NDTV Khabar

लड़ाई-झगड़े के बादशाह हैं ऑस्ट्रेलियाई, कुछ इस तरह लड़ चुके हैं ग्राउंड पर

क्रिकेट में ऑस्टेलिया टीम को सबसे खतरनाक और मजबूत माना जाता है, लेकिन एक और कारण है जिसके लिए ये टीम जानी जाती है वह है डर्टी गेम प्लान यानी स्लेजिंग.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लड़ाई-झगड़े के बादशाह हैं ऑस्ट्रेलियाई, कुछ इस तरह लड़ चुके हैं ग्राउंड पर

ऑस्टेलियाई क्रिकेट टीम

खास बातें

  1. 17 सितंबर से शुरू होगी भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज
  2. एक और कारण है जिसके लिए ये टीम जानी जाती है. वह है डर्टी गेम प्लान.
  3. विराट कोहली से भिड़ चुके हैं ऑस्ट्रेलिया कप्तान स्टीव स्मिथ.
नई दिल्ली: क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया का स्लेजिंग से पुराना नाता रहा है. सभी जानते हैं कि जब ऑस्ट्रेलिया मैच हार रहे होते हैं तो जुबानी जंग छेड़ देते हैं. क्रिकेट में ऑस्‍ट्रेलिया टीम को सबसे खतरनाक और मजबूत टीम माना जाता है क्योंकि टीम में सभी स्टार क्रिकेटर हैं, जिन्हें पता है जीत कैसे हासिल करनी है. लेकिन एक और कारण है जिसके लिए ये टीम जानी जाती है. वह है डर्टी गेम प्लान यानी स्लेजिंग. स्लेजिंग वो शब्द है जिसका क्रिकेट में इस्तेमाल कर कुछ खिलाड़ी विपक्षी खिलाड़ी को अपमानित कर, या मौखिक तौर पर धमका कर फायदा उठाने की कोशिश करते हैं और ये करना ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों की आदत है.

पढ़ें- अभ्यास मैच में ऑस्ट्रेलिया के इस बल्लेबाज ने खेली तूफानी पारी, टीम इंडिया को ढूंढनी होगी काट

ऑस्ट्रेलिया 5 वनडे और 3 टी20 मैच की सीरीज खेलने भारत आ रहा है. 17 सितंबर से सीरीज की शुरुआत होनी है. हर बार की तरह इस बार भी कंगारू कोई न कोई डर्टी गेम खेल सकते हैं. आज हम आपको बताने जा रहे हैं भारत के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया के ऐसे विवाद जो सुर्खियों में बने रहे. पढ़ें, ऑस्ट्रेलियन प्लेयर्स के फेमस स्लेजिंग इंसिडेंट्स के बारे:

पढ़ें- भारत-ऑस्‍ट्रेलिया सीरीज के मैचों का LIVE प्रसारण कहां और कब देखा जा सकेगा, जानें सारी बातें​

विराट vs स्टीवन स्मिथ
2014 में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के लिए ऑस्ट्रेलिया गई इंडियन टीम और मेजबान के बीच जमकर झड़प देखने को मिली थी. इस 4 मैच की टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा सुर्खियां विराट कोहली और स्टीवन स्मिथ के बीच हुई तू-तू, मैं-मैं ने बटोरी थी, जिसमें विराट ने स्मिथ को गुस्से में आकर धमका दिया था और ये मामला काफी गरमा गया था.
 
virat steven

सहवाग vs पैटिन्सन
2011 में भारत के ऑस्ट्रेलिया टूर के पहले टेस्ट मैच में कप्तान सहवाग रन ले रहे थे, तो पैटिन्सन उनके सामने आ गए. झल्लाए सहवाग ने उन्हें लताड़ा और बैट भी दिखाया. दोनों के विवाद में पीटर सिडल भी आ गए. बहस बढ़ती देख अम्पायर ने बीच-बचाव कर मामला शांत किया था.

पढ़ें- INDvsAUS: ऑस्‍ट्रेलिया के इस पूर्व विकेटकीपर ने स्‍लेजिंग के लिए विराट कोहली को फटकारा
 
sehwag

हरभजन सिंह vs सायमंड्स
जनवरी 2008 में जब टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई, तो हरभजन पर सायमंड्स को मंकी कहने का आरोप लगा. भज्जी को तीन टेस्ट के लिए बैन किया गया और 50 फीसदी मैच फीस का फाइन लगा. इससे टीम इंडिया के कई खिलाड़ी नाराज हुए. बाद में सचिन की गवाही पर जज हेनसन ने बैन हटा लिया.
 
harbhajan

गौतम गंभीर vs शेन वॉटसन
2008 में ही ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे पर शेन वॉटसन लगातार गौतम गंभीर को कमेंट कर रहे थे. गंभीर ने भी जवाब दिया. रन लेने के दौरान उन्होंने वॉटसन को कोहनी मार दी. गंभीर पर एक टेस्ट मैच का बैन भी लगा. वहीं वॉटसन पर मैच फीस का 10 फीसदी फाइन लगाया गया.

पढ़ें- माइकल हसी की ऑस्‍ट्रेलिया टीम को सलाह, 'विराट कोहली से पंगा मत लेना, भारी पड़ेगा'​
 
gambhir

स्टीव वॉ vs पार्थिव पटेल
2004 में दोनों टीमों के बीच टेस्ट सीरीज हुई थी. उस वक्त भी ऑस्ट्रेलिया ने खूब स्लेजिंग की थी. स्टीव वॉ अपने करियर का आखिरी मैच खेल रहे थे. जब वो बैटिंग करने आए तो विकेटकीपर पार्थिव पटेल लगातार उन्हें उकसा रहे थे. पार्थिव के कमेंट्स से तंग आकर स्टीव वॉ ने कहा, 'मेरी रिस्पेक्ट करो क्योंकि जब मैंने डैब्यू किया था तो तब तुम नैपी में थे'.
 
parthiv

गावस्कर vs डेनिस लिली
1981 में जब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई थी तो गलत फैसले पर कप्तान सुनील गावस्कर ने पिच पर जमकर गुस्सा किया था. डेनिस लिली ने जब उनको अपशब्द बोलते हुए ग्राउंड से बाहर जाने को कहा तो उन्होंने अपने साथी खिलाड़ी को भी ग्राउंड छोड़ने को कह दिया. टीम के मैनेजर ने बात को संभाला. फिर वापस मैच को शुरू किया गया.
 
gavaskar

माइक व्हिटनी vs रवि शास्त्री
टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम के 12वें खिलाड़ी माइक व्हिटनी फील्डिंग करते हुए रवि शास्त्री के पास आए और बोले, 'क्रीज से एक कदम भी बाहर निकाला तो सिर तोड़ दूंगा' तब शास्त्री ने कहा, 'जितनी अच्छी जुबान चलाते हो उतनी ही अच्छी बैटिंग भी करते तो 12वें खिलाड़ी नहीं होते'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement