NDTV Khabar

'कभी न टूटने वाला' विश्वरिकॉर्ड बनाकर जा रहे हैं ग्रीम स्मिथ...!

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'कभी न टूटने वाला' विश्वरिकॉर्ड बनाकर जा रहे हैं ग्रीम स्मिथ...!

फाइल चित्र

नई दिल्ली: टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा करने वाले दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ग्रीम स्मिथ एक अनूठा रिकॉर्ड अपने पीछे छोड़े जा रहे हैं, जो संभवतः अब कभी नहीं टूटेगा... मौजूदा मैच, जिसके बाद उन्होंने संन्यास की घोषणा की है, को मिलाकर उन्होंने अपने करियर में कुल 117 टेस्ट मैच खेले, जिनमें से 109 में वह टीम के कप्तान रहे... यह आंकड़ा विश्व रिकॉर्ड है, और मौजूदा खिलाड़ियों में उनके सबसे नज़दीक भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी हैं, जिन्होंने 53 टेस्ट मैचों में टीम इंडिया की कप्तानी की है...

वैसे, सबसे ज़्यादा टेस्ट मैचों में कप्तानी करने वालों की सूची में महेंद्र सिंह धोनी 10वें नंबर पर हैं, लेकिन शीर्ष पर मौजूद ग्रीम स्मिथ के बाद सूची में आठ ऐसे खिलाड़ी दर्ज हैं, जो रिटायर हो चुके हैं, सो, स्मिथ का यह रिकॉर्ड टूटना लगभग असंभव है, क्योंकि धोनी भी 56 और टेस्ट मैचों में भारतीय कप्तान रह पाएंगे, यह संदिग्ध लगता है...

खैर, ग्रीम स्मिथ ने कप्तान के रूप में 109 मैच खेले, जिनमें से 53 में उन्होंने जीत हासिल की, और 28 मैच हारे, जबकि 27 मैच ड्रॉ रहे... (अंतिम मैच का परिणाम अभी आना बाकी है...) सो, इस लिहाज़ से जीत का उनका प्रतिशत 48.62 है, जो काफी शानदार है... हालांकि, धोनी का जीत प्रतिशत ग्रीम स्मिथ के मुकाबले बेहतर है... धोनी ने अब तक जिन 53 मैचों में टीम इंडिया का नेतृत्व किया है, उनमें से 26 में भारतीय जीते हैं, और 14 में शिकस्त झेली है, जबकि 13 मैच ड्रॉ भी रहे हैं... इस लिहाज़ से महेंद्र सिंह धोनी ने अपने कप्तानी करियर में 49.05 प्रतिशत मैच जीते...

हालांकि जीत प्रतिशत के लिहाज़ से सूची में पहले 10 स्थानों पर दर्ज कप्तानों में सबसे शानदार ऑस्ट्रेलिया के स्टीव वॉ रहे, जिन्होंने 71.92 प्रतिशत टेस्ट मैचों में जीत दर्ज की... स्टीव वॉ ने कुल 57 मैचों में कप्तानी की, जिनमें से 41 में वह जीते, नौ मैच हारे, और सात मैच ड्रॉ हुए... वैसे, सबसे ज़्यादा मैचों में कप्तानी करने वालों की सूची में स्टीव वॉ छठे स्थान पर हैं...

जीत प्रतिशत के लिहाज़ से सूची में दूसरा स्थान है ऑस्ट्रेलिया के ही रिकी पोन्टिंग का, जिन्होंने 77 मैचों में कप्तान रहकर 48 में जीत हासिल की, और 16 हारे... इस लिहाज़ से कप्तान के रूप में 13 मैच ड्रॉ करवाने में कामयाब रहने वाले रिकी पोन्टिंग 62.33 प्रतिशत मैचों में जीते... वैसे, सबसे ज़्यादा मैचों में कप्तानी करने वालों की सूची में रिकी पोन्टिंग चौथे स्थान पर हैं...

इस सूची में दूसरा स्थान है ऑस्ट्रेलिया के ही एलन बॉर्डर का, जिन्होंने 93 मैचों में टीम की कमान संभाली, 32 मैच जीते, 22 में हार का सामना किया, और 38 मैच ड्रॉ रहे... एलन बॉर्डर के खाते में एक टाई रहा टेस्ट मैच भी शामिल है... उनका जीत प्रतिशत 34.40 रहा है...

सबसे ज़्यादा मैचों में कप्तानी करने वालों की सूची में तीसरे नंबर पर दर्ज हैं, न्यूजीलैंड के स्टीफन फ्लेमिंग, जिन्होंने 80 मैचों में कप्तानी कर 28 में जीत दर्ज की, और 27 में शिकस्त झेली... फ्लेमिंग के कप्तान रहते कीवी टीम ने 25 टेस्ट मैच ड्रॉ करवाए, और उनका जीत प्रतिशत 35 रहा...

पांचवें स्थान पर वेस्ट इंडीज़ के दिग्गज क्लाइव लॉयड का नाम दर्ज है, जो 74 मैचों में कैरेबियाई टीम के कप्तान रहे, और 36 में जीते... 12 मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा, जबकि वह 26 मैचों को ड्रॉ करवाने में कामयाब रहे... क्लाइव लॉयड का जीत प्रतिशत 48.64 रहा...

सातवें स्थान पर श्रीलंका के अर्जुन रणतुंगा हैं, जो 56 टेस्ट मैचों में कप्तान रहे... इनमें से उनकी टीम ने 12 मैचों में जीत दर्ज की, और 19 हारे... रणतुंगा की कप्तानी में श्रीलंकाई टीम ने 25 टेस्ट मैच ड्रॉ भी करवाए, और इस लिहाज़ से अर्जुन रणतुंगा का जीत प्रतिशत 21.42 रहा है...

सबसे ज़्यादा मैचों में कप्तानी करने वालों की सूची में आठवें नंबर पर इंग्लैड के माइकल एथरटन हैं, जिन्होंने 54 मैचों में अंग्रेज़ों की बागडोर संभाली... इन 54 में से 13 मैचों में अंग्रेज़ जीते, जबकि 21 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा... एथरटन की कप्तानी में 20 टेस्ट मैच ड्रॉ भी रहे, और उनका जीत प्रतिशत 24.07 रहा...

सूची में नौवें स्थान पर दक्षिण अफ्रीका के दिवंगत कप्तान हैंसी क्रोन्ये का नाम दर्ज है, जिन्होंने धोनी की ही तरह 53 मैचों में कप्तानी की, लेकिन वह अपने नेतृत्व में अपनी टीम को धोनी की तुलना में एक जीत ज़्यादा दिलवा सके... उन्होंने कप्तान के रूप में कुल 27 मैचों में जीत हासिल की, 11 हारे, और 15 को ड्रॉ करवाने में कामयाब रहे... सो, हैंसी क्रोन्ये का जीत प्रतिशत 50.94 पर धोनी से कुछ बेहतर है...

बहरहाल, अब यह बिल्कुल स्पष्ट है कि जिस खिलाड़ी से यह बात शुरू हुई थी, यानि दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ग्रीम स्मिथ, उसका सबसे ज़्यादा टेस्ट मैचों में अपनी टीम की कप्तानी करने का विश्वरिकॉर्ड संभवतः हमेशा ही बना रहेगा...

टिप्पणियां

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement