NDTV Khabar

Ind vs Eng: जो रूट ने बताया, 'चाइनामैन' कुलदीप यादव के खिलाफ अपनाई यह रणनीति

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Ind vs Eng: जो रूट ने बताया, 'चाइनामैन' कुलदीप यादव के खिलाफ अपनाई यह रणनीति

जो रूट ने दूसरे वनडे मैच में 113 रन की बेहतरीन पारी खेली (AFP फोटो)

खास बातें

  1. कहा, कुलदीप की गेंदों को पूरी तरह समझना चाहता था
  2. पिछले मैचों में उनकी काफी कम गेंदें खेल पाया था
  3. कुलदीप के खिलाफ अपनी तकनीक पर भरोसा किया
लंदन:
टिप्पणियां

मध्‍य क्रम के बल्‍लेबाज जो रूट के शतक की बदौलत इंग्‍लैंड की टीम ने कल यहां दूसरे वनडे मैच (मैच रिपोर्ट) में टीम इंडिया को 86 रन से पराजित कर दिया. इस जीत के साथ ही मेजबान टीम ने तीन वनडे की सीरीज 1-1 से बराबर कर ली है और 17 जुलाई को होने वाले तीसरे मैच में ही सीरीज जीतने वाली टीम का फैसला होगा. रूट की पारी की इस मैच में इंग्‍लैंड की जीत में अहम भूमिका रही. पहले वनडे में कुलदीप यादव की गेंदबाजी के आगे असहाय नजर आए रूट ने इस मैच में टीम इंडिया के इस चाइनामैन बॉलर का अच्‍छी तरह से सामना किया. मैच के बाद रूट ने कहा कि वे कुलदीप की गेंदों को समझना चाहता था और एक बार ऐसा करने के बाद फिर मैंने अपना स्‍वाभाविक खेल खेला.

यह भी पढ़ें:IND vs ENG 2ND ODI: कुछ ऐसे कोहली ने किया धोनी के अंदाज का बचाव

रूट ने अपनी शतकीय पारी के दौरान इस चाइनामैन गेंदबाज का सहजता से सामना किया जो पांच टेस्ट मैचों की सीरीज से पहले इंग्लैंड के लिए अच्छी खबर है. रूट ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘कुलदीप का काफी सामना नहीं करने के कारण मैं पारी के दौरान उसकी गेंदबाजी को अधिक से अधिक समझना चाहता था. मैं यह सुनिश्चित करना चाहता था कि लीड्स में अगर मुझे स्पिनरों के खिलाफ शुरुआत करनी पड़ी तो मैं मुश्किल में नहीं फंस जाऊं. ’उन्होंने कहा, ‘पिछले कुछ मैचों में मैंने उसकी सिर्फ चार गेंद का सामना किया था लेकिन अंतत: आपको अपने खेल और तकनीक पर विश्वास करना होता है. मुझे लगता है कि मैंने उसकी जो चार गेंद खेली उसमें उसकी गेंदों को ठीक तरीके से समझ रहा था.’

वीडियो: मैडम तुसाद म्‍यूजियम में विराट कोहली रूट के अनुसार,  कुलदीप को खेलना उनके लिए सीखने की प्रक्रिया है. इंग्‍लैंड के इस अहम बल्‍लेबाज ने कहा, ‘एक खिलाड़ी के रूप में आप हमेशा सीखना चाहते हो और जब आप अगली बार किसी का सामना करो तो उसके लिए तैयार रहने का प्रयास करते हो, व्यक्तिगत खिलाड़ी और टीम दोनों के रूप में. मुझे नहीं लगता है कि टेस्ट क्रिकेट के संदर्भ में काफी आगे के बारे में सोचने की जरूरत है जबकि मंगलवार को एक और मैच होना है.’इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान ने हालांकि स्वीकार किया कि कुलदीप को अगर टेस्ट मैचों की टीम और फिर अंतिम एकादश में जगह मिलती है तो इस स्पिनर का सामना करने से हासिल आत्मविश्वास से उन्होंने टेस्ट मैचों में मदद मिलेगी. रूट का मानना है कि कुलदीप का सामना करते हुए उन्होंने अपनी तकनीक पर भरोसा किया जिसके कारण उन्हें इतने वर्षों से नतीजे मिल रहे हैं. (इनपुट: एजेंसी)

 




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... कश्मीरी पंडितों का दर्द हमने कितना समझा?

Advertisement