NDTV Khabar

विराट कोहली के 'दोस्‍त नहीं' संबंधी बयान से ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर खफा, डीन जोंस बोले-सचिन तेंदुलकर से सीख लें विराट

1535 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
विराट कोहली के 'दोस्‍त नहीं' संबंधी बयान से ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर खफा, डीन जोंस बोले-सचिन तेंदुलकर से सीख लें विराट

पूर्व क्रिकेटरों का मानना है कि विराट कोहली को परिपक्‍व व्‍यवहार करना सीखना चाहिए (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मार्क टेलर बोले, कोहली को कड़वाहट नहीं पालनी चाहिए
  2. डीन जोंस ने कहा, खेल सिर्फ जीतने-हारने तक सीमित नहीं
  3. मुझे नहीं लगता यह सभी भारतीय प्‍लेयर्स की राय है-कोच लीमैन
ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेटरों को अब दोस्‍त नहीं मानने संबंधी टीम इंडिया के कप्‍तान  विराट कोहली के बयान को लेकर ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटरों ने नाराजगी जताई है. कोहली ने चार टेस्‍ट की सीरीज में 2-1 की जीत के बाद मंगलवार को धर्मशाला में यह विचार व्‍यक्‍त किए थे. उनकी इस टिप्‍पणी पर ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर मार्क टेलर, डीन जोंस और डेरेन लीमैन ने इस टिप्‍पणी पर विराट को आड़े हाथ लिया है. इन तीन पूर्व क्रिकेटरों के अलावा इंग्‍लैंड के डेविड लायड ने भी कोहली की टिप्पणी पर सवाल उठाए हैं. लीमैन इस समय ऑस्‍ट्रेलिया टीम के कोच भी हैं. गौरतलब है कि विराट कोहली ने कहा था कि हाल में समाप्त हुई ‘कड़वाहट भरी’ टेस्ट सीरीज के बाद उनकी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों से दोस्ती भी खत्म हो गई है.

ऑस्ट्रेलियाई टीम के महान बल्लेबाज और पूर्व कप्‍तान मार्क टेलर ने कहा कि भारतीय कप्तान को कड़वाहट पाल कर नहीं रखनी चाहिए क्‍योंकि आखिर में यह एक क्रिकेट मैच था. टेलर को लगता है कि कोहली को ‘परिपक्व’ होने की ओर बढ़ना चाहिए. वाइड वर्ल्ड ऑफ स्पोर्ट्स में अपने ब्‍लॉग में लिखा, ‘इन दिनों क्रिकेटर एक साथ काफी क्रिकेट खेलते हैं, साथ में और खिलाफ भी. इसलिये आपको कड़वाहट पालने और इस तरह के कदम वाले बयान देने के बारे काफी सतर्क रहना चाहिए.’ टेलर ने कहा, ‘मैं हमेशा ही मैच के बाद प्रतिद्वंद्वी टीम के साथ बात करता था. ऐसी भी सीरीज होती हैं जब आप निराश होते हो क्योंकि चीजें आपके हिसाब से नहीं हुईं या फिर आप खुश होते हो क्योंकि चीजें आपके मुताबिक रहीं. लेकिन आपको इससे ज्यादा परिपक्व होना चाहिए.’

ऑस्ट्रेलियाई के धाकड़ बल्‍लेबाज रहे डीन जोंस और इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर डेविड लायड ने भी कोहली की टिप्पणी पर सवाल उठाए. जोंस ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘विराट सीख जाएगा कि यह खेल सिर्फ जीतने और हारने तक ही सीमित नहीं है. बल्कि यह मित्रता के बारे में है जिसमें आप खेलते हुए दोस्त बनते हो.’ लायड ने कोहली को सचिन तेंदुलकर से सीख लेने की बात कही कि मैदान के अंदर और बाहर खुद को कैसे पेश करना चाहिए. लायड ने ट्वीट किया, ‘इस लड़के को बैठकर सचिन तेंदुलकर की बातें सुननी चाहिए जो इस बारे में काफी कुछ बता सकते हैं.’

लीमैन ने कहा-कोहली का बयान निराशाजनक
आस्ट्रेलियाई कोच डेरेन लीमैन ने आज कहा कि वह भारतीय कप्तान विराट कोहली के इस बयान से निराश है कि अब वे ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों को अपना दोस्त नहीं मानते. लीमैन ने इस बारे में पूछने पर कहा,‘निराशाजनक लेकिन यह उसकी राय है.’ यह पूछने पर कि क्या उन्हें लगता है कि बाकी भारतीय खिलाड़ियों की भी यही राय है, उन्होंने कहा,‘नहीं. मुझे नहीं लगता कि ऐसा कुछ है. मैं अजिंक्य रहाणे की कप्तानी से काफी प्रभावित हुआ.उसने शानदार कप्तानी की.’लीमैन ने सीरीज में 499 रन बनाने वाले ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ की तारीफ करते हुए कहा,‘स्मिथ ने शानदार प्रदर्शन किया. वह बल्लेबाजी करते समय ब्रैडमेन जैसा दिखता था. मैं उसके प्रदर्शन और कप्तानी से खुश हूं.’ उन्होंने हालांकि स्वीकार किया कि ऑस्ट्रेलिया का प्रदर्शन भारत जैसा नहीं था. उन्होंने कहा ,‘हमने दो टेस्ट मैचों में खराब खेला और इस मैच में 100 रन पीछे रह गए लेकिन मैं अपनी टीम के प्रदर्शन से खुश हूं.’


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement