NDTV Khabar

विराट कोहली का इशारा...मतलब 'लंका के सबसे बड़े दुश्मन' की छुट्टी?

गुरुवार को श्रीलंका टीम के लिए भारतीय कप्तान का बयान एक तरह से राहत लेकर आया है.बयान साफ कह रहा है कि लंकाई बल्लेबाजों के सबसे बड़े दुश्मन साबित हुए इस खिलाड़ी को फाइनल इलेवन से बाहर बैठना पड़ सकता है

7 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
विराट कोहली का इशारा...मतलब 'लंका के सबसे बड़े दुश्मन' की छुट्टी?

विराट कोहली की फाइल तस्वीर

खास बातें

  1. यह खिलाड़ी है श्रीलंका का सबसे बड़ा दुश्मन!
  2. इसके सामने लंकाई बल्लेबाज पानी भरते हैं!
  3. पहले टेस्ट से बैठना पड़ सकता है बाहर
कोलकाता: श्रीलंका के खिलाफ गुरुवार को शुरू हो रहे पहले टेस्ट मैच से ठीक पहले दिन भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इशारा कर दिया है कि पहले टेस्ट में मेहमान टीम के सबसे बड़े दुश्मन को शायद ही अंतिम 11 में जगह मिल पाए. हालांकि, पिछले काफी दिनों से ही क्रिकेटप्रेमियों के बीच इस बात को लेकर चर्चा हो रही थी कि क्या मेहमान टीम का यह जानी दुश्मन ईडन गार्डन में भारतीय इलेवन का हिस्सा होगा. लेकिन अब विराट के प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिए गए बयान के बाद ऐसा लग रहा है कि श्रीलंका टीम के इस सबसे बड़े दुश्मन के प्रशंसकों को निराशा झेलनी पड़ सकती है. बता दें कि श्रीलंका का यह सबसे बड़ा दुश्मन कोई और नहीं बल्कि पिछले दिनों वन-डे टीम में जगह बनाने में नाकाम रहे ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा हैं. साथ ही विराट ने श्रीलंका को खुलेआम चुनौती भी दे डाली है.

यह भी पढ़ें : मैं रोबोट नहीं हूं, कटने पर मुझसे भी खून निकलेगा : विराट कोहली

कोहली ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि ईडेन की पिच पर घास है. इसका मतलब यह है कि टीम इंडिया मैनेजमेंट इस साल अगस्त में श्रीलंका के खिलाफ ही कैंडी में खेले अपने आखिरी टेस्ट मैच में बॉलिंग डिपार्टमेंट में अमल मे लायी गई रणनीति को ईडन गार्डन में अमल में ला सकता है. तब विराट, मोहम्मद शमी, उमेश यादव सहित हार्दिक पांड्या के साथ तीन मध्यम-तेज गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतरे थे. वहीं, अपनी फिरकी पर बल्लेबाजों नचाने का जिम्मा कुलदीप यादव और रविचंद्रन अश्विन ने संभाला था. लेकिन अब पिच पर घास होने की बात से साफ है कि यहां भी रविंद्र जडेजा को तीसरे गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार के लिए ड्रेसिंग रूम में ही बैठना पड़ सकता है. ऐसे में अब एक स्पिनर के लिए मुकाबला रवींद्र जडेजा और अश्विन के बीच होगा जिसमें गेंद अश्विन के पाले में जने की संभावना है. बता दें कि रविंद्र जडेजा श्रीलंका के खिलाफ खेले नौ टेस्ट मैचों में मेहमान बल्लेबाजों के लिए सबसे बड़े दुश्मन साबित हुए हैं. इन नौ टेस्ट मैचों में जडेजा ने सिर्फ 2.51 की इकॉनमी दर से 60 विकेट चटकाए हैं.

यह भी पढ़ें : 'काल के पंजे' से खुद को ईडन में बचा पाएगी श्रीलंकाई टीम?

जडेजा का यह रिकॉर्ड यह बताने और समझाने के लिए अच्छी तरह से काफी है कि वह लंकाई बल्लेबाजों के लिए कितनी बड़ी पहेली साबित हुए हैं. लेकिन जडेजा के साथ दुर्भाग्य की बात यह रही कि पिछले कुछ मैचों के लिए उन्हें वनडे टीम से आराम दिया गया. उनके साथ-साथ श्रीलंका के खिलाफ दूसरे सबसे कामयाब गेंदबाज रहे रविचंद्रन अश्विन को भी आराम दिया गया था. इसके बाद जहां अश्विन ने खुद की लय बरकरार रखने के लिए काउंटी क्रिकेट की राह पकड़ ली, वहीं रविंद्र जडेजा ने रणजी ट्रॉफी में अक्टूबर में जम्मू-कश्मीर के खिलाफ दोहरा शतक जड़ने के अलावा दोनों पारियों में कुल सात विकेट चटकाकर चयनकर्ताओं को संदेश दे दिया था कि वह श्रीलंका के खिलाफ बल्ले और गेंद दोनों से ही तैयार हैं. लेकिन अब उनकी शानदार फॉर्म और अंतिम इलेवन के बीच ईडेन की पिच पर घास आकर खड़ी हो गई है, जो पहले टेस्ट में उनकी राह में रोड़ा बनती दिखाई पड़ रही है.

VIDEO : कोहली के लिए गावस्कर ने कही ये बात
बहरहाल, इसके अलावा प्रेस कॉन्फ्रेंस में विराट कोहली ने साफ कहा कि भारत मेहमान टीम को बिल्कुल भी हल्के में नहीं लेगा और भारत ईडन में लंकाइयों का सूपड़ा साफ करने के इरादे से मैदान पर उतरेगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement