NDTV Khabar

2199 करोड़ रुपये की ऊंची बोली लगाकर वीवो फिर बना IPL का टाइटल प्रायोजक...

वीवो ने 2016 से 2017 के सत्र के लिए आईपीएल के टाइटल अधिकार हासिल किए थे.

209 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
2199 करोड़ रुपये की ऊंची बोली लगाकर वीवो फिर बना IPL का टाइटल प्रायोजक...

वीवो ने 2016 से 2017 के सत्र के लिए भी आईपीएल के टाइटल अधिकार हासिल किए थे (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 2017 से 2022 तक के लिए हासिल किए टाइटल अधिकार
  2. 2,199 करोड़ रु.की बोली लगाई, यह पिछले करार से 554% अधिक
  3. ओप्‍पो कंपनी ने लगाई थी 1430 करोड़ रुपये की बोली
नई दिल्‍ली: मोबाइल निर्माता कंपनी वीवो ने 2,199 करोड़ रुपये की बड़ी बोली लगाकर आज अगले पांच साल के लिए फिर से इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के टाइटल प्रायोजन अधिकार हासिल किए. यह धनराशि पिछले करार से करीब 500 प्रतिशत अधिक है. आईपीएल ने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ट्वीट किया, 'वीवो ने आईपीएल 2018-22 के लिए टाइटल प्रायोजन बरकरार रखा है. उसने 2,199 करोड़ रुपये की बोली लगायी जो पिछले करार से 554 प्रतिशत अधिक है.' भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने एक अगस्त 2017 से 31 जुलाई 2022 तक की अवधि के लिए आईपीएल के टाइटल प्रायोजन के लिये पिछले महीने निविदा मंगवाई थी.
गौरतलब है कि वीवो ने 2016 से 2017 के सत्र के लिए टाइटल अधिकार हासिल किए थे. यह करार 100 करोड़ प्रतिवर्ष के आधार पर हुआ था. करार के नवीनीकरण के लिये वीवो ने एक अन्य मोबाइल निर्माता कंपनी ओप्पो को पीछे छोड़ा, रिपोर्टों के अनुसार इसने 1430 करोड़ रुपये की बोली लगायी थी. विवो ने इससे पहले पेप्सी की जगह टाइटल अधिकार हासिल किए थे.

 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement