NDTV Khabar

विराट कोहली उस दौर में पहुंचे जहां उनकी हर पारी के साथ बन रहा नया रिकॉर्ड...

एक और पारी, एक और शतक, एक और रिकॉर्ड...विराट कोहली धीरे-धीरे उस दौर में पहुंच रहे हैं जहां हर पारी के साथ उनके नाम नया रिकॉर्ड जुड़ जाता है.

91 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
विराट कोहली उस दौर में पहुंचे जहां उनकी हर पारी के साथ बन रहा नया रिकॉर्ड...

विराट कोहली ने वर्ष 2017 में 1000 से अधिक रन बना लिए हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 186वीं पारी में पोंटिंग के 30 शतक के रिकॉर्ड की बराबरी की
  2. रिकी पोंटिंग ने 349 पारियों ने लगाए थे 30 वनडे शतक
  3. 2017 में 1000रनों का आंकड़ा छूने वाले पहले बल्‍लेबाज बने
नई दिल्‍ली: एक और पारी, एक और शतक, एक और रिकॉर्ड...विराट कोहली धीरे-धीरे उस दौर में पहुंच रहे हैं जहां हर पारी के साथ उनके नाम नया रिकॉर्ड जुड़ जाता है. श्रीलंका के खिलाफ़ 5वें वनडे में अपनी टीम को जीत दिलवाने के दौरान उन्होंने वनडे करियर का 30वां शतक लगाया. इसके साथ ही वे वनडे में सबसे ज्यादा शतकों की सूची में रिकी पोंटिंग के साथ नंबर 2 पर पहुंच गए हैं. अहम बात यह है कि बेहद तेज़ी के साथ विराट कोहली यह कारनामा कर रहे हैं. जहां सचिन को इस आंकड़े तक पहुंचने में 267 पारियां लगी थीं, तो पोंटिंगने 349 पारियों में 30 शतक लगाए थे. दूसरी ओर, विराट ने इसके लिए महज़ 194वें मैच में खेली 186वीं पारी में इस मुकाम को हासिल कर लिया.

यह भी पढ़ें : विराट कोहली के आगे अब केवल 'क्रिकेट के भगवान' की चुनौती

विराट कोहली ने रिकॉर्ड शतक के बाद मीडिया से बातचीत में कहा कि मैं रिकी पोंटिंग के रिकॉर्ड की बराबरी करने पर सम्मानित महसूस करता हूं..मेरा लक्ष्य टीम की जीत होता है और रिकॉर्ड्स पर मेरी नज़र नहीं होती. उन्‍होंने कहा कि अगर मैं 90 बनाऊं और टीम जीते तो भी मैं खुश हूं. विराट के ज़ेहन में भले ही रिकॉर्ड्स न हों, लेकिन जिस सरलता के साथ वे यह कर रहे हैं वह चौंकाता है. इसके पीछे वजह है उनका रिस्क फ़्री क्रिकेट खेलना, जिसका उदाहरण उनके 30वें शतक के दौरान भी दिखा.

वीडियो: पांचवां वनडे जीतकर टीम ने इंडिया ने किया सीरीज में क्‍लीन स्‍वीप
विराट ने 30वें शतक के दौरान 110 में से 77 रन कवर से मिडविकेट के क्षेत्र में बनाए. मतलब सीधे बल्ले से क्रिकेटिंग शॉट्स खेलते हुए ये 70 फ़ीसदी रन बनाए. यही नहीं, विराट इस पारी के दौरान वर्ष  2017 में 1000 रनों का आंकड़ा छूने वाले पहले बल्लेबाज़ भी बने.  उन्होंने 18 मैचों में 1017 रन 92.45 की औसत से बनाए जिसमें 4 शतक, 6 अर्धशतक शामिल हैं. उनकी 92.45 की औसत आज तक साल में हज़ार आंकड़ा छूने वाले खिलाड़ियों में सबसे ज्यादा है. इसके साथ अगर उनका पिछले साल चेज़ में रिकॉर्ड देखें तो 10 पारियों में 831 रन 281 की औसत से हैं. ऐसे में जैसा कि मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा कि कप्तान ही टीम का बॉस होता है तो विराट ही इस टीम के असली बॉस है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement