टिनो बेस्ट ने कहा - जोफ्रा आर्चर को विंडीज़ के बजाय इंग्लैंड के लिए खेलते देखना दिल तोड़ने वाला है

टिनो बेस्ट ने कहा - जोफ्रा आर्चर को विंडीज़ के बजाय इंग्लैंड के लिए खेलते देखना दिल तोड़ने वाला है

एशेज के दूसरे टेस्ट में जोफ्रा आर्चर ने 91 रन देकर पांच विकेट झटके

खास बातें

  • वेस्टइंडीज के बारबाडोस में जन्मे थे जोफ्रा आर्चर
  • अंडर-19 वर्ल्डकप में टीम में नहीं शामिल किया था विंडीज बोर्ड ने
  • मई में पाकिस्तान के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में किया पर्दापण
नई दिल्ली:

वेस्ट इंडीज़ (West Indies Cricket team) के पूर्व तेज़ गेंदबाज़ टिनो बेस्ट (Tino Best) जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) के इंग्लैंड की ओर से खेलने को विंडीज़ क्रिकेट प्रशासकों की भारी विफलता मानते हैं. बेस्ट का कहना है कि प्रशासक इस बात को सुनिश्चित करने में असफल रहे कि बारबाडोस में जन्मा यह तेज़ गेंदबाज़ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वेस्ट इंडीज़ के लिए शानदार प्रदर्शन कर सकता है. एशेज़ (Ashes 2019) में आर्चर के दमदार प्रदर्शन के बाद टिनो बेस्ट ने ट्विटर पर अपनी राय ज़ाहिर की. बेस्ट ने ट्वीट कर कहा कि यह विंडीज़ क्रिकेट प्रशंसकों के लिए दिल तोड़ देने वाला है, क्योंकि उसने मैरून नहीं पहना है.

WI vs IND: पहले टेस्‍ट में MS धोनी के रिकॉर्ड के बराबरी कर सकते हैं विराट कोहली...   

आपको बता दें कि एक समय जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) वेस्ट इंडीज़ (West Indies Cricket team) अंडर-19 टीम में तेजी से उभरते हुए खिलाड़ी के तौर पर पहचाने जाने लगे थे, लेकिन उन्हें अंडर-19 वर्ल्डकप 2014 के लिए चुनी गई टीम में शामिल नहीं किया गया. इसके बाद आर्चर ने कहीं और बेहतर अवसरों की तलाश करने का फैसला किया. उन्होंने दुनियाभर में विभिन्न टी-20 लीगों में भाग लिया और अपने प्रदर्शन से खुद की मांग को बनाए रखा. फिर वह इंग्लैंड चले गए, जहां उन्होंने एक नागरिक के रूप अपनी कानूनी अवधि पूरी की और इंग्लैंड टीम में शामिल हो गए.

तेज गेंदबाज एस. श्रीसंत पर लगा बैन अगस्त 2020 में खत्म होगा: बीसीसीआई लोकपाल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मई में जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) ने इंग्लैंड (England Cricket team) के खिलाड़ी के रूप में अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की. उन्होंने वर्ल्डकप (World Cup 2019) में शानदार प्रदर्शन किया और मेज़बान को पहली बार वर्ल्ड चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई. वर्ल्डकप के बाद उन्हें जेम्स एंडरसन (James Anderson) के चोटिल होने के चलते एशेज़ (Ashes 2019) टीम में शामिल किया गया और उन्होंने सीरीज़ के दूसरे मैच से अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की. लॉर्ड्स में खेले गए इस मैच में भी आर्चर ने धमाकेदार गेंदबाजी की. उन्होंने 91 रन देकर पांच विकेट झटके और अपनी बाउंसर से ऑस्ट्रेलियाई (Australia Cricket team) बल्लेबाजों को काफी परेशान भी किया. उनके एक बाउंसर से तो स्टीव स्मिथ (Steve Smith) चोटिल भी हो गए, जिसके बाद आर्चर की कड़ी आलोचना की गई. हालांकि उनके प्रदर्शन की जमकर सराहना भी हुई. 

वीडियो: विराट कोहली ने रोहित शर्मा के साथ मतभेद से किया इनकार