NDTV Khabar

'काफी दवाब में था, रात को तीन बजे उठ गया था', जानें कुलदीप यादव ने और क्या-क्या कहा

202 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
'काफी दवाब में था, रात को तीन बजे उठ गया था', जानें कुलदीप यादव ने और क्या-क्या कहा

कुलदीप यादव ने 23 ओवरों में 68 रन देकर सबसे ज्यादा चार विकेट लिए

खास बातें

  1. कुलदीप ने सबसे पहले डेविड वार्नर को स्लिप में रहाणे द्वारा कैच आउट करवाया
  2. कुलदीप ने कहा कि वह कुछ महीनों से काफी मेहनत कर रहे हैं
  3. कुलदीप ने यह भी कहा कि वह कभी नहीं डरते हैं कि बल्लेबाज छक्का मार देगा
नई दिल्‍ली: धर्मशाला के हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम पर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रहे चौथे टेस्ट के पहले दिन का खेल ख़त्म होने तक ऑस्ट्रेलिया की पहले पारी के 300 रन के जवाब में भारत बिना कोई विकेट गंवाए कोई भी रन नहीं बना पाया है. भारत की तरफ से दोनों सलामी बल्लेबाज केएल राहुल और मुरली विजय बिना खाते खोले क्रीज पर मौजूद हैं. मैच के पहले दिन दोनों टीम की तरफ से जो दो खिलाड़ी हीरो साबित हुए वो हैं कुलदीप यादव और ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीवन स्मिथ. भारत की तरफ से अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे कुलदीप यादव ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए 23 ओवरों में 68 रन देकर सबसे ज्यादा चार विकेट लिए जबकि ऑस्ट्रेलिया की तरफ से कप्तान स्टीवन स्मिथ ने लाजवाब पारी खेलते हुए अपने टेस्ट करियर का 20वां शतक पूरा किया.

दवाब में था, रात को नींद नहीं आई
भारत की तरफ से 288वें खिलाड़ी के रूप में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले कुलदीप अपने लेग स्पिन और गूगली से ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज़ों को चकमा देते नज़र आए. कुलदीप ने सबसे पहले डेविड वार्नर को स्लिप में अजिंक्य रहाणे द्वारा कैच आउट करवाया. फिर पीटर हैंड्सकॉम्ब और ग्लेन मैक्सवेल को क्लीन बोल्ड कर दिया. मैच के बाद कपिल देव, वीवीएस लक्ष्मण और जतिन सप्रू से बात करते हुए कुलदीप यादव ने बताया है कि मैच से पहले वह काफी दवाब में थे. उन्हें रात को पता चल गया था कि उन्हें मौका मिलने वाला है और यह बात कोच अनिल कुंबले ने उन्हें बताई थी. कुलदीप ने बताया कि रात भर उन्हें नींद नहीं आई और रात को तीन बजे वह उठ गए थे.

डेविड वार्नर को आउट करना काफी भावनात्मक क्षण था
कुलदीप ने कहा कि वह पहली गेंद सही जगह पर डालना चाहते थे क्योंकि उन्हें पता था कि अगर पहली गेंद सही निकल गई तो उनका आत्मविश्वास बढ़ जायेगा. कुलदीप ने कहा कि वह कुछ महीनों से काफी मेहनत कर रहे हैं और रणजी ट्रॉफी और एकदिवसीय मैच खेलने की वजह से उनका आत्मविश्वास बढ़ गया है, उनको यह अनुभव मिल गया है कि बड़े खिलाड़ियों के खिलाफ कैसे गेंदबाज़ी की जाए. कुलदीप ने कहा कि उन्होने हैंड्सकॉम्ब का विकेट प्लान के साथ चकमा देकर लिया और पहले विकेट के रूप में डेविड वार्नर को आउट करना उनके लिए काफी भावनात्मक क्षण था. कुलदीप ने कहा कि उनका यह सपना था कि वह टेस्ट मैच खेलें और विकेट लें. यादव ने कहा कि पहला विकेट लेने से पहले वह बहुत नर्वस थे, उन्हें पता था कि डेविड वार्नर बैक फुट पर खेलेंगे इसलिए उन्‍होंने फ्लिपर फेंका और डेविड वार्नर ने बैक फुट पर जाकर खेला लेकिन गेंद स्लिप में चली गई और रहाणे ने कैच पकड़ने में कोई गलती नहीं की.

मार खाने से नहीं डरता हूं
कुलदीप यादव ने कहा कि अगर एक स्पिनर मार नहीं खायेगा तो वह स्पिनर नहीं है. कुलदीप ने कहा, 'मेरे कोच ने यही बोला है कि छक्के खाना सीखो तब जाकर गेंदबाज़ बनोगे. हो सकता है कि उनके बोलने का तरीका सही नहीं है. उनके कहने का मतलब यह है कि बॉल को ज्यादा फ्लाइट करो, बॉल में स्पिन जीतना ज्‍यादा रहेगा विकेट लेने का चांस उतना बढ़ जाता है.' कुलदीप ने यह भी कहा कि वह कभी नहीं डरते हैं कि बल्लेबाज छक्का मार देगा. इसलिए वह हमेशा अटैकिंग गेंदबाज़ी करते हैं.

शेन वार्न हैं कुलदीप के रोल मॉडल
कुलदीप ने कहा कि शेन वार्न को वह अपना रोल मॉडल मानते हैं. उन्‍होंने कहा, 'मैंने शेन वार्न की गेंदबाज़ी के वीडियो देखकर गेंदबाज़ी करना शुरू किया और उन्हीं की तरह बनने की हमेशा कोशिश की है.' कुलदीप ने कहा कि कुछ दिन पहले जब वह शेन वार्न से मिले थे तो उनसे फ्लिपर के बारे में सलाह ली थी. उन्‍होंने ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज़ ब्रैड हॉग से कभी कुछ गुर सीखे हैं. आपको बता दें कि कुलदीप और हॉग आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स की तरफ से खेल चुके हैं.

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीवन स्मिथ ने कायम किया एक नया रिकॉर्ड
धर्मशाला टेस्‍ट में शतक के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया की तरफ से कप्तान के रूप में भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा औसत से रन बनाने के मामले में (कम से कम 1000 रन) स्मिथ पहले स्थान पर पहुंच गए हैं. स्मिथ 86.41 की औसत से 1037 रन बनाकर पहले स्थान पर हैं. जबकि 80.53 के औसत से 1047 रन के साथ माइकल क्लार्क दूसरे स्थान पर हैं. ऑस्ट्रेलिया की तरफ से कप्तान स्मिथ ने 173 गेंदों का सामना करते हुए 14 चौके की मदद से सबसे ज्यादा 111 बनाए. मैथ्यू वेड ने भी 57 रनों की पारी खेली.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement