ये हैं वो टॉप 5 बल्लेबाज, जिन्होंने अपनी इतनी धीमी बैटिंग से रूला कर रख दिया, भारतीय पूर्व कप्तान भी...

हम आपको आज ऐसे ही पांच बल्लेबाजों से मिलवाते हैं, जिन्होंने गेंदे तो थोक के भाव में खेलीं, लेकिन रन इतने कम बनाए कि आप हैरान रह जाएंगे. बता दें कि  इन बल्लेबाजों में एक भारतीय पूर्व कप्तान मंसूर अली खान पटौदी भी शामिल हैं.

ये हैं वो टॉप 5 बल्लेबाज, जिन्होंने अपनी इतनी धीमी   बैटिंग से रूला कर रख दिया, भारतीय पूर्व कप्तान   भी...

मंसूर अली खान पटौदी का नाम भी इस रिकॉर्ड में शामिल है

नई दिल्ली:

इसमें दो राय नहीं कि अब क्रिकेट बदल चुकी है, टेस्ट क्रिकेट भी बदल चुकी है. टेस्ट क्रिकेट में धीमी और जरूरत के हिसाब से बहुत धीमी बल्लेबाजी भी की जाती है, लेकिन यहां ऐसे भी बल्लेबाज हुए, जिन्होंने इतनी धीमी बल्लेबाजी की कि सामने वाली टीम के पसीने छूट गए. हम आपको आज ऐसे ही पांच बल्लेबाजों से मिलवाते हैं, जिन्होंने गेंदे तो थोक के भाव में खेलीं, लेकिन रन इतने कम बनाए कि आप हैरान रह जाएंगे. बता दें कि  इन बल्लेबाजों में एक भारतीय पूर्व कप्तान मंसूर अली खान पटौदी भी शामिल हैं.

इसमें सबसे ऊपर न्यूजीलैंड के ज्यॉफ एलॉट हैं, जिन्होंने साल 2005-06 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ऑकलैंड में पूरे 101 मिनट तक टिककर बल्लेबाजी की और यह 0 पर ही अटके रहे. मतलब करीब डेढ़ घंटे से भी ज्यादा पिच पर टिककर खाता तक नहीं खोल सके. 

इसके बाद भारतीय पूर्व कप्तान और अभिनेत सैफ अली खान के पिता मंसूर अली खान पटौदी का नाम आता है. मंसूर अली खान ने 1972-73 में मुंबई में इंग्लैंड के खिलाफ 102 मिनट तक पिच पर रहकर सिर्फ 5 रन बनाए. कुछ  साल पहले इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड ने 2012-13 में ऑकलैंड में 137 मिनट बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ 6 रन का योगदान दिया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज डैमियन मार्टिन का नाम भी आता है. डैमियन मार्टिन ने साल 1993-94 में सिडनी में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 106 मिनट की बल्लेबाजी के दौरान 6 रन का योगदान दिया. वहीं पांचवें नंबर पर इंग्लैंड के जी. मिलर का नाम आता है. मिलर ने 1978-79 में मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 123 मिनट तक बल्लेबाजी की और रन बनाए सिर्फ सात. 

VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को  लेकर बड़ी बात कही थी.