NDTV Khabar

संदिग्‍ध एक्‍शन के कारण आईसीसी के निशाने पर आए मो. हफीज को वसीम अकरम ने दी यह सलाह

संदिग्‍ध गेंदबाजी एक्‍शन के कारण बार-बार आईसीसी के ''रडार'' में आ रहे पाकिस्‍तान के मोहम्‍मद हफीज को पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने सिर्फ बल्‍लेबाजी पर ध्‍यान केंद्रित करने की सलाह दी है.

137 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
संदिग्‍ध एक्‍शन के कारण आईसीसी के निशाने पर आए मो. हफीज को वसीम अकरम ने दी यह सलाह

अकरम का मानना है कि हफीज को केवल बैटिंग पर ध्‍यान केंद्रित करना चाहिए (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कहा, गेंदबाजी छोड़कर बैटिंग पर ध्‍यान केंद्रित करिए
  2. तीसरी बार हफीज के एक्‍शन को अवैध पाया गया है
  3. आईसीसी ने उन्‍हें बॉलिंग से कर दिया है निलंबित
कराची: संदिग्‍ध गेंदबाजी एक्‍शन के कारण बार-बार आईसीसी के ''रडार'' में आ रहे पाकिस्‍तान के मोहम्‍मद हफीज को पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने सिर्फ बल्‍लेबाजी पर ध्‍यान केंद्रित करने की सलाह दी है. वसीम अकरम ने कहा है कि अपने क्रिकेट करियर को लंबा खींचने के लिए हफीज को गेंदबाजी को छोड़कर बल्लेबाजी पर ध्‍यान देना चाहिए. पाकिस्‍तान ही नहीं दुनिया के महान तेज गेंदबाजों में से एक अकरम ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘मुझे लगता है कि अब हफीज को गेंदबाजी छोड़ देनी चाहिए. उन्‍हें सिर्फ बल्लेबाजी पर ध्यान लगाना चाहिए. अपनी बल्लेबाजी पर और कड़ी मेहनत करनी चाहिए.’ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने पिछले महीने तीसरी बार हफीज के गेंदबाजी एक्शन को अवैध पाया था और गुरुवार को उन्हें बायोमैकेनिक्स परीक्षण पास करने तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी से निलंबित कर दिया गया.पाकिस्तान का यह आलराउंडर इंग्लैंड में गेंदबाजी आकलन परीक्षण में विफल रहा था जिसके बाद आईसीसी ने उन्हें गेंदबाजी से निलंबित करने का फैसला किया.

वीडियो: गावस्‍कर ने इस अंदाज में की विराट कोहली की तारीफ
अकरम ने कहा कि आईसीसी मैच अधिकारियों के हफीज की शिकायत करने और इस आलराउंडर के गेंदबाजी परीक्षण में विफल होने से पहले ही उन्हें अपनी गेंदबाजी को लेकर फैसला करना चाहिए था. अकरम ने कहा, ‘मुझे लगता है कि हफीज ने यह महसूस नहीं किया कि वह काफी गेंदबाजी कर रहा है और जब वह काफी गेंदबाजी करता है तो थक जाता है जो स्वाभाविक है और मुझे लगता है कि तभी उसकी कोहनी 15 डिग्री से अधिक मुड़ती है जो आईसीसी की स्वीकृत सीमा है.’ (इनपुट: एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement