मोईन अली बोले, क्रिकेट मैचों के दौरान स्‍टंप पर लगे माइक की आवाज बढ़ाई जानी चाहिए, यह बताया कारण..

मोईन अली बोले, क्रिकेट मैचों के दौरान स्‍टंप पर लगे माइक की आवाज बढ़ाई जानी चाहिए, यह बताया कारण..

मोईन के अनुसार माइक की आवाज बढ़ाने से खिलाड़ि‍यों की आपत्तिजनक टिप्‍पणियों का पता चल सकेगा (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कहा, इससे अनुचित टिप्‍पणी करने वाले पकड़े जा सकेंगे
  • इंग्‍लैंड-इंडीज टेस्‍ट में गेब्रिएल ने की थी अपमानजनक टिप्‍पणी
  • इस कारण गेब्रिएल पर लगाया गया है चार मैच का प्रतिबंध
ब्रिजटाउन :

इंग्लैंड के ऑलराउंडर मोईन अली (Moeen Ali) का मानना है कि क्रिकेट मैचों के दौरान स्‍टंप पर लगे माइक की आवाज और बढ़ाई जानी चाहिए ताकि ऐसे खिलाड़ि‍यों के बारे में पता लगाया जा सके जो आपत्तिजनक टिप्‍पणी करते हैं. मोईन (Moeen Ali) ने यह टिप्‍पणी वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज शेनन गेब्रियल (Shannon Gabriel) द्वारा समलैंगिकता लेकर की गई टिप्पणी के बाद की. गौरतलब है कि गेब्रियल ने इंग्लैंड के खिलाफ (Windies vs England) सेंट लूसिया में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच (3rd Test) के दौरान मेहमान टीम के कप्तान जो रूट से बहस के दौरान समलैंगिकता से संबंधित टिप्पणी की थी जिसके कारण इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने उन पर चार मैचों का प्रतिबंध लगाया है. प्रतिबंध के कारण गेब्रियल इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के पहले चार मैचों में नहीं खेल पाएंगे. गैब्रियल 43 टेस्‍ट, 18 वनडे और दो टी20 में कैरेबियन टीम का प्रतिनिधित्‍व कर चुके हैं. टेस्‍ट में 129, वनडे में 23 और टी20 इंटरनेशनल में तीन विकेट उनके नाम पर दर्ज हैं.

इंग्लैंड के मोईन अली ने किया ऐसा कारनामा जो क्रिकेट में कभी नहीं हुआ

इंग्लैंड के कोच ट्रेवर बेलिस समेत कुछ लोगों का मानना है कि स्टंप माइक की आवाज कम कर दी जानी चाहिए हालांकि मोईन अली (Moeen Ali) की राय अपने कोच से एकदम अलग है. 'ESPN' ने मोइन के हवाले से बताया, "अब समय आ गया है कि लोग अच्छा बर्ताव करें. स्टंप माइक की आवाज बढ़ा दी जाए. उसे कम करने की क्या जरूरत है? ताकि लोग अभद्र भाषा का उपयोग कर सके? व्यतिगत बयानबाजी की कोई आवश्यकता नहीं है." मोइन ने कहा, "यह बुरा है क्योंकि शेनन एक अच्छा और शांत आदमी है लेकिन समाज इसी तरह का है. लोगों के मुंह से चीजें बाहर आ जाती है. आप इससे बचकर नहीं निकल सकते. आपको सचेत रहना होगा."

उन्होंने यह भी माना कि स्टंप माइक के जरिए मनोरंजक चीजें भी रिकॉर्ड हो सकती हैं, जैसा कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुई सीरीज में हुआ. मोइन ने कहा, "सोचिए वह पुरानी कहानियां, अगर हम उन्हें रिकॉर्ड कर पाते. हम अब ऐसा कर सकते हैं. हमेशा अभद्र भाषा का उपयोग करने की जरूरत नहीं है, आप मजाक कीजिए. हम लोगों को खेल से जोड़ना चाहते हैं, स्लेजिंग करने के अन्य तरीकें हैं. अगर आप यह नहीं मानते कि दूसरा खिलाड़ी अच्छा है, तो उसे यह बताइए. उनके क्रिकेट के बार में स्लेज कीजिए लेकिन व्यक्तिगत तौर पर कुछ मत बोलिए. माइक की आवाज बढ़ाई जाए." (इनपुट: आईएएनएस)

वीडियो: गावस्‍कर बोले, निडर बॉलर हैं कुलदीप और चहल

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com