NDTV Khabar

ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में विराट कोहली की बल्‍ले से नाकामी का सौरव गांगुली ने बताया यह कारण..

89 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में विराट कोहली की बल्‍ले से नाकामी का सौरव गांगुली ने बताया यह कारण..

सौरव गांगुली ने कहा, बेहद आतुर होने के कारण सीरीज में विराट की बल्‍लेबाजी प्रभावित हुई (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बोले, जीत के लिए आतुर होने के कारण सीरीज में विराट की बैटिंग प्रभावित हुई
  2. ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में बल्‍ले से नाकाम रहे थे विराट कोहली
  3. लोकेश राहुल, उमेश यादव और रवींद्र जडेजा के प्रदर्शन को सराहा
दुबई: टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान सौरव गांगुली की राय में बहुत कुछ करने के लिए आतुर होने के कारण विराट कोहली का ऑस्‍ट्रे‍लिया के खिलाफ बल्‍लेबाजी प्रदर्शन प्रभावित हुआ. हालांकि गांगुली ने कहा कि टीम इंडिया के कप्‍तान विराट जल्‍द ही शांत चित होकर बड़ी पारियां खेलने लगेंगे. सौरव के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज बेहद मुश्किल थी और इस दौरान विराट कोहली की बल्लेबाजी उनकी भावनात्मक प्रतिक्रियाओं के कारण प्रभावित हुई. कप्तान के रूप में किसी भी कीमत पर जीत दर्ज करने की कोहली की इच्छा के कारण उन्होंने ये प्रतिक्रियाएं दीं.

गांगुली ने ‘आईसीसी’ की वेबसाइट के लिए विशेष कॉलम में लिखा, ‘ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कप्तान के रूप में जीत दर्ज करने को लेकर संभवत: वह (कोहली) इतना आतुर था कि उसने अपनी भावनाओं को बल्लेबाजी को प्रभावित करने दिया. यह विराट के लिए सबक भी होगा. वह इतनी बेशकीमती प्रतिभा है, उम्मीद करता हूं कि वह शांत हो जाएगा और एक बार फिर बड़ी पारियां खेलने लगेगा.’भारत ने घरेलू सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया जो हाल के समय की सबसे कड़ी और विवादों से भरी सीरीज थी.   

सीरीज से पहले कोहली बेहतरीन फॉर्म में थे और वह लगातार चार सीरीज में दोहरा शतक जड़ने वाले पहले खिलाड़ी बने थे. उन्‍होंने मौजूदा सत्र के 13 मैचों में 1457 रन बनाए,लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वह बुरी तरह विफल रहे और तीन मैचों की पांच पारियों में 0, 13, 12, 15 और 6 रन के स्कोर के साथ सिर्फ 46 रन बना सके. वह कंधे की चोट के कारण चौथे और अंतिम टेस्ट में नहीं खेल पाए.

भारत के सबसे सफल कप्तानों में एक गांगुली ने कोहली को दुनिया में सर्वश्रेष्ठ में शामिल किया और उन्हें जुनूनी कप्तान बताया. सौरव ने कहा, ‘मेरे लिए दो विराट हैं. एक बल्लेबाज और एक कप्तान.’ उन्होंने कहा, ‘बल्लेबाज निश्चित तौर पर दुनिया में सर्वश्रेष्ठ में एक है क्योंकि उसने फिटनेस और बड़ा स्कोर बनाने की भूख के मामले में अपने लिए ऊंचे मानक तय किए हैं. कप्तान अधिक जुनूनी है. वह जीतना चाहता है और रोज जीतना चाहता है और यह हमेशा संभव नहीं है, मैं विराट को नंबर एक से कम पर समझौता करते हुए नहीं देखता.’ पूर्व भारतीय कप्तान गांगुली को खुशी है कि लोकेश राहुल, रविंद्र जडेजा और उमेश यादव के अंदर आत्मविश्वास बढ़ा है और अब वे कोहली तथा रविचंद्रन अश्विन की बराबरी कर रहे हैं. गांगुली ने चेतेश्वर पुजारा को ऐसा बल्लेबाज करार दिया जो विदेशों में भारत की सफलता के लिए सबसे महत्वपूर्ण होगा.

गांगुली ने कहा, ‘नतीजों से अधिक मैंने यात्रा का लुत्फ उठाया, यह देखकर कि कैसे लोकेश राहुल, रविंद्र जडेजा और उमेश यादव का आत्मविश्वास बढ़ा और उन्होंने दो चैम्पियन विराट और रविचंद्रन अश्विन की बराबरी की.’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन जो सबसे अलग रहा वह चेतेश्वर पुजारा था. मुझे याद है जब पिछले साल वेस्टइंडीज में टेस्ट से उसे बाहर किया गया था, मैंने कहा था कि पुजारा विशेष बल्लेबाज है और उसे बाहर नहीं किया जाना चाहिए. इस सत्र में उसके बल्ले से 1316 रन बने और जब भारत उपमहाद्वीप के बाहर यात्रा करना शुरू करेगा तो विराट के लिए वह सबसे महत्वपूर्ण होंगे.’

गांगुली ने कहा कि मौजूदा भारतीय टीम में दुनिया में कहीं भी जीत दर्ज करने की क्षमता है. उन्होंने कहा, ‘और पिछले 13 घरेलू टेस्ट देखने के बाद, मैं उम्मीद करता हूं कि विराट और उनकी टीम में कहीं भी जीत दर्ज करने की क्षमता है- भारत में और बाहर भी.’ धर्मशाला टेस्ट के बारे में गांगुली ने लिखा, ‘मैं तीसरे दिन लंच के समय के आसपास घर में बैठा था जब ऑस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी शुरू की.’ उन्होंने कहा, ‘अगले लगभग एक घंटे में मैंने दो भारतीय उमेश यादव और भुवनेश्वर कुमार द्वारा शानदार तेज गेंदबाजी देखी. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया को जैसे ध्वस्त किया, मैं विराट के लिए बेहद खुश हूं.’ गांगुली ने कहा, ‘यह यादगार जीत उन हालात में मिली जो भारतीयों से अधिक ऑस्ट्रेलिया के अनुकूल थी’ गांगुली ने साथ ही कहा कि मुख्य कोच अनिल कुंबले ने घरेलू सत्र में भारत की सफलता में बड़ी भूमिका निभाई है. उन्होंने साथ ही पुणे में पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ के शतक को मेहमान टीम के बल्लेबाजों की सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक में शामिल किया जो उन्होंने देखी हैं. (भाषा से इनपुट)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement