...तो मैं काफी पहले पाकिस्तान के खिलाफ सभी 10 विकेट ले लेता, अनिल कुंबले ने कहा

कुंबले (Anil Kumble) ने कहा कि मैं नहीं सोचता कि आप किसी मैच में सभी दस विकेट चटकाने की मनोदशा के साथ मैदान पर उतरते हैं. हालांकि, अब कड़ी मेहनत और तैयारी करते हैं कि नंबर-1 से लेकर 11 बल्लेबाज को कैसे गेंदबाजी करनी है, लेकिन आप कभी महसूस नहीं करते कि आप सभी दस विकेट चटकाएंगे.

...तो मैं काफी पहले पाकिस्तान के खिलाफ सभी 10 विकेट ले लेता, अनिल कुंबले ने कहा

अनिल कुंबले की फाइल फोटो

खास बातें

  • ...जब कुंबले ने पारी में चटकाए सभी 10 विकेट
  • क्रिकेट इतिहास में कारनामा करने वाले सिर्फ दूसरे क्रिकेटर
  • कुंबले मस्त, पाकिस्तान पस्त!
नई दिल्ली:

भारत के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले (Anil Kumble) ने कहा है कि अगर डीआरस सिस्टम होता, तो वह काफी पहले ही पाकिस्तान के खिलाफ दस विकेट ले लेते. ध्यान दिला दें कि अनिल कुंबले (Anil Kumble) ने साल 1999 में दिल्ली में फिरोजशाह कोटला (अब अरुण जेतली) मैदान में पाकिस्तान के खिलाफ एक ही पारी में दस विकेट चटकाए थे. अनिल कुंबले (Anil Kumble) इंग्लैंड के जिम लेकर के अलावा क्रिकेट इतिहास में सिर्फ दूसरे ऐसे गेंदबाज हैं, जिन्होंने टेस्ट में एक पारी में सभी दस विकेट चटकाए. अनिल कुंबले ने यह बात भारतीय ऑफ स्पिनर आर. अश्विन (R. Ashwin) के साथ उनके यू-ट्यूब चैनल "डीआरएस विद एश" के साथ बातचीत में कही. 

कुंबले ने कहा कि किसी भी आधार पर अंपायरों को दोष देना गलत होगा. लेकिन अगर तब डीआरएस होता, तो मैं काफी पहले ही दस विकेट ले लेता. मैं इसे इसी नजरिए से देखता हूं. इस मैच में पाकिस्तान की 212 रन से करारी हार को अनिल कुंबले ने इसे टीम प्रयास बताया. कुंबले ने कहा कि जब मैंने शुरुआती छह विकेट चटकाए, तो यह चायकाल का समय था. ऐसे में जब मैं वापस आया, तो थोड़ा थका हुआ था क्योंकि मैंने लंच से लेकर चायकाल तक गेंदबाजी की थी. चाय के समय मैंने महसूस किया कि मेरे लिए अपना पिछला रिकॉर्ड बेहतर करने का समय है, लेकिन मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं सभी दस विकेट चटकाने में सफल रहूंगा. 

यह भी पढ़ें: आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग रविवार को, जान लीजिए इन 10 अहम मुददों का निकलेगा हल

कुंबले ने कहा कि मैं नहीं सोचता कि आप किसी मैच में सभी दस विकेट चटकाने की मनोदशा के साथ मैदान पर उतरते हैं. हालांकि, अब कड़ी मेहनत और तैयारी करते हैं कि नंबर-1 से लेकर 11 बल्लेबाज को कैसे गेंदबाजी करनी है, लेकिन आप कभी महसूस नहीं करते कि आप सभी दस विकेट चटकाएंगे. मैंने आठवां और नौवां विकेट पांचवीं और छठी गेंद पर लिया. जब मैंने ओवर पूरा किया और थर्डमैन पर गया, तो स्टैंड में लोगों ने कहा, "चिंता मत करो, तुम दस विकेट लोगे."

यह भी पढ़ें: मांजरेकर ने इस टिप्पणी के लिए बीसीसीआई से मांगी माफी, किया कमेंट्री पैनल में लेने का अनुरोध

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कुंबले ने याद करते हुए कहा कि कैसे श्रीनाथ ने पिछले ओवर में स्टंप के बहुत बाहर गेंदबाजी कर उनकी मदद की. उन्होंने कहा कि श्री के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं. सभी यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे थे कि मैं दस विकेट चटकाऊं. श्रीनाथ ने वह ओवर किया और मैं सोचता हूं कि यह एक मुश्किल ओवर था. लगातार अपने दिमाग से वाइड गेंद डालने के लिए कहना एक मुश्किल काम है.

VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने अपने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी.