16 साल की उम्र से दोनों हाथों से बॉलिंग कर रहे विदर्भ के अक्षय कारनेवार, ईरानी कप में भी किया ऐसा..

16 साल की उम्र से दोनों हाथों से बॉलिंग कर रहे विदर्भ के अक्षय कारनेवार, ईरानी कप में भी किया ऐसा..

अक्षय इससे पहले भी बड़े बड़े मुकाबलों में दोनों हाथ से बॉलिंग कर चुके हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  • 10 साल में कई बड़े मैचों में दोनों हाथों से कर चुके हैं बॉलिंग
  • विदर्भ की टीम में ऑलराउंडर की हैसियत से खेलते हैं अक्षय
  • शेष भारत के खिलाफ मैच में बेहतरीन शतकीय पारी भी खेली
नई दिल्‍ली:

कोई गेंदबाज यदि बड़े मुकाबले में एक जैसी महारत के साथ दोनों हाथों से गेंदबाजी करे तो चौंकना स्‍वाभाविक है. नागपुर में विदर्भ क्रिकेट संघ मैदान पर शेष भारत (Rest of India vs Vidarbha) के साथ जारी ईरानी कप मुकाबले (Irani Cup Match) के दौरान विदर्भ के ऑलराउंडर अक्षय कारनेवार (Akshay Karnewar) ने दोनों हाथों से गेंदबाजी करके हर किसी को हैरान कर दिया. देखने वालों को यह बात भले ही नई लगी लेकिन सच्‍चाई यह है कि अक्षय 16 साल की उम्र से ही दोनों हाथों से गेंदबाजी कर रहे हैं. बीते 10 साल में उन्होंने प्रथम श्रेणी, लिस्ट ए और टी-20 मैचों में कई मौकों पर दोनों हाथों से बॉलिंग की है. अक्षय हालात की जरूरत के हिसाब से दोनों हाथों से गेंदबाजी का चयन करते हैं. वैसे स्वाभाविक तौर पर वह लेफ्ट ऑर्म स्पिनर हैं लेकिन जब कोई बाएं हाथ का बल्लेबाज उनके सामने होता है तो वह राइट आर्म स्पिन गेंदबाजी करना पसंद करते हैं.

आदित्‍य सरवटे का 'छक्‍का', सौराष्‍ट्र को हराकर विदर्भ बना लगातार दूसरी बार चैंपियन

अक्षय को बीते 10 साल से करीब से जानने वाले विदर्भ क्रिकेट संघ के एक वरिष्ठ अधिकारी नेबताया कि महाराष्ट्र के यवतमाल जिले के पांडरकावड़ा गांव केअक्षय गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं. उनके पिता महाराष्ट्र राज्य परिवहन निगम में ड्राइवर थे, जो अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं. हालात से लड़कर अक्षय ने साढ़े पंद्रह साल की उम्र में नागपुर के नवकेतन क्रिकेट क्लब में पंजीकरण कराया. यह नागपुर के 10 ए-डिवीजन क्लबों में से एक है, जिसमें ज्यादातर रणजी खिलाड़ी खेला करते हैं. नवकेतन सालों से विदर्भ को रणजी खिलाड़ी देता रहा है. अक्षय ने 2016 में केरल में सैयद मुश्ताक अली टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट के दौरान पहली बार किसी बड़े मैच में दोनों हाथों से गेंदबाजी करके काफी सुर्खियां बटोरी थीं. अक्षय अम्पायर को पहले इसकी जानकारी देते हैं और अम्पायर उनके एक्शन में बदलाव की जानकारी बल्लेबाज को दे देता है.

जोंटी रोड्स ने चुने पांच सर्वश्रेष्‍ठ फील्‍डर, इस भारतीय को बताया नंबर 1

अक्षय ने नागपुर में बुधवार को शेष भारत एकादश की पारी के 63वें ओवर में दोनों हाथों से गेंदबाजी की. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल (बीसीसीआई) ने अपने आधिकारिक वेबसाइट पर कारनेवर की गेंदबाजी वीडियो शेयर किया है. 26 वर्षीय कारनेवार ने अपनी गेंदबाजी पर शेष भारत के स्टार गेंदबाज श्रेयस अय्यर को LBW आउट भी किया. कारनेवार ने 15 ओवर में 50 रन देकर एक विकेट अपने नाम किया था. कारनेवार ने जहां दूसरे दिन दोनों हाथों से गेंदबाजी कर सुर्खियां बटोरीं तो वहीं उन्होंने तीसरे दिन विदर्भ के लिए शानदार शतकीय पारी खेली. कारनेवर ने 133 गेंदों पर 102 रन बनाए जिसमें उन्होंने 13 चौके और दो छक्के भी लगाए. कारनेवार की इस शतकीय पारी के दम पर विदर्भ ने तीसरे दिन गुरुवार को अपनी पहली पारी में 425 रन का स्कोर बनाया था. (इनपुट: IANS)

वीडियो: मैडम तुसाद म्‍यूजियम में विराट कोहली

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com