NDTV Khabar

'बड़े धमाके' के बाद Yashasvi Jaiswal बने चर्चा का विषय, इस बेमिसाल संघर्ष की मिसाल दे रहे लोग

बुधवार को मुंबई और झारखंड के बीच खेले गए मुकाबले में यशस्वी जयसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने दोहरा शतक जड़ा. शतक को जड़े लगभग चौबीस घंटे हो चुके हैं, लेकिन घर-घर में यशस्वी के कारनामे की चर्चा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'बड़े धमाके' के बाद Yashasvi Jaiswal बने चर्चा का विषय, इस बेमिसाल संघर्ष की मिसाल दे रहे लोग

Yashasvi Jaiswal की फाइल फोटो

खास बातें

  1. बुधवार को Yashasvi Jaiswal ने जड़ा था दोहरा शतक
  2. झारखंड के खिलाफ खेली Yashasvi Jaiswal ने 203 रन की पारी
  3. यूपी के भदोही जिले से रिश्ता है Yashasvi Jaiswal का
अलूर:

दिवाली अभी कई दिन दूर है, लेकिन मुंबई के सिर्फ 17 साल के युवा लेफ्टी बल्लेबाज यशस्वी जयसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने दिवाली से कुछ दिन पहले ही वनडे क्रिकेट इतिहास में ऐसा जोरदार बम फोड़ा कि एक बार को जिसने भी इस बारे में सुना, वह हैरान रह गया! और जैसे ही 'बम' फोड़ने की खबर आई, वैसे ही यशस्वी जयसवाल (Yashasvi Jaiswal) क्रिकेट सर्किल में चर्चा का विषय बन गए हैं. क्रिकेटप्रेमी से  लेकर तमाम पंडित और विशेषज्ञ यशस्वी जयसवाल  (Yashasvi Jaiswal) के बारे में चर्चा कर रहे हैं. चर्चा कि एक और बड़े सितारे ने भारतीय क्रिकेट में दस्तक दे दी है. बता दें कि कर्नाटक के अलूर में खेली जा रही भारत की प्रीमियर वनडे ट्रॉफी विजय हजारे के तहत बुधवार को मुंबई और झारखंड के बीच खेले गए मुकाबले में यशस्वी जयसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने दोहरा शतक जड़ा. शतक को जड़े लगभग चौबीस घंटे हो चुके हैं, लेकिन घर-घर में यशस्वी के कारनामे की चर्चा है.  यशस्वी जयसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने  सिर्फ 154 गेंदों पर 203 रन ठोक डाले हैं. उन्होंने 17 चौके और 12 छक्के लगाए. 

यह भी पढ़ें: हरफनमौला Irfan Pathan फिल्मी दुनिया में डेब्यू करेंगे, जानिए फिल्म में कौन होगा उनके साथ...


उत्तर प्रदेश के छोटे से भदोही जिले में सिर्फ दस साल की उम्र में क्रिकेटर बनने का सपना पाले यशस्वी मुंबई पहुंचे और अपने रिश्तेदार के घर रहे. यशस्वी का बचपन बहुत ही संघर्ष भरा रहा.  यहां यशस्वी के अंकल संतोष का वर्ली में मकान था, लेकिन उनके लिए एक बच्चे को समायोजित करना मुश्किल हो चला था. इसके बाद यशस्वी एक डेयरी में रहने लगे, लेकिन दिन भर थकने के बाद यशस्वी सो जाते थे. ऐसे में  मालिक ने उन्हें कलबादेवी स्थित डेयरी से निकाल दिया. यशस्वी के अंकल संतोष मुस्लिम युनाइटेड क्लब में मैनेजर थे और उन्होंने मालिक से क्लब के टेंट के कमरे में यशस्वी के ठहरने की व्यवस्था करने का अनुरोध किया. यहां यशस्वी ने तीन साल तक ग्रांउंड्समैन (मैदानकर्मियों) के साथ टेंट का कमरा साझा किया. वह खुद अपना खाना बनाते और जरूरत के संसाधनों जुटाने के लिए यशस्वी को आजाद मैदान में रामलीला के दौरान पानी-पूरी और फल बेचने वालों के साथ काम करने को भी मजबूर होना पड़ा. ऐसे भी कई दिन आए, जब उन्हें बिना खाना खाए हुए ही सोना पड़ा.

यह भी पढ़ें:  Delhi ने Haryana को एकतरफा मुकाबले में दी मात, अन्य मैचों के Result भी देखें

बहरहाल, इस पारी से युवा बल्लेबाज यशस्वी जयसवाल बुधवार को प्रतिष्ठित विजय हजारे ट्रॉफी में दोहरा शतक लगाने वाले तीसरे बल्लेबाज बन गए. मौजूदा टूर्नामेंट में दोहरा शतक लगाने वाले जयसवाल दूसरे बल्लेबाज हैं. इससे पहले, विकेटकीपर-बल्लेबाज संजू सैमशन ने केरल के लिए खेलते हुए गोवा के खिलाफ नाबाद 212 रन बनाकर इतिहास रच दिया था. संजू विजय हजारे टूर्नामेंट के एक मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं.

यह भी पढ़ें: Shoaib Akhtar ने Virat Kohli को बताया मौजूदा समय का सर्वश्रेष्ठ कप्तान, कही यह बात...

इस पारी के साथ 17 वर्षीय जैसवाल लिस्ट-ए क्रिकेट में दोहरा शतक जड़ने वाले नौवें भारतीय बल्लेबाज भी बन गए हैं. भारतीय बल्लेबाजों द्वारा लिस्ट-ए में लगाए गए नौ दोहरे शतकों में से पांच अंतरराष्ट्रीय वनडे मुकाबलों में बनाए गए हैं. लिस्ट-ए वनडे मैच में रोहित शर्मा के नाम तीन और वीरेंद्र सहवाग एवं सचिन तेंदुलकर के नाम एक-एक दोहरा शतक हैं, लेकिन इन नौ बल्लेबाजों में यशस्वी जयसवाल सबसे खास हैं और इसका कारण है उनकी उम्र!

VIDEO:  भारतीय कप्तान विराट कोहली दूसरे टेस्ट से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान. 

टिप्पणियां

जी हां, अभी तक विश्व क्रिकेट में जितने भी बल्लेबाजों ने लिस्ट ए (अंतररराष्ट्रीय वनडे और घरेलू प्रीमियर ट्रॉफी के वनडे) में शतक बनाए हैं, उनमें यशस्वी जयसवाल सबसे कम उम्र के खिलाड़ी हैं. चलिए जान लीजिए कि लिस्ट ए मैचों के वर्ल्ड इतिहास में दोहरे शतक बनाने वाले सबसे कम उम्र के शीर्ष पांच बल्लेबाज कौन हैं..

         उम्र                         बल्लेबाज                किसके लिए (साल)
17 साल व 292 दिन     यशस्वी जयसवाल          मुंबई (2019)
20 साल 276 दिन            एलन बैरो                  नटाल (1975)
21 साल 20 दिन            माइकल वॉन               गौटंग (2019)
21 साल 280 दिन           ट्रेविस हेड             दक्षिण ऑस्ट्रेलिया (2015)
21 साल 282 दिन          बेन डकेट             इंग्लिश लॉयन्स (2016)

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement