NDTV Khabar

मो. अजहरुद्दीन ने विराट कोहली के बारे में सौरव गांगुली के बयान पर कहा, ...लेकिन वह इसी तरह खेलता है!

103 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मो. अजहरुद्दीन ने विराट कोहली के बारे में सौरव गांगुली के बयान पर कहा, ...लेकिन वह इसी तरह खेलता है!

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में विराट कोहली का बल्ला बिल्कुल खामोश रहा (फाइल फोटो)

मुंबई: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान चोटिल हो जाने के कारण अब आईपीएल के शुरुआती दौर से बाहर हो गए हैं. वैसे साल 2016 में रनों का अंबार लगा चुके विराट का बल्ला ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में नहीं बोला और इसके लिए उनका आलोचना भी हुई. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भी विराट कोहली के प्रदर्शन के कारणों का सांकेतिक रूप से इशारा किया था. उनके अनुसार कहीं न कहीं विराट कोहली का ध्यान उनकी बल्लेबाजी से हट गया है. अब पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने कहा है कि वह सौरव की बात से सहमत तो हैं, लेकिन कहा कि विराट के खेलने के अंदाज पर भी हमें ध्यान देने की जरूरत है.

यह पूर्व कलात्मक बल्लेबाज क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया में पहले ‘राजसिंह डूंगरपुर मेमोरियल स्प्रिट आफ क्रिकेट लेक्चर’ में पूर्व टेस्ट खिलाड़ी यजुवेंद्र सिंह को सुनने के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे. अजहर ने पूर्व बीसीसीआई और सीसीआई अध्यक्ष राजसिंह को बेजोड़ इंसान और अपने लिये पिता जैसा करार दिया. अजहर को तभी भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया जब राजसिंह भारतीय चयनसमिति के अध्यक्ष थे. अजहर ने चोटिल भारतीय खिलाड़ियों के आईपीएल दस से हटने के फैसले को सही करार दिया.

उन्होंने कहा, ‘अगर वे फिट नहीं हैं तो फिर उन्हें खेलने की जरूरत नहीं है. हर किसी को अपना फिटनेस स्तर पता होना चाहिए.’ उन्होंने इसके साथ ही सौरव गांगुली के इस बयान का समर्थन किया जिसमें उन्होंने कहा था कि वर्तमान कप्तान विराट कोहली का मैदान पर भावनाएं व्यक्त करने से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हाल में समाप्त हुई सीरीज में उनकी बल्लेबाजी प्रभावित हुई.

अजहर ने कहा, ‘मैं इससे (गांगुली के बयान से) सहमत हूं लेकिन वह इसी तरह से खेलता है.’

गांगुली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की वेबसाइट पर लिखा था, ‘ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शायद वह (कोहली) जीत के लिए इतना बेताब था कि उस पर भावनाएं हावी हो गईं और इससे उसकी बल्लेबाजी प्रभावित हुई. इससे विराट को सीख मिलेगी. वह असाधारण प्रतिभा का धनी है. उम्मीद है कि शांतचित रहेगा और फिर से बड़ी पारियां खेलेगा.’

अजहर ने यह भी कहा कि आईपीएल फ्रेंचाइजी का हिस्सा नहीं होने के कारण भारत के शीर्ष बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा को काउंटी क्रिकेट में खेलना चाहिए क्योंकि इससे उन्हें भविष्य के विदेशी दौरों में उछाल और मूव करने वाली गेंदों को खेलने में मदद मिलेगी. अजहर ने कहा, ‘मैं चाहूंगा कि जो खिलाड़ी, विशेषकर पुजारा, आईपीएल में नहीं खेल रहे हैं उन्हें इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट खेलनी चाहिए. पुजारा को विशेषकर अप्रैल और मई में भिन्न तरह के विकेटों पर खेलने का मौका मिलेगा जिससे उन्हें अच्छा अनुभव हासिल होगा. ’ उन्होंने कहा, ‘इसका उन्हें तब फायदा मिलेगा जब वह इंग्लैंड या अन्य देशों के दौरे पर जाएंगे जहां गेंद मूव करती है और उसमें उछाल होती है.’

हैदराबाद क्रिकेट के संघ के आज हुए चुनावों के बारे में अजहर ने कहा कि चुनाव न्यायमूर्ति लोढा पैनल की सिफारिशों के अनुसार नहीं कराए गए. अजहर ने कहा, ‘यह बेहद निराशाजनक है हालांकि मैं अदालत के फैसले का पूरा सम्मान करता हूं. लेकिन मेरी निजी राय है कि जब चुनाव कराए गए तब लोढा पैनल की सिफारिशों का अनुसरण नहीं किया गया.’ अजहर ने भी अध्यक्ष पद के लिये नामांकन भरा था लेकिन चुनाव अधिकारी के राजीव रेड्डी ने उसे नामंजूर कर दिया था.
(इनपुट भाषा से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement