों ने कोविड-19 के कारण पैदा हुए डर के चलते अपने परिवार के सदस्यों के साथ समय गुजारना ज्यादा बेहतर समझा. रैना के बाहर जाने के बाद चेन्नई ने उनकी जगह किसी दूसरे बल्लेबाज को नहीं लिया

सुरेश रैना के कारण चेन्नई सुपर किंग्स को सारी समस्याएं पैदा हुईं, इरफान पठान ने कहा

CSK vs SRH: इरफान की रैना के बारे में कही बात बात में बहुत दम है

नई दिल्ली:

टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने कहा है कि शुक्रवार को हैदराबाद के खिलाफ मैच से पहले तक चेन्नई सुपर किंग्स (CSk) अगर बेहतर करने में नाकाम रहा, तो उसकी बड़ी वजह टूर्नामेंट शुरू होने से पहले ही उसके स्टार बल्लेबाज सुरेश रैना (Suresh Raina) का इससे बहुत ज्यादा लेना-देना रहा. यह तो सच है कि रैना के हटने से चेन्नई की बल्लेबाजी की कमर टूट गई. रैना चेन्नई ही नहीं, बल्कि आईपीएल के इतिहास के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक रहे हैं. वहीं, रैना के बाद हरभजन के भी आईपीएल से नाम वापस लेने ने टीम का भला नहीं किया. इन दोनों ही बल्लेबाजों ने कोविड-19 के कारण पैदा हुए डर के चलते अपने परिवार के सदस्यों के साथ समय गुजारना ज्यादा बेहतर समझा. रैना के बाहर जाने के बाद चेन्नई ने उनकी जगह किसी दूसरे बल्लेबाज को नहीं लिया. और पठान का मानना है कि इसी के कारण टीम का संतुलन बुरी तरह से गड़बड़ा गया. 

स्टार स्पोटर्स् चैनल के एक कार्यक्रम में पठान ने कहा कि पहली बार ऐसा दिखाई पड़ रहा है, जब चेन्नई की टीम व्यवस्थित नहीं दिख रही है. आईपीएल शुरू होने से पहले ही टीम के साथ समस्याएं थीं. सुरेश रैना वापस गए, तो मैनेजमेंट ने उनकी जगह किसी और खिलाड़ी को भी नहीं लिया. पठान ने कहा कि इस वजह से टीम के संयोजन में बहुत ज्यादा समस्याएं  पैदा हो गई है. अगर रैना नंबर-3 पर बैटिंग करते, तो चेन्नई एक अतिरिक्त गेंदबाज के साथ खेल सकती थी, लेकिन अब उनके पास केवल पांच गेंदबाज हैं.  इरफान ने केदार जाधव को गेंदबाजी न देना भी चिंता की बात कहा. 

इरफान ने कहा कि जो भी टीम इस बार अतिरिक्त गेंदबाज के साथ खेल रही हैं, मजबूत दिखाई पड़ रही हैं. एमएस धोनी खुद एक बेहतरीन फिनिशर हैं. एमएस को यह सुनिश्चित करना चाहिए वह कम से कम दस ओवर बल्लेबाजी करें और चेन्नई को एक अतिरिक्त गेंदबाज के साथ खेलना चाहिए. अगर ऐसा होता है, तो चेन्नई की शेष समस्याएं अपने आप सही हो जाएंगी. चेन्नई ने उदघाटक मुकाबले में 19 सितंबर को मुंबई को हराकर अच्छी शुरुआत की थी, लेकिन उसके बाद से उसने अपने खेले दोनों मैच गंवाए. दिल्ली और राजस्थान दोनों के खिलाफ ही चेन्नई को हार नसीब हुई. 

VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी. ​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com