NDTV Khabar

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने बताया, क्या है उनकी फिटनेस का राज

विराट कोहली ने कहा है कि अच्छी फिटनेस हासिल करने के लिए अपनी सीमाएं को लांघने की जरूरत है.

55 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने बताया, क्या है उनकी फिटनेस का राज

विराट कोहली की फाइल तस्वीर

खास बातें

  1. अच्छी फिटनेस के लिए सीमाएं लांघने की जरूरत: कोहली
  2. 'अपने लिए कोई सीमा नहीं तय की, हर दिन कड़ी मेहनत करता हूं'
  3. 'तब तक मेहनत करें, जब तक लक्ष्य हासिल न हो जाए'
नई दिल्ली: शानदार फॉर्म में चल रहे टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को मौजूदा दौर में सबसे फिट क्रिकेट खिलाड़ियों में गिना जाता है. उनकी इसी फिटनेस को उनकी बेहतरीन बल्लेबाजी का राज भी माना जाता है. दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में गिने जाने वाले बल्लेबाज विराट कोहली ने कहा है कि अच्छी फिटनेस हासिल करने के लिए अपनी सीमाएं को लांघने की जरूरत है. कोहली ने कहा कि वह अपने लिए कोई सीमा तय नहीं करते और हर दिन बेहतर करने की कोशिश करते हैं, यही उनकी फिटनेस का राज है. कोहली ने शुक्रवार को आरपी-एसजी ग्रुप के साथ मिलकर देश में खेलों को बढ़ावा देने के लिए आरपी-एसजी इंडियन स्पोर्ट्स ऑनर अवार्ड की शुरुआत की.

यह भी पढ़ें: विराट कोहली ने कहा, कई रिकॉर्ड निशाने पर, फिट रह तो 10 साल और खेलूंगा

इस मौके पर कोहली ने फिटनेस को बनाए रखने पर पूछे गए सवाल पर कहा कि हमें इस मामले में अपनी सीमाएं तय नहीं करनी चाहिए. भारतीय कप्तान ने कहा, 'ऐसा कोई राज नहीं है. आपको तब तक मेहनत करनी चाहिए जब तक आप वो हासिल नहीं कर लेते जो आपको चाहिए. काफी लोग 70 फीसदी पर ही रुक जाते हैं. हम शुरुआत करने से पहले ही अपनी सीमाएं तय कर लेते हैं, हमें सीमाएं नहीं तय करनी चाहिए. मैं अपनी पूरी जिंदगी में लगातार क्रिकेट नहीं खेलूंगा, इसिलए मैं कड़ी मेहनत करता हूं. आपको हर दिन का पूरा उपयोग करना चाहिए और लगातार मेहनत करनी चाहिए. मेरे लिए छोटी-छोटी चीजें मायने रखती हैं. यही मेरा मानना है.'

VIDEO : इंटरनेशनल क्रिकेट में कोहली ने पूरे किए 15 हजार रन
कोहली ने कहा कि पिछले 5-10 वर्षों में भारत ने बाकी खेलों में काफी सुधार किया है. उन्होंने कहा, 'हम पहले भी दूसरे खेलों से जुड़े रहते थे, लेकिन दूसरे खेलों में सफलता को लेकर आश्वस्त नहीं थे. लेकिन, पिछले कुछ वर्षों में विश्व स्तर पर अच्छा प्रदर्शन करने की भूख खिलाड़ियों में बढ़ी है. पिछले 5-10 वर्षों में भारत ने बाकी खेलों में भी काफी सुधार किया है.'
(इनपुट IANS से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement