NDTV Khabar

..तो बीसीसीआई को गंवानी पड़ सकती है चैंपियंस ट्रॉफी व विश्व कप की मेजबानी, आईसीसी ने दी चेतावनी

बात यहीं तक नहीं है. इस जटिल मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित क्रिकेट प्रशासकीय कमेटी के पास आईसीसी को जवाब देने के लिए दस दिन का समय है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
..तो बीसीसीआई को गंवानी पड़ सकती है चैंपियंस ट्रॉफी व विश्व कप की मेजबानी, आईसीसी ने दी चेतावनी

आईसीसी का लोगो

खास बातें

  1. क्या भारत सरकार करेगी बीसीसीआई की मदद?
  2. बोर्ड के पास जवाब देने के लिए दस दिन का समय?
  3. आईसीसी के पास वसूली का विकल्प खुला!
दुबई:

यूं तो पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष शशांक मनोहर इस समय आईसीसी के अध्यक्ष हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि भारतीय बोर्ड को कुछ भी करने या मनमानी की छूट मिल जाएगी. आईसीसी ने बीसीसीआई को साफ चेतावनी दे दी है कि अगर उसने कुछ मुद्दे नहीं सुलझाए, तो उसे साल 2021 में होने वाली चैंपियंस ट्रॉफी और 2023 में होने वाले फिफ्टी-फिफ्टी वर्ल्ड कप के आयोजन से हाथ धोना पड़ सकता है. इन दोनों ही बड़ी प्रतियोगिताओं की मेजबानी भारत को करनी है. वैसे बोर्ड के लिए मसला ज्यादा बड़ा नहीं है. लेकिन आप चाहे कितने भी अमीर क्यों न हों, लेकिन 160 करोड़ रुपये की रकम कोई छोटी-मोटी रकम तो होती नहीं. अब देखना होगा कि बीसीसीआई आईसीसी की वॉर्निंग पर कैसा रवैया अख्तियार करता है. 

दरअसल मुद्दे बहुत ही जटिल हैं. और इन्हें सुलझाना भी पूरी तरह से बीसीसीआई के हाथ में नहीं है. लेकिन आईसीसी अपने तरीके से काम करती है. पैतृक संस्था है और उसे बड़े पहलुओं से सोचना पड़ता है. यही वजह रही कि जब पिछले कुछ समय के दौरान परिणाम नहीं निकला, तो अब नौबत आईसीसी के चेतावानी देने तक आ गई. 


बात यहीं तक नहीं है. इस जटिल मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित क्रिकेट प्रशासकीय कमेटी के पास आईसीसी को जवाब देने के लिए दस दिन का समय है. आईसीसी ने चेतावनी दी है कि अगर अगर उसने उसका पैसा नहीं चुकाया, तो वह वह रकम को बीसीसीआई को वित्तीय वर्ष में मिलने वाले मुनाफ में से काट लेगी.

यह भी पढ़ें: IND vs AUS 3rd Test: मेलबर्न टेस्ट से पहले विराट कोहली एंड कंपनी के लिए सबसे बड़ा सवाल

बात यह है कि आईसीसी ने भारत में साल 2016 में आयोजित हुए टी-20 विश्व कप आयोजन  में भारत की राज्य और केंद्र सरकारों द्वारा वसूले गए करीब 160 करोड़ रुपये की क्षतिपूर्ति करने को कहा है. जब भारत ने टूर्नामेंट का आयोजन किया था तो न तो केंद्र सरकार से ही कर में छूट मिली. और न ही राज्य सरकरा से. आईसीसी पिछले दो साल से बीसीसीआई से यह मुद्दा सुलझाने को कह रहा है, लेकिन आप समझ सकते हैं कि उसके हाथ में नहीं है.

टिप्पणियां

VIDEO:  जानिए कि एडिलेड टेस्ट जीत के बाद विराट कोहली ने क्या कहा. 

यही वजह है कि अब तंग हारकर आईसीसी ने बीसीसीआई को चेतावनी दे डाली है कि यदि उसने 160 करोड़ रुपये नहीं दिए, तो इसकी गाज चैंपियंस ट्रॉफी और विश्व कप के आयोजन पर गिर सकती है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement